अपना शहर चुनें

States

चीन ने BRI के नक्शे में अरुणाचल और पाक अधिकृत कश्मीर को माना भारत का हिस्सा

चीन ने तीन दिवसीय बीआरआई सम्मेलन में जारी नक्शे में अरुणाचल और पीओके को भारत का हिस्सा दिखाया है.
चीन ने तीन दिवसीय बीआरआई सम्मेलन में जारी नक्शे में अरुणाचल और पीओके को भारत का हिस्सा दिखाया है.

बीजिंग में गुरुवार को शुरू हुए तीन दिवसीय BRI सम्मेलन में शिरकत कर रहे हैं 37 देश. इसी सम्मेलन में चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने जारी किया यह नक्शा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2019, 3:45 PM IST
  • Share this:
चीन ने अब तक के अपने रुख से पलटते हुए अपनी महात्वाकांक्षी परियोजना बेल्ट एंड रोड एनिशिएटव (BRI) के नक्शे में अरुणाचल प्रदेश और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) को भारत का हिस्सा माना है. गौरतलब है कि कुछ समय पहले ही चीन ने अरुणाचल प्रदेश को भारत का हिस्सा दिखाने वाले 30 हजार नक्शे नष्ट कर दिए थे.

यह नक्शा तब और चौंकाता है, जब भारत लगातार BRI सम्मेलन का विरोध कर रहा है. बीजिंग में गुरुवार को ही BRI का दूसरा सम्मेलन शुरू हुआ है, जिसमें दुनिया भर के 37 देश शिरकत कर रहे हैं. भारत ने इस बार भी सम्मेलन का बहिष्कार कर दिया है.

भारत BRI के तहत चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (CPEC) परियोजना का भारत यह कहकर विरोध करता रहा है कि यह हमारी संप्रभुता का उल्लंघन है. इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक तीन दिवसीय BRI सम्मेलन के दौरान चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने यह नक्शा जारी किया.



ये भी पढ़ें: कोलंबो आतंकी हमला: 9 पाकिस्तानी नागरिकों को गिरफ्तार किया गयादेश्
यह नक्शा इसलिए भी चौंकाने वाला है क्योंकि जब भी भारत का शीर्ष नेतृत्व अरुणाचल प्रदेश का दौरा करता है तो चीन विरोध करने लगता है. यही नहींं, अरुणाचल प्रदेश में सीमा पर अकसर भारत और चीन के सैनिकों में टकराव की स्थिति पैदा हो जाती है. इस सम्मेलन से पहले चीन ने बीआरआई को लेकर जारी नक्शे में पाक अधिकृत कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा बताया था.

चीन के रुख से विशेषज्ञ भी हैरान 

चीन के नए रुख से विशेषज्ञ हैरान हैं. वे पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि कहीं यह चीन की कोई नई चाल तो नहीं है, दरअसल, वह हर हथकंडा अपनाकर अपनी महत्वाकांक्षी परियोजना BRI में भारत को शामिल करना चहता है। कराची में नवंबर, 2018 में चीन वाणिज्य दूतावास पर हुए आतंकी हमले के बाद चीन की सरकारी मीडिया सीजीटीएन ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को पाक के नक्शे से अलग करके दिखाया था।

ये भी पढ़ें: ड्रग्स के धंधे की कमाई से पाकिस्तान ने फंड किया श्रीलंका आतंकी हमला

हमेशा पाकिस्तान का साथ देता है चीन 

चीन भारत और पाकिस्तान के मामलों में ज्यादातर पाक का ही साथ देता है. चीन पाकिस्तान से संचालित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने में हमेशा अड़ंगे डालता है. इसके अलावा उसने जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेताओं की भी मेजबानी की थी, जिस पर भारत की ओर से कड़ी आपत्ति जताई गई थी.

यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं कक्षा के नतीजे सबसे पहले देखने के लिए यहां क्लिक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज