लाइव टीवी

वुहान के लोगों ने सबूत दिखाकर किया दावा- कोरोना वायरस से आधिकारिक आंकड़ों से कहीं ज्यादा मौतें

News18Hindi
Updated: March 31, 2020, 12:50 AM IST
वुहान के लोगों ने सबूत दिखाकर किया दावा- कोरोना वायरस से आधिकारिक आंकड़ों से कहीं ज्यादा मौतें
अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों पर रोक लगने के बाद चीन में लगातार चौथे दिन नए मामलों में कमी सामने आई

हुबेई (Hubei) के एक निवासी ने आरएफए को बताया कि अब यहां ज्यादातर लोगों को यह लगता है कि वुहान (Wuhan) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते किए गए लॉकडाउन के दौरान करीब 40,000 लोगों की मौत हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2020, 12:50 AM IST
  • Share this:
वुहान. चीन (China) के जिस शहर वुहान (Wuhan) से नोवल कोरोना वायरस (Coronavirus) का प्रसार होना शुरू हुआ था वहां दो महीने के लॉकडाउन के बाद शनिवार को थोड़ी ढील दी गई. यहां तक कि कुछ पैसेंजर और सबवे ट्रेनें भी शुरू की गईं. लेकिन इसके बाद भी इलाके के लोगों के मन में कुछ सवाल भी हैं.

रेडियो फ्री एशिया की रिपोर्ट के मुताबिक लोगों में मौत के सरकारी आंकड़ों को लेकर भ्रम भी फैल रहा है. सरकार के मुताबिक 2,500 लोगों की मौत हुई है. कई लोगों का मानना है कि ये आंकड़ा जितना बताया जा रहा है उससे कहीं ज्यादा बड़ा है.

छह दिन से सामने नहीं आया कोई केस
अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों पर रोक लगने के बाद चीन में लगातार चौथे दिन नए मामलों में कमी सामने आई है. वुहान में प्रतिष्ठानों के खुलने के बाद पिछले छह दिनों में कोई नया केस सामने नहीं आया है.



इस हफ्ते की शुरुआत में, वुहान में सात श्मशानों में करीब 500 शवों का अंतिम संस्कार किया गया. जिसके बाद कई लोग अधिकारियों द्वारा जारी आधिकारिक आंकड़ों पर संदेह कर रहे हैं.



लोगों को दी जा रही परिजनों की राख और अस्थियां
एक वुहान निवासी ने RFA को बताया कि "यह सही नहीं हो सकता... क्योंकि गुप्तचर चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं. इतनी कम लोगों की मौत कैसे हो सकती हैं?" उन्होंने कहा कि अंतिम संस्कार करने वाले लोगों ने सोमवार को लोगों को राख और अस्थियां देनी शुरू कर दी हैं.

वर्तमान में वुहान में सात श्मशान हैं. आरएफए की रिपोर्ट ने काईसिन नाम की एक वेबसाइट के हवाले से दावा किया कि करीब 5000 लोगों को अस्थि कलश दिए गए हैं. यानी कि सरकार की तरफ से जितनी बताई गई हैं उससे दोगुनी.

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि वुहान के सभी श्मशानों से एक दिन में करीब 3500 अस्थि कलश दिए गए हैं.

करीब 42,000 अस्थि कलश सौंपे जा सकते हैं
श्मशानों की तरफ से परिवारों को बताया गया कि वह किंग मिंग के 5 अप्रैल को होने वाले ग्रेव टेंडिग फेस्टिवल से पहले सभी अंतिम संस्कारों को पूरा करने की कोशिश करेंगे. जो कि 23 मार्च से 12 दिन बाद होगा. अगर इसके अनुमान लगाया जाए तो इसका मतलब है कि इस समय में करीब 42,000 अस्थि कलश सौंपे जाएंगे.

हुबेई के एक निवासी ने आरएफए को बताया कि अब यहां ज्यादातर लोगों को यह लगता है कि वुहान में लोगों को लॉकडाउन के दौरान करीब 40,000 लोगों की मौत हुई है.

उन्होंने आरएफए से कहा कि ऐसा लगता है कि प्रशासन धीरे धीरे असली आंकड़े सामने रखेगा, ताकि लोग इस सच को धीरे-धीरे स्वीकार कर सकें.

एक महीने में 28,000 लोगों का अंतिम संस्कार
एक अन्य उच्च स्तरीय सूत्र ने आरएफए को जानकारी दी कि कई लोगों में कोविड 19 के संक्रमण की जांच नहीं हुई और न ही उनका इलाज हुआ और घर में ही उनकी मौत हो गई. सूत्र ने आगे कहा कि शहर में एक महीने में करीब 28,000 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया है. ये इशारा करता है कि ढाई महीने की समयावधि को बढ़ा-चढ़ा कर नहीं बताया जा रहा है.

वुहान के लोगों ने आरोप लगाया कि अधिकारी पैसे देकर लोगों को चुप कराने की कोशिश कर रहे हैं. एक स्थानीय ने आरएफए को बताया कि अधिकारी मृतकों के परिवारों को अंतिम संस्कार के भत्ते के तौर पर 3,000 यूआन दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि यहां का कोई भी व्यक्ति मौतों के आधिकारिक आंकड़ों पर विश्वास नहीं कर रहा.

ये भी पढ़ें-
कोरोना संकट में सरकार ने किसानों को दी राहत! इस दिन तक कर सकेंगे लोन का पेमेंट

कोरोना संक्रमण: किस राज्‍य में कितने मरीज, कहां कितनी मौत, यहां देखें LIST

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 30, 2020, 9:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading