• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • LAC पर अंडरग्राउंड ऑप्टिकल फाइबर केबल का जाल बिछा रहा चीन, बीजिंग ने दी सफाई

LAC पर अंडरग्राउंड ऑप्टिकल फाइबर केबल का जाल बिछा रहा चीन, बीजिंग ने दी सफाई

India-China Standoff: चीन ने माना गलवान घाटी में गई थी चीन के सैनिकों की भी जान.

India-China Standoff: चीन ने माना गलवान घाटी में गई थी चीन के सैनिकों की भी जान.

चीन के विदेश मंत्रालय (Foreign Ministry of China) ने मंगलवार को चीनी सैनिकों द्वारा लद्दाख फ्लैशपॉइंट पर फाइबर ऑप्टिक केबल नेटवर्क (Fibre Optical Network) लगाने की खबर पर सफाई दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    बीजिंग. चीन के विदेश मंत्रालय (Foreign Ministry of China)  ने मंगलवार को चीनी सैनिकों द्वारा लद्दाख फ्लैशपॉइंट पर फाइबर ऑप्टिक केबल नेटवर्क (Fibre Optical Network) लगाने पर सफाई दी है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन (Wang Wenbin) ने रॉयटर्स को बताया कि डिप्लोमैटिक और मिलिट्री चैनलों के माध्यम से चीन और भारत में संवाद बना रहेगा. दो भारतीय अधिकारियों ने समाचार एजेंसी रायटर्स को बताया कि चीनी सैनिक लद्दाख में पैंगोंग झील के दक्षिण में ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछा रहे हैं और साथ ही दोनों देशों के बीच गतिरोध को हल करने के लिए उच्च-स्तरीय वार्ता चल रही है.

    एक महीने पहले भी पैंगोंग झील के पास मिली थी केबल
    भारतीय खुफिया एजेंसियों ने लगभग एक महीने पहले पैंगोंग त्सो झील के उत्तर में इसी तरह की केबल की खोज की थी. सैटेलाइट तस्वीरों में पैंगोंग त्सो के दक्षिण में उच्च ऊंचाई वाले रेगिस्तानों की रेत में असामान्य लाइन्स दिखाई देने के बाद अधिकारियों को इस दिशा में सतर्क किया. इन लाइनों को भारतीय विशेषज्ञों द्वारा पहचान लिया गया और विदेशी खुफिया एजेंसियों ने भी खाइयों में रखी कम्युनिकेशन केबल्स की पुष्टि की. हिलटॉप्स के बीच स्पैंग्गर खाई के पास भी यह लाइन्स दिखाई दी, जहां सैनिकों ने हाल ही में दशकों बाद पहली बार हवा में गोलीबारी की.

    दोनों पक्षों के सैनिकों की वापसी या तैनाती नहीं हुई है
    एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के हवाले से कहा गया कि इस तरह की केबल इस क्षेत्र के सैन्य ठिकानों पर सैनिकों को संचार की सुरक्षित लाइनें उपलब्ध कराएंगीं. एक अन्य अधिकारी ने कहा कि पिछले हफ्ते दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की मुलाक़ात के बाद दोनों पक्षों में सैनिकों की किसी तरह की वापसी या तैनाती नहीं हुई है.

    ये भी पढ़ें: पुतिन के विरोधी नवेलनी ने अस्पताल से पहली फोटो जारी की, कहा- अब सांस ले पा रहा हूं 

    फोटोग्राफर पत्नी ने पति की फोटो फेसबुक पर पोस्ट की, 3.26 लाख लोगों ने किया शेयर

    पहले अधिकारी ने झील के दक्षिणी किनारे का जिक्र करते हुए कहा कि हमारी सबसे बड़ी चिंता यह है कि चीन ने हाई स्पीड कम्युनिकेशन के लिए ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछाए हैं. झील के दक्षिणी किनारे पर कुछ बिंदुओं पर भारतीय और चीनी सेना केवल कुछ सौ मीटर की दूरी पर हैं और वहां चीन अंधाधुंध तरीके से दक्षिणी किनारे पर ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछा रहा है. भारतीय और चीनी सेना कुछ बिंदुओं के अलावा केवल कुछ सौ मीटर की दूरी पर हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज