चीन ने ऑस्ट्रेलिया को दी धमकी- अमेरिका का साथ दिया तो बहुत दर्द होगा

चीन ने ऑस्ट्रेलिया को दी धमकी- अमेरिका का साथ दिया तो बहुत दर्द होगा
शी जिनपिंग के खिलाफ जाने वाले हर आवाज को दबा दिया जाता है.

चीन (China) ने ऑस्ट्रेलिया (Australia) को धमकी दी है कि अगर उसने अमेरिका (America) का साथ दिया तो उसे ज्यादा दर्द होगा.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
बीजिंग: चीन (China) की स्टेट मीडिया ने ऑस्ट्रेलिया (Australia) को धमकी दी है कि अगर उसने ट्रेड वार में अमेरिका (America) का साथ दिया तो उसे बहुत दर्द होगा. चीन ने धमकी दी है कि अगर ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका के समर्थन में आता है तो उसे बहुत तकलीफ होगी.

अमेरिका ने शुक्रवार को ऐलान किया था कि वो 33 चीनी कंपनियों को बैन करने जा रहा है. इसके बाद चीन की स्टेट मीडिया ने इस कदम को दोनों देशों के बीच कोल्ड वार की शुरुआत बताया था.

ग्लोबल टाइम्स में लिखे एक लेख में कहा गया है कि ऑस्ट्रेलिया को भारत की तरह खामोश रहना चाहिए और दोनों देशों को नुकसान पहुंचाने से बचाने के लिए इस पूरे विवाद से दूर रहना चाहिए.



चीन की धमकी ऑस्ट्रेलिया को अमेरिका से ज्यादा दर्द होगा



लेख में कहा गया है कि चीन, अमेरिका की तुलना में ज्यादा सख्ती से ऑस्ट्रेलिया को सजा दे सकता है. क्योंकि वो ऑस्ट्रेलिया पर आर्थिक तौर पर कम निर्भर है.

अमेरिका, चीन के लिए नंबर वन एक्सपोर्ट मार्केट है, जबकि ऑस्ट्रेलिया का इस मामले में 14वां स्थान है.
लेख में लिखा गया है कि चीन को ऑस्ट्रेलिया को सबस सिखाने में ज्यादा मजा आएगा अगर केनेबर चीन अमेरिका के बीच चल रहे कोल्डवार में वाशिंगटन का समर्थन करता है.

इसका सीधा मतलब है कि ऑस्ट्रेलिया को अमेरिका से ज्यादा दर्द होगा.

कोरोना वायरस के संक्रमण के लिए चीन को जिम्मेदार ठहरा रहा है ऑस्ट्रेलिया
संपादकीय लेख में लिखा गया है कि ट्रंप प्रशासन कोरोना वायरस से निपटने में फेल रही है और इसपर से लोगों का ध्यान हटाने के लिए चीन को जिम्मेदार ठहरा रही है. अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 1 लाख के करीब पहुंच गया है.

लेख में कहा गया है कि दूसरे देशों खासकर ऑस्ट्रेलिया को इस राजनीतिक साजिश में फंसने की कोई जरूरत नहीं है.

पिछले हफ्ते ऑस्ट्रेलिया ने कोरोना वायरस के संक्रमण की अंतरराष्ट्रीय स्तर की जांच और इसके लिए चीन को जिम्मेदार ठहराने के अमेरिकी दावे का समर्थन किया था. उसके बाद से ही चीन ने ऑस्ट्रेलिया पर हमले करना शुरू कर दिया है.

लेख में लिखा गया है कि ऑस्ट्रेलिया सिर्फ अमेरिकी हितों के समर्थन में उनके गोद में बैठ सकता है. पिछले महीने बीजिंग में इस बात को लेकर गुस्सा था कि ऑस्ट्रेलिया ने चीन को गलत तरीके से कोरोना फैलने के लिए जिम्मेदार बताने की साजिश में लगा है.

ये भी पढ़ें:

लॉकडाउन के दौरान भी शाही शौक पूरे कर रही हैं महारानी, 22 सेवादारों की फौज तैनात

डायबिटीज के मरीजों को लॉकडाउन हटने के बाद भी रहना होगा घरों के अंदर

जापान में हटाई गई कोरोना के चलते लगी इमरजेंसी, पीएम शिंजो आबे ने किया ऐलान

दुनिया में कोरोना Live: अब तक 55.12 लाख संक्रमित और 3.46 लाख मरीजों की मौत
First published: May 25, 2020, 6:46 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading