लाइव टीवी

हड्डियां कमजोर होने से लड़की की 10 पसलियां टूटीं, क्या सनस्क्रीन लोशन थी वजह?

News18Hindi
Updated: November 22, 2019, 6:16 PM IST
हड्डियां कमजोर होने से लड़की की 10 पसलियां टूटीं, क्या सनस्क्रीन लोशन थी वजह?
जरूरत से ज्यादा सनस्क्रीन लगाने से लड़की की हड्डियां हुईं कमजोर, 10 पसलियां टूटीं

सनस्क्रीन लोशन (Sunscreen Lotion) का ज्यादा इस्तेमाल करने से चीन की 20 साल की जियाओ माओ को विटामिन डी (Vitamin D) नहीं मिल पाया. ऐसे में उसकी हड्डियां (bones) कमजोर हो गईं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2019, 6:16 PM IST
  • Share this:
झेजियांग. धूप में निकलने से पहले ज्यादातर लड़कियां सनस्क्रीन लगाती हैं, लेकिन एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें दावा किया जा रहा है कि इसके ज्यादा इस्तेमाल से शरीर की हड्डियां भी कमज़ोर हो सकती हैं. चीन (China) के झेजियांग प्रांत में रहने वाली 20 साल की जियाओ माओ की 10 पसलियां टूट गयीं जिसके बाद इस तरह के दावे किए जा रहे हैं कि ऐसा ज्यादा सनस्क्रीन लोशन (Sunscreen Lotion) के इस्तेमाल से हुआ है.

माओ के मुताबिक उसकी 10 पसलियां टूट चुकी हैं. हालांकि अभी तक डॉक्टरों ने इस दावे को पूरी तरह से सही नहीं बताया है. डॉक्टरों के मुताबिक सनस्क्रीन लोशन का ज्यादा इस्तेमाल इसकी एक वजह हो सकती है लेकिन इसके लिए पूरी तरह जिम्मेदार है इसके प्रमाण नहीं मिले हैं. डॉक्टर मान रहे हैं कि सनस्क्रीन लोशन का ज्यादा इस्तेमाल करने से माओ को विटामिन डी (Vitamin D) नहीं मिल पाया होगा और उसकी हड्डियां कमजोर हो गईं.

एशिया वन में प्रकाशित खबर के मुताबिक जियाओ माओ को कुछ दिन पहले खांसी आ रही थी. शुरुआती इलाज में डॉक्टरों को लगा कि यह अस्थमा जैसी कोई समस्या है. कुछ दिन बाद उसे सीने के बाईं ओर दर्द होने लगा. बाद में जब डॉक्टरों ने माओ का एक्सरे कराया, तो पता चला कि उसकी 10 पसलियां टूटी हुई हैं. अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी है कि पसली कैसे टूटी हैं. डॉक्टरों ने जांच में पाया है कि माओ की हड्डियां अन्य चीनी महिलाओं से काफी कमजोर हैं. इसी के साथ माओ के शरीर में विटामिन डी की कमी थी. ब्लड कैल्शियम और ब्लड फॉस्फोरस लेवल भी काफी कम हो चुका था. इन सब वजह से उनकी हडि्डयां कमजोर हो गईं और पसलियां टूट गई थीं.

इसे भी पढ़ें :- अमेरिका जाने वाले छात्रों में चीन के बाद सर्वाधिक संख्या भारतीयों की: रिपोर्ट

माओ ने डॉक्टरों को बताया कि वह पूरे दिन जब कभी भी घर से बाहर निकलती है, तो पूरे शरीर में सनस्क्रीन लोशन का इस्तेमाल करती है. डॉक्टरों ने बताया कि माओ की उम्र में अगर हफ्ते में तीन दिन 20 मिनट के लिए धूप के सामने रहा जाए, तो भी विटामिन डी की कमी नहीं रहती. डॉक्टरों को लगता है कि हद से ज्यादा सनस्क्रीन लगाने से माओ के शरीर के अंदर विटामिन डी पहुंच ही नहीं पाई हो. वह स्किन टैन से तो बच गई लेकिन उसकी हड्डियां कमजोर हो गईं.

इसे भी पढ़ें :- चीन ने 10 लाख उइगर और अन्‍य मुस्लिमों को हिरासत में क्‍यों लिया? लीक हुए सरकारी दस्‍तावेजों से खुलासा

एसपीएफ-50 वाला सनस्क्रीन करती थी इस्तेमालमाओ ने डॉक्टरों को बताया कि स्किन टैन से बचने के लिए वह ज्यादातर घर के अंदर ही रहना पसंद करती थी और जब कभी भी उसे बाहर जाना होता था, तो वह एसपीएफ 50 वाला सनस्क्रीन का इस्तेमाल करती थी. माओ के साथ हुई इस घटना के बाद लोग सनस्क्रीन पर दो भागों में बंट गए हैं. कोई डॉक्टरों के बयान को सही मान रहा है तो कुछ का कहना है कि सनस्क्रीन के इस्तेमाल से विटामिन डी पर कोई फर्क नहीं पड़ता.

इसे भी पढ़ें :- भारत से मेहंदी, सहजन खरीदने में बढ़ी चीन की रुचि, जानें वजह...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2019, 9:02 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर