लाइव टीवी

चीन में कोरोना वायरस से 426 की मौत, वुहान से लौट रहे स्वस्थ लोगों के साथ हो रहा ऐसा सलूक

News18Hindi
Updated: February 4, 2020, 11:19 PM IST
चीन में कोरोना वायरस से 426 की मौत, वुहान से लौट रहे स्वस्थ लोगों के साथ हो रहा ऐसा सलूक
कोरोना वायरस फैलने के बाद चीनी अधिकारियों की चुप्पी को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. (Photo-AP)

चीन (China) के वुहान (Wuhan) में तरह तरह की अफवाहें फैल रही हैं जिनके चलते लोगों में दहशत का माहौल है. लोग एक दूसरे को शक की निगाह से देख रहे हैं कि कहीं उनके पास से गुजर रहे व्यक्ति को कोरोना वायरस (Corona Virus) तो नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2020, 11:19 PM IST
  • Share this:
बीजिंग. चीन (China) से दुनिया भर में फैल रहे कोरोनावायरस (Corona Virus) से हाहाकार मचा हुआ है. चीन में जहां इससे मरने वालों का आंकड़ा 426 पहुंच गया है तो वहीं 20,000 से ज्यादा लोग पॉजिटिव पाए गए हैं. चीन में तो अब ऐसे हालात बन गए हैं कि लोग एक दूसरे की जान के दुश्मन बन रहे हैं. एक युवक को आईकार्ड दिखाने के बावजूद भी किसी भी होटल में जगह नहीं मिली. एक युवक को उसके गांव वालों ने बाहर निकाल दिया तो वहीं एक को जानकारी मिली कि उसकी काफी पर्सनल जानकारी ऑनलाइन लीक हो गई हैं.

चीन के वुहान (Wuhan) में तरह तरह की अफवाहें फैल रही हैं जिनके चलते लोगों में दहशत का माहौल है. लोग एक दूसरे को शक की निगाह से देख रहे हैं कि कहीं उनके पास से गुजर रहे व्यक्ति को कोरोना वायरस तो नहीं है.

वुहान से लौटे लोगों के साथ हो रहा ऐसा
पूरे चीन में सर्विलांस का सिस्टम काफी मजबूत है और वहां काफी अच्छी क्वालिटी के कैमरों की मदद से 1.4 बिलियन लोगों को ट्रैक करने के लिए फेस रिकॉग्निशन किया जाता है. हाल ही में वुहान में पढ़ रहा एक युवक अपने घर लिन्हई शिनजियांग गया उसे ढूंढने में प्रशासन को करीब 5 दिन का समय लगा. युवक ने बताया कि जब प्रशासन ने उससे उसकी व्यक्तिगत जानकारी मसलन नाम, पता, फोन नंबर, आईकार्ड नंबर और वुहान से लौटने की तारीख मांगी तभी से वह अकेले रह रहा है. इसके बाद एक लिस्ट ऑनलाइन जारी हो गई जिसमें उन लोगों के नाम थे जो वुहान से लिन्हई पहुंचे हैं.



स्थानीय प्रशासन ने किसी तरह की कोई सफाई नहीं मांगी लेकिन वुहान से लौटने वाले लोगों के घर के बाहर लिख दिया कि वुहान से लौटने वाले लोग यहां रहते हैं. यही नहीं यह भी लिखा गया कि अगर घर से कोई भी बाहर निकलता है तो इसकी सूचना हॉटलाइन पर दें.

अधिकारियों की चुप्पी पर उठ रहे सवाल
वहीं चीनी अधिकारियों की चुप्पी को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. बताया जा रहा है कि वुहान के एक डॉक्टर ने पिछले साल दिसंबर में ही जानलेवा वायरस के पहले मामले से उन्हें अवगत कराया था. चीन ने वायरस का प्रसार रोकने के प्रयासों के तहत सोमवार को 1000 बिस्तरों वाला एक अस्थायी अस्पताल वुहान में खोला. इस अस्पताल को रिकार्ड नौ दिन में तैयार कर लिया गया. वुहान में ही सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं.

बुधवार को 1300 बिस्तरों वाला एक और अस्पताल तैयार हो जाएगा. इस दोनों अस्पताल को सेना के सैकड़ों चिकित्सा कर्मी चलाएंगे. चीन में घातक कोरोना वायरस से संक्रमित 64 और लोगों की सोमवार को मौत हो जाने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 426 हो गई और इसके 20,522 मामलों की पुष्टि हुई है.

दो हजार से ज्यादा लोगों की हालत गंभीर
चीन राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि सोमवार को जिन 64 लोगों की मौत हुई वे सभी हुबेई प्रांत से थे. आयोग ने बताया कि 3,235 नए मामलों की भी पुष्टि हुई है. नए 5,072 संभावित मामले सामने आए हैं. 492 मरीज गंभीर रूप से बीमार हैं.

आयोग ने बताया कि 2,788 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है और 23,214 लोगों के वायरस से संक्रमित होने की आशंका है. चीन में सोमवार तक इसके कुल 20,438 मामले सामने आए थे और मृतक संख्या 425 पर पहुंच गई थी.

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयांग ने मीडिया को बताया कि संक्रमण की चपेट में 16 विदेशी आए हैं. हालांकि उन्होंने ये बताने से इनकार कर दिया कि संक्रमित विदेशी किस देश के नागरिक हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक संक्रमित विदेशियों में चार पाकिस्तानी और दो ऑस्ट्रेलियाई नागरिक हैं. सैकड़ों पाकिस्तानी अपनी सरकार से उन्हें वहां से ले जाने का अनुरोध कर रहे हैं.

(भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-
कोरोना वायरस: निगरानी के लिए घर में बंद 2 स्टूडेंट बिना बताए खाड़ी देश भागे

कोरोना वायरस: चीन ने बस 8 दिन में तैयार किया 1000 बेड का अस्पताल, देखें वीडियो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 11:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर