चीन ने H-6 बमवर्षक विमान का वीडियो जारी कर अमेरिका को चेताया, कहा- उड़ा देंगे

चीन ने अमेरिका को धमकाने के लिए एक वीडियो जारी किया है.
चीन ने अमेरिका को धमकाने के लिए एक वीडियो जारी किया है.

चीन की वायु सेना (China Air Force) ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें परमाणु-सक्षम एच-6 बमवर्षक (H-6 Bomber Aircraft) द्वारा एक नकली हमले को अंजाम दिया गया है. यह चेतावनी दी है कि अगर अमेरिका नहीं संभलता है तो उसे उड़ा देगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 7:45 PM IST
  • Share this:
बीजिंग. चीन की वायु सेना (China Air Force) ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें परमाणु-सक्षम एच-6 बमवर्षक (H-6 Bomber Aircraft) द्वारा एक नकली हमले को अंजाम दिया गया है. यह जगह गुआम के अमेरिकी पैसिफिक आइलैंड के एंडरसन एयर फोर्स बेस जैसी दिखाई दे रही है. यह वीडियो पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (Peoples Liberation Army) एयरफोर्स वीबो अकाउंट से शनिवार को जारी किया गया है. यह वीडियो ताइवान के निकट चीन द्वारा किये जा रहे सैन्य ड्रिल के दूसरे दिन जारी हुआ है. इस वीडियो के माध्यम से चीन ने ताइवान की राजधानी ताइपे में अमेरिकी विदेश मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी की यात्रा पर रोष व्यक्त किया है.

अमेरिकी वायु सेना का हवाई अड्डा है गुआम
गुआम अपने हवाई अड्डे सहित प्रमुख अमेरिकी सैन्य सुविधाओं का घर है, जो अमेरिका के लिए एशिया-प्रशांत क्षेत्र में किसी भी तरह के संघर्ष का जवाब देने के लिए महत्वपूर्ण स्थान है. गुआम पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में माइक्रोनेशिया में एक अमेरिकी द्वीप क्षेत्र है. यह उष्णकटिबंधीय समुद्र तटों, चमोरो गांवों और प्राचीन लाट्टे-पत्थर के स्तंभों के लिए प्रसिद्द है. चीनी वायु सेना द्वारा जारी यह वीडियो दो मिनट और 15 सेकंड का है जिसमें किसी हॉलीवुड फिल्म के ट्रेलर की तरह नाटकीय संगीत बजता है.

रेगिस्तानी बेस से H-6 बमवर्षकों को उड़ता हुआ दिखाया गया है
इस वीडियो में H-6 बमवर्षकों को एक रेगिस्तानी बेस से उड़ते हुए दिखाया गया है. वीडियो में कहा गया है "युद्ध का देवता एच-6 K हमले पर जा रहा है.'' वीडियो में एक पायलट आधे रास्ते में एक बटन दबाता है और एक अज्ञात समुद्र तटीय रनवे पर एक मिसाइल गिरा देता है. मिसाइल रनवे पर ठीक निशाने पर जाकर लगती है. वीडियो में रनवे का जो सैटेलाइट चित्र दिखाया गया है वह हूबहू एंडरसन के लेआउट जैसा दिखता है. धमाके के हवाई दृश्यों को दिखाने के बाद जमीन हिलती हुई दिखाई देती है. वायु सेना ने वीडियो के लिए एक संक्षिप्त विवरण में लिखा है कि हम अपनी मातृभूमि की हवाई सुरक्षा के रक्षक हैं. हमारे पास मातृभूमि के आसमान की सुरक्षा का बचाव करने के लिए आत्मविश्वास और क्षमता है. इस वीडियो पर टिप्पणी करने के लिए न तो चीन के रक्षा मंत्रालय और न ही अमेरिकी इंडो-पैसिफिक कमांड ने कोई जवाब दिया.



ये भी पढ़ें: थाईलैंड में राजशाही खत्म करने की मांग, कहा- नया संविधान बने, लोकतंत्र बहाल हो 

सिख युवती के अपहरण और धर्मांतरण पर दिल्ली में प्रदर्शन, कहा-पाक में औरंगजेब का राज है

बिजली प्रक्षेपण में चीन की बढ़ती प्रगति ( long-range power projection) पर सिंगापुर के इंस्टीट्यूट ऑफ डिफेंस एंड स्ट्रैटेजिक स्टडीज के एक रिसर्च फेलो कोलिन कोह ने कहा कि चीन का इस वीडियो को बनाने का उद्देश्य लंबी दूरी के बिजली प्रक्षेपण में अपनी बढ़ती प्रगति को उजागर करना था. उन्होंने यह भी कहा कि यह वीडियो अमेरिकियों को चेतावनी देने के लिए बनाया गया है. चीन ने बता दिया है कि गुआम जैसे कथित रूप से सुरक्षित लगभग छुपे हुए स्थान क्षेत्रीय फ्लैशप्वाइंट पर संघर्ष होने पर खतरे में आ सकते हैं. यह जगह ताइवान या दक्षिण चीन सागर भी हो सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज