लाइव टीवी

चीन की नजर अब अफगानिस्तान पर, अफगान सरकार और तालिबान के बीच बैठक की करेगा मेजबानी

भाषा
Updated: November 11, 2019, 10:34 PM IST
चीन की नजर अब अफगानिस्तान पर, अफगान सरकार और तालिबान के बीच बैठक की करेगा मेजबानी
अफगान अधिकारियों एवं तालिबान के बीच एक बैठक की मेजबानी करने की तैयारी चीन कर रहा है (फाइल फोटो, AP/PTI)

तालिबान ने अफगानिस्तान सरकार (Afghanistan Government) से सीधी बातचीत से अब तक इनकार किया है. वह अभी हाल तक अमेरिका (America) के साथ वार्ता कर रहा था लेकिन सितंबर में यह वार्ता टूट गयी.

  • भाषा
  • Last Updated: November 11, 2019, 10:34 PM IST
  • Share this:
बीजिंग. अफगान शांति प्रक्रिया (Afghan Peace Process) में बड़ी भूमिका निभाने के लिए प्रयासरत चीन ने सोमवार को कहा कि वह इस युद्ध प्रभावित देश (War Affected Country) में शांति एवं सुलह प्रयासों पर चर्चा के लिए अपने यहां अफगान अधिकारियों एवं तालिबान (Taliban) के बीच एक दुर्लभ बैठक की मेजबानी करने की कोशिश में जुटा है.

तालिबान ने अफगानिस्तान सरकार (Afghanistan Government) से सीधी बातचीत से अब तक इनकार किया है. वह अभी हाल तक अमेरिका (America) के साथ वार्ता कर रहा था लेकिन सितंबर में यह वार्ता टूट गयी.

चीन ने कहा- 'हम करते हैं सकारात्मक बातचीत का समर्थन'
चीन के विदेश मंत्रालय (Foreign Ministry of China) के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने यहां मीडिया ब्रीफिंग में कहा, 'हम अफगानिस्तान सरकार और तालिबान समेत सभी पक्षों के बीच सकारात्मक वार्ता का समर्थन करते हैं.'

उन्होंने कहा, 'सभी पक्षों की इच्छा का सम्मान करते हुए हम सभी पक्षों को वार्ता के लिए मंच उपलब्ध कराना और शांति एवं सुलह प्रक्रिया में मदद पहुंचाना चाहेंगे. चीन (China) अपने यहां यह बैठक करवाने के लिए सभी संबंधित पक्षों के साथ संपर्क में बना हुआ है.'

चीन ने कहा- 'हम सभी पक्षों के संपर्क में हैं'
उनसे अफगान सरकार (Afghan Government) के साथ वार्ता करने की हाल तक तालिबान की आपत्ति के बारे में पूछे जाने पर गेंग ने दोहराया कि चीन इस बैठक के लिए अफगानिस्तान के सभी प्रासंगिक पक्षों के साथ संपर्क में है.
Loading...

उन्होंने कहा, 'सभी पक्ष में अफगान सरकार और अफगान तालिबान (Afghan Taliban) शामिल हैं.' उन्होंने कहा कि और ब्यौरा बाद में दिया जाएगा.

अमेरिका के हाथ खींचने के बाद अफगानिस्तान में भूमिका बढ़ाना चाहता है चीन
अफगानिस्तान से अपने बाकी सैनिकों को वापस बुलाने की अमेरिका (America) की योजना की पृष्ठभूमि में वहां (अफगानिस्तान में) अपनी भूमिका बढ़ाने के प्रयास के तहत चीन ने सितंबर में तालिबान के प्रतिनिधिमंडल की मेजबानी की थी.

तालिबान के एक प्रतिनिधिमंडल ने अपने नेता मुल्ला बारादार (Mullah Abdul Ghani Beradar) की अगुवाई में अफगानिस्तान पर चीन के विशेष दूत डेंग जिजून के साथ सितंबर में बीजिंग में बातचीत की थी.

यह भी पढ़ें: बोलीविया में राजनीतिक संकट, हिंसक प्रदर्शन के बाद राष्ट्रपति ने दिया इस्तीफा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 7:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...