अपना शहर चुनें

States

कोरोना से दुनिया बेहाल लेकिन चीन के निर्यात में हुई 21% की वृद्धि, 268 अरब डॉलर पहुंचा

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (फाइल फोटो)
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (फाइल फोटो)

China Economy: एक तरफ जहां कोरोना महामारी की वजह से ज्यादातर बढ़ी अर्थव्यवस्थाएं मंदी की और है वहीं चीन के निर्यात में लागातार बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है. चीन के बायकॉट के दावों के बीच अमेरिका और चीन के व्यापार में भी बम्पर बढ़ोत्तरी हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 7, 2020, 1:40 PM IST
  • Share this:
बीजिंग. डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के तमाम दावों की अब पोल खुलती नज़र आ रही है. एक तरफ जहां दुनिया के ज्यादातर देश कोरोना (Coronavirus) के चलते गिरती अर्थव्यवस्था और मंदी के हालातों से जूझ रहे हैं, वहीं इस साल लगातार चीन के निर्यात में बम्पर बढ़ोत्तरी हो रही है. अमेरिका ने भले ही चीन के कितने भी बायकॉट की बात की हो लेकिन चीन का अमेरिका के साथ व्यापार सरप्लस (China Trade Surplus) रिकॉर्ड 75.4 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. नवंबर में चीन का कुल निर्यात 268 अरब डॉलर पर पहुंच गया है.

नवंबर में चीन के निर्यात में पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 21.1 प्रतिशत की जोरदार बढ़ोतरी हुई है, जिससे उसका व्यापार सरप्लस रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है. अमेरिकी उपभोक्ताओं की मजबूत मांग से चीन के निर्यात में इजाफा हुआ है. सीमा शुल्क विभाग की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार अमेरिका को चीन के निर्यात में 46 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. निर्यात में यह वृद्धि ऐसे समय हुई है जबकि अमेरिका और चीन के बीच शुल्कों के मुद्दे पर 'व्यापार युद्ध' जारी है. अक्टूबर में चीन का निर्यात 11.4 प्रतिशत बढ़ा था. इस दौरान चीन का आयात पांच प्रतिशत बढ़कर 192.6 अरब डॉलर रहा है. अक्टूबर में आयात 4.7 प्रतिशत बढ़ा था. इन आंकड़ों से पता चलता है कि चीन की अर्थव्यवस्था कोरोना वायरस महामारी के प्रभाव से अब पूरी उबर चुकी है.

फाइजर और ऑक्सफोर्ड की टक्कर के लिए चीन तैयार
उधर चीन के सिनोवैक बायोटेक ने एक स्थानीय फर्म से अपनी कोरोना वायरस वैक्सीन की उत्पादन क्षमता को दोगुना करने के लिए 515 मिलियन डॉलर की धनराशि हासिल की है. कंपनियों ने सोमवार को कहा, उन्होंने इस महीने अपने प्रयोगात्मक शॉट के प्रभावकारिता डेटा आने की उम्मीद है. वहीं, सिनोवैक अपनी COVID-19 वैक्सीन कोरोनावैक के परीक्षणों को भी विस्तार दे रहा है. कई अन्य देशों में इशपर काम हो रहा है और जहां इस वैक्सीन के अच्छे परिणाम आ रहे हैं. चीन बायोफर्मासिटिकल लिमिटेड ने सोमवार को कहा कि कोरोनावैक के विकास और उत्पादन में मदद करने के लिए सिनोवैक की एक सहायक कंपनी सिनोवैक लाइफ साइंसेज में 515 मिलियन डॉलर का निवेश किया जाएगा.



चीन बायोफार्मास्युटिकल ने हांगकांग स्टॉक एक्सचेंज को एक फाइलिंग में कहा कि यह निवेश सीनो बायोफार्मास्युटिकल को सिनोवैक लाइफ साइंसेज में 15.03% ब्याज देगा. सिनोवैक ने एक अलग बयान में कहा कि वह सालाना 300 मिलियन वैक्सीन खुराक का निर्माण करने में सक्षम होगा और इसका लक्ष्य 2020 के अंत तक एक दूसरी उत्पादन सुविधा का निर्माण पूरा करना होगा ताकि वार्षिक COVID-19 वैक्सीन उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 600 मिलियन डोज हो सके. सिनोवैक ने कहा कि बाजार की स्थितियों और वित्तपोषण की उपलब्धता के आधार पर, वह अपनी उत्पादन क्षमता का विस्तार करने की मांग कर सकता है. सिनोवैक ने इंडोनेशिया, तुर्की, ब्राजील और चिली सहित कई देशों के साथ कोरोनावैक आपूर्ति सौदों को सुरक्षित कर लिया है और संभावित बिक्री के लिए फिलीपींस के साथ बातचीत कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज