• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • वुहान के बाद कोरोना का सबसे खराब दौर देख रहा है चीन; जानें कब, कैसे और कहां से हुआ शुरू

वुहान के बाद कोरोना का सबसे खराब दौर देख रहा है चीन; जानें कब, कैसे और कहां से हुआ शुरू

चीन की राजधानी बीजिंग के एक शॉपिंग मॉल में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए फेस मास्क पहने लोग. (फाइल फोटो)

चीन की राजधानी बीजिंग के एक शॉपिंग मॉल में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए फेस मास्क पहने लोग. (फाइल फोटो)

China Coronavirus Nanjing City: कोरोना वायरस के नए केंद्र नानजिंग शहर में अब बड़े पैमाने पर जांच की जा रही है और नए प्रतिबंध को फिर से लागू किया गया है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. चीन में कोरोना वायरस के मामलों की एक नई लहर देखी जा रही है, जो अत्यधिक तेजी से फैलने वाले डेल्टा वेरिएंट की वजह से है और यह राजधानी बीजिंग से लेकर देश भर के पांच अन्य प्रांतों तक फैल गया है. चिंताजनक रूप से, सरकारी मीडिया ने संकेत दिया है कि दिसंबर 2019 में वुहान में वायरस के प्रकोप के बाद से यह हालिया उछाल देश में सबसे खराब है.

    लगभग 200 मामलों का पता चला है, जो 20 जुलाई को पूर्वी चीन के जिआंगसु प्रांत की राजधानी नानजिंग के एक हवाई अड्डे से शुरू हुई और पांच अन्य प्रांतों और बीजिंग नगरपालिका में फैल गई है. स्थानीय मीडिया ने बताया कि मामले सामने आने के तुरंत बाद हवाई अड्डे से सभी उड़ानें 11 अगस्त तक निलंबित कर दी गईं. कोरोना वायरस के नए केंद्र नानजिंग शहर में अब बड़े पैमाने पर जांच की जा रही है और नए प्रतिबंध को फिर से लागू किया गया है.

    चीन में कोरोना की नई लहर? अधिकारी ने कहा- हर क्षेत्र में फैल सकता है डेल्टा वेरिएंट

    कोरोना वायरस के संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए शहर में आंशिक लॉकडाउन लगाया गया है, निवासियों के प्रवेश और निकास को नियंत्रित करने के लिए चौकियां स्थापित की गई हैं और कुछ सार्वजनिक परिवहन को निलंबित कर दिया गया है. इतना ही नहीं, चीन में नया केंद्र उभरने के बाद अधिकारियों को अब व्यापक आलोचना का सामना करना पड़ रहा है कि आखिर इससे बचाव के लिए पर्याप्त तैयारी क्यों नहीं की गई थी.

    कहां से यह शुरू हुआ?
    बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, नानजिंग के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि सभी मामले रूस से उड़ान भरने वाले सफाईकर्मियों से जुड़े हैं, जो 10 जुलाई को नानजिंग शहर पहुंचे थे. सिन्हुआ न्यूज की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सफाईकर्मी कथित तौर पर कोविड स्वच्छता प्रोटोकॉल का पालन करने में विफल रहे. चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के एक वरिष्ठ अनुशासनात्मक निकाय ने हवाईअड्डा प्रबंधन की खिंचाई करते हुए कहा कि इसमें ‘देखरेख की कमी और गैर-पेशेवर प्रबंधन जैसी समस्याएं’ थीं.

    देश में केरल से आएगी कोरोना की तीसरी लहर? लगातार 5वें दिन आए 20 हजार नए केस

    चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान में कहा, ‘कई संक्रमण रोकथाम उपायों को सही तरीके से लागू नहीं किया गया, जिसकी वजह से नए मामले तेजी से फैले हैं. महामारी के इस दौर के शुरुआती पुष्ट मामले मुख्य रूप से ग्राउंड स्टाफ और विमान की सफाई करने वाली टीमों के बीच पाए गए, जिन्हें नानजिंग लुको एयरपोर्ट क्लीनिंग कंपनी को आउटसोर्स किया गया था.’

    इसने अपने बयान में यह भी कहा कि हवाई अड्डे ने घरेलू उड़ानों की सफाई के लिए जिम्मेदार सफाई कर्मियों को अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की सफाई करने वालों से अलग नहीं किया और नियमित देखरेख की गंभीर कमी थी. इसके बाद से कोरोना का डेल्टा वेरिएंट अनहुई, ग्वांगडोंग, हुनान और सिचुआन सहित चीन के कई शहरों और प्रांतों में फैल गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज