लाइव टीवी

चीन में कोराना की रफ्तार हुई जीरो, लैटिन अमेरिका में संक्रमण ने मचाई तबाही

भाषा
Updated: May 23, 2020, 9:17 PM IST
चीन में कोराना की रफ्तार हुई जीरो, लैटिन अमेरिका में संक्रमण ने मचाई तबाही
चीन में आज सामने नहीं आया कोरोना का एक भी केस (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अमेरिका (America) कोविड-19 महामारी से सर्वाधिक प्रभावित हुआ है, जहां 96,000 से अधिक लोगों की मौत हुई है संक्रमण के करीब 16 लाख मामले सामने आ चुके हैं. इसके बाद, रूस और ब्राजील का स्थान आता है.

  • Share this:
बर्लिन. चीन (China) में पहली बार शनिवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया, जबकि लैटिन अमेरिका (Latin America) के देशों में कोविड-19 के मामलों में तीव्र वृद्धि हुई है. जर्मनी में फिर से खोले गए एक गिरजाघर में और एक रेस्तरां में भी संक्रमण के मामले सामने आये हैं. कोरोना वायरस महामारी का फैलना जारी रहने के चलते सरकारों को न सिर्फ लोगों को सुरक्षित रखने के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है, बल्कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में भी कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है.

महामारी के चलते अमेरिका में सप्ताहांत में मनाये जाने वाला स्मारक दिवस बाधित हुआ है. साथ ही, दुनिया भर में मुस्लिम समुदाय द्वारा सामूहिक रूप से मनाए जाने वाले ईद के त्योहार पर भी इसका असर देखने को मिल रहा है. कमजोर स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली वाले देशों के लिए वायरस से लड़ना मुश्किल होता जा रहा है, जहां पर्याप्त स्वच्छ पेयजल नहीं है.

दुनिया भर में अब तक 3.38 लाख लोगों की मौत



तुर्की ने कड़ाई से लॉकडाउन लागू किया है जो शनिवार से शुरू हो रहा है. यमन के हूती विद्रोहियों ने रमजान के दौरान लोगों से मास्क पहनने और घरों के अंदर ही रहने का अनुरोध किया है. हालांकि, कहीं-कहीं कई सरकारें प्रतिबंधों में ढील दे रही हैं, क्योंकि महामारी के चलते वे ऐतिहासिक आर्थिक मंदी का सामना कर रही हैं. अमेरिका स्थित जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के मुताबिक कुछ महीनों में दुनियाभर में कम से कम 338,000 लोगों की कोविड-19 से मौत हो गई है, जबकि 52 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं. महामारी से निपटने के अपने तरीके को लेकर सराहना पाने वाले जर्मनी के उत्तर पश्चिम हिस्से में स्थित एक रेस्तरां में संक्रमण के सात नये मामले सामने आये हैं. देश में दो हफ्ते पहले प्रतिबंधों में छूट दिए जाने के बाद रेस्तरां खुलने के साथ यह पहला ज्ञात मामला होगा.



समाचार एजेंसी डीपीए के मुताबिक दक्षिण पश्चिम शहर फैंकफर्ट में एक नेता ने कहा कि 10 मई को गिरिजाघर की प्रार्थना सभा में शामिल होने के बाद कई लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. उनमें से छह लोग अस्पताल में भर्ती किए गये हैं. गिरिजाघर ने सभी कार्यक्रम रद्द कर दिये हैं और अब इसकी धार्मिक गतिविधियां ऑनलाइन की जा रही हैं. क्षेत्र में सशर्त धार्मिक सेवाओं की एक मई से अनुमति दी गई है.

चांसलर एंजेला मर्केल ने कहा है कि महामारी से निपटने में देश की स्वास्थ्य प्रणाली अब तक सफल रही है. उधर, पूरे लैटिन अमेरिका में कोविड-19 संक्रमण और इससे लोगों की मौत होने के आंकड़े में तीव्र वृद्धि हुई है. इस हफ्ते लगभग प्रतिदिन ब्राजील और मेक्सिको में संक्रमण के रिकार्ड संख्या में नये मामले सामने आये हैं. पेरू, चिली और इक्वाडोर मे आईसीयू में काफी संख्या में मरीजों को रखना पड़ा है. अमेरिका में कुछ क्षेत्रों में पाबंदियां तेजी से हटाई जा रही हैं.

अमेरिका में 96 हजार लोगों की मौत

अमेरिका कोविड-19 महामारी से सर्वाधिक प्रभावित हुआ है, जहां 96,000 से अधिक लोगों की मौत हुई है संक्रमण के करीब 16 लाख मामले सामने आ चुके हैं. इसके बाद, रूस और ब्राजील का स्थान आता है. चीन में पहली बार शनिवार को संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया. जापान में संक्रमण के मामले प्रतिदिन दोहरे अंक में कम हो रहे हैं और देश में क्रमिक रूप से पाबंदियां हटाई जा रही हैं. कुछ देश कोरोना वायरस संक्रमण का दूसरा दौर शुरू होने की स्थिति का सामना कर रहे हैं जबकि इससे बुरी तरह से प्रभावित रूस अब भी पहले दौर से निपटने में संघर्ष कर रहा है.

ये भी पढ़ें- 

कोरोना: ब्राजील के सबसे बड़े कब्रिस्तान में लाशें दफनाने के लिए नहीं बची जगह

कोरोना: एक लाख मौतों की तरफ US, चर्च और मस्जिदें खोलना चाहते हैं ट्रंप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 8:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading