होम /न्यूज /दुनिया /'चीन को लेकर अमेरिका की सोच ज्यादा खराब हुई', विदेश मंत्री वांग यी ने कहा- किसी दबाव के आगे नहीं झुकेंगे

'चीन को लेकर अमेरिका की सोच ज्यादा खराब हुई', विदेश मंत्री वांग यी ने कहा- किसी दबाव के आगे नहीं झुकेंगे

अमेरिका के दबाव के आगे नहीं झुकेंगे- चीन (फाइल फोटो)

अमेरिका के दबाव के आगे नहीं झुकेंगे- चीन (फाइल फोटो)

China slams America: अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन की टिप्पणी को लेकर चीन के विदेश मंत्री ने वांग यी ने कहा कि, ...अधिक पढ़ें

बीजिंग: चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने रविवार को कहा कि चीन के संबंध में अमेरिका का दृष्टिकोण कुछ ज्यादा ही विकृत हो गया है लेकिन बीजिंग ‘‘ब्लैकमेल या दबाव’’ के आगे नहीं झुकेगा. अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने हाल ही में चीन को ‘‘अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के लिए दीर्घावधि में सबसे गंभीर चुनौती करार दिया था.’’

अमेरिका के जॉर्ज वाशिंगटन विश्वविद्यालय में ब्लिंकन ने गुरुवार को अपने संबोधन में कहा था कि चीन एकमात्र ऐसा देश है जिसकी मंशा अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था में बदलाव लाने की है और उसके पास ऐसा करने के लिए आर्थिक, कूटनीतिक, सैन्य और तकनीकी ताकत भी है.

उन्होंने चीन को ‘‘दीर्घावधि में अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था और अमेरिका के लिए सबसे गंभीर चुनौती’’ बताया था. उन्होंने कहा था कि चीन निवेश, गठबंधन और प्रतिस्पर्धा की रणनीति के माध्यम से प्रतिस्पर्धा को गंभीर बना रहा है, लेकिन उसे किसी प्रकार के संघर्ष/तनाव से बचना होगा वरना कम्युनिस्ट देश के लिए नया शीत युद्ध शुरू हो जाएगा.

यह भी पढ़ें: लंबे समय में चीन को रूस से बड़ा खतरा क्यों बता रहे हैं अमेरिकी विदेशमंत्री

चीन के विदेश मंत्री ने पलटवार करते हुए ब्लिंकन के विश्लेषण को अमेरिका द्वारा छवि खराब करने का अभियान करार दिया.

" isDesktop="true" id="4286399" >

फिलहाल प्रशांत देशों की यात्रा कर रहे वांग यी ने कहा कि ब्लिंकन का भाषण चीन के लिए अमेरिका की रणनीति को दिखाता है और इससे पता चलता है कि अमेरिका का दृष्टिकोण ‘‘बेहद विकृत’’ हो गया है.

दरअसल अमेरिका चीन के रोकने के लिए बहुत सारे उपायों का इस्तेमाल करना चाहता है जिसमें उसके सहयोगियों के अलावा बहुत सारे सैन्य और अन्य संसाधन शामिल हैं. अमेरिकी अधिकारी मानते हैं कि चीन के लक्ष्यों को बदलने या प्रभावित करने  के लिए ज्यादा कुछ नहीं किया जा सकता है, लेकिन अमेरिका की दिलचस्पी चीन के आसपास ऐसे रणनीतिक माहौल बनानी की है जिनको लेकर बीजिंग के नेताओं को निर्णय लेना ही होगा.

Tags: China, Joe Biden, United States, Xi jinping

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें