ताइवान जलडमरूमध्य से अमेरिकी युद्धपोत के गुजरने को चीन ने बताया भड़काऊ

फोटो सौ. (CNN)

फोटो सौ. (CNN)

अमेरिकी सैन्य विमान और युद्धपोत समय-समय पर ताइवान जलडमरूमध्य और विवादित दक्षिण चीन सागर के उस इलाके में नौवहन की स्वतंत्रता को दर्शाने के लिये संचालन करते रहते हैं जिसपर चीन अपने क्षेत्र के तौर पर दावा करता है.

  • Share this:

बीजिंग. अमेरिका के “स्वतंत्र व खुले हिंद-प्रशांत” की प्रतिबद्धता के प्रदर्शन के तौर पर एक अमेरिकी युद्धपोत के ताइवान जलडमरूमध्य (स्ट्रेट) से होकर गुजरने की घटना को लेकर चीन ने बुधवार को इसे भड़काऊ कदम बताते हुए इसे क्षेत्र की शांति व स्थिरता की अनदेखी करने वाला करार दिया.

अमेरिकी नौसेना के सातवें बेड़े ने कहा कि निर्देशित प्रक्षेपास्त्र विध्वंसक यूएसएस कर्टिस विल्बर ने अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक मंगलवार को “ताइवान जलडमरूमध्य से नियमित पारगमन” किया.

ताइवान जलडमरूमध्य 180 किलोमीटर चौड़ी नहर है जो चीन और ताइवान को अलग करती है, जिसे चीन अपने मुख्य भूभाग का हिस्सा बताता है.

नौसेना ने एक बयान में कहा, “ताइवान जलडमरूमध्य से युद्धपोत का गुजरना एक स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए अमेरिकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है.”
हांगकांग स्थित साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने अमेरिकी नौसेना के बयान का हवाला देते हुए कहा, “अमेरिकी सेना अंतरराष्ट्रीय कानून के अनुसार कहीं भी उड़ान, समुद्र में जहाज का संचालन करना जारी रखेगी.”

अमेरिकी सैन्य विमान और युद्धपोत समय-समय पर ताइवान जलडमरूमध्य और विवादित दक्षिण चीन सागर के उस इलाके में नौवहन की स्वतंत्रता को दर्शाने के लिये संचालन करते रहते हैं जिसपर चीन अपने क्षेत्र के तौर पर दावा करता है. फिलीपीन, वियतनाम, मलेशिया, वियतनाम, ब्रूनेई और ताइवान दक्षिण चीन सागर को लेकर चीन के दावों का विरोध करते हैं.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लीजियान ने बुधवार को यहां मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि जब अमेरिकी विध्वंसक ताइवान जलडमरूमध्य से गुजर रहा था तो चीनी नौसेना ने अपने पोत रवाना किये और उस पर करीबी नजर रखी.



झाओ ने कहा, “अमेरिकी पोत हाल में भड़काने और शक्ति के प्रदर्शन के लिये ताइवान जलडमरूमध्य से होकर गुजरे तथा यह कदम क्षेत्रीय स्थिति को बाधित करने व इसकी अनदेखी करने के उद्देश्य से उठाया गया जिससे इस क्षेत्र की शांति व स्थिरता को नुकसान पहुंचाया जा सके.”

उन्होंने कहा, “हम दृढ़ता से इसे खारिज करते हैं और अपनी संप्रभुता व क्षेत्रीय अखंडता की सुरक्षा के लिए दृढ़प्रतिज्ञ हैं. हम अमेरिका से क्षेत्रीय शांति व स्थिरता के लिये रचनात्मक भूमिका अदा करने का अनुरोध करते हैं.”

पूर्वी थिएटर कमांड के प्रवक्ता कर्नल झांग चुनहुई ने एक बयान में कहा कि अमेरिकी कार्रवाई ताइवान के स्वतंत्र बलों को गलत संकेत भेज रही है, जानबूझकर क्षेत्रीय स्थिति को प्रभावित कर रही है और पूरे ताइवान जलडमरूमध्य में शांति और स्थिरता को खतरे में डाल रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज