होम /न्यूज /दुनिया /समंदर में चीन का बड़ा रिकॉर्ड, डायमेंटिना ट्रेंच में सबसे गहराई तक पहुंचा... क्या समुद्री खजाने पर है ड्रैगन की नजर?

समंदर में चीन का बड़ा रिकॉर्ड, डायमेंटिना ट्रेंच में सबसे गहराई तक पहुंचा... क्या समुद्री खजाने पर है ड्रैगन की नजर?

चीन ने समुद्र में सबसे गहराई तक पहुंचने का विश्व रिकॉर्ड बनाया. (सांकेतिक फोटो)

चीन ने समुद्र में सबसे गहराई तक पहुंचने का विश्व रिकॉर्ड बनाया. (सांकेतिक फोटो)

China Diamantina Trench: चीन (China) ने समुद्र (Sea) में विश्व रिकॉर्ड बना दिया है. समंदर में अपनी बादशाहत कायम करने की ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

चीन ने समंदर में किया बड़ा कारनामा
सबसे गहरे पॉइंट तक पहुंचने वाला देश बना
डायमेंटिना ट्रेंच में खजाने पर है उसकी नजर

China Diamantina Trench: चीन (China) लगातार समुद्र में अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश में रहता है. इसी कड़ी में अब चीन (China) ने इतिहास रच दिया है. समुद्र में चीन ने वो कर दिखाया जिसे आज तक कोई भी देश नहीं कर पाया है. चीन ने समुद्र में सबसे गहराई तक पहुंचने का रिकॉर्ड कायम कर दिया है. चीन ने दक्षिण-पूर्वी हिंद महासागर (South-Eastern Indian Ocean) में डायमेंटिना ट्रेंच (Diamantina Trench) में 10 हजार मीटर की गहराई तक पहुंचने का रिकॉर्ड बना दिया है. आज तक कोई भी देश इतनी गहराई में नहीं पहुंच पाया है.

ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार यह मानव इतिहास में पहली बार है जब एक पनडुब्बी समुद्र के सबसे गहरे बिंदु तक पहुंच गई है. इससे ट्रेंच प्रणाली की वैज्ञानिक जांच में तेजी आई है और वैश्विक रसातल विज्ञान (Abyssal Science) के विकास के लिए यह सफलता बहुत अहम है. आपको बता दें कि 22 जनवरी 2023 तक, चीन की फेंडोजे मानव पनडुब्बी ने 159 डाइव पूरी कर ली. इसमें 25 डाइव 10 हजार मीटर की गहराई पर थीं. डायमेंटिना ट्रेंच के तल पर चीन को बड़ी संख्या में लोहे और मैंगनीज के नोड्यूल्स मिले. हालांकि चीन ने खजानों को लेकर अभी को विशेष जानकारी नहीं दी. लेकिन अब ये कयास जरूर लगाए जाएंगे कि चीन की नजर अब समुद्री खजाने पर है.

नौसेना में शामिल हो गई सबमरीन INS Vagir, माना जाता है इसे ‘साइलेंट किलर’? जानें ताकत और खासियत

" isDesktop="true" id="5269977" >

अक्टूबर में किया था मिशन का आगाज
चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंसेज (CAS) के तहत डीप सी साइंस एंड इंजीनियरिंग संस्थान द्वारा 6 अक्टूबर 2022 को इस मिशन की शुरुआत की गई थी. इस अभियान में शंघाई जियाओतोंग विश्वविद्यालय और टोंगजी विश्वविद्यालय सहित चीन के टॉप यूनिवर्सिटी के 56 सदस्य शामिल थे. यह अभियान दल 6 अक्टूबर को दक्षिण चीन के सान्या शहर से रवाना हुआ.

Tags: China news, Indian Ocean, World news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें