इस 'मीट मार्केट' से बीजिंग में लौटा कोरोना, हाइवे बंद और लोगों को रेल टिकट नहीं

इस 'मीट मार्केट' से बीजिंग में लौटा कोरोना, हाइवे बंद और लोगों को रेल टिकट नहीं
चीन के बीजिंग में लेवल-2 की इमरजेंसी लागू

चीन (China) भले ही पूरे मामला की जानकारी नहीं दे रहा हो लेकिन सच यही है कि बीजिंग (Beijing) शहर में लेवल-2 की इमरजेंसी लागू की गयी है, बीजिंग से बहार जाने के हाइवे बंद हैं और चीन रेलवे ने बीजिंग के नागरिकों के फ़िलहाल टिकट खरीदने पर प्रतिबंध लागू कर दिए हैं.

  • Share this:
बीजिंग. चीन (China) के बीजिंग (Beijing )में 100 से भी ज्यादा लोग बीते 2 दिनों में संक्रमित पाए गए हैं. चिंता की बात ये है कि इनमें से ज्यादातर लोकल ट्रांसमिशन के केस हैं और बीजिंग के एक मार्केट में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) का क्लस्टर पाया गया है. चीन भले ही पूरे मामला की जानकारी नहीं दे रहा हो लेकिन सच यही है कि शहर में लेवल-2 की इमरजेंसी लागू की गयी है, बीजिंग से बहार जाने के हाइवे बंद हैं और चीन रेलवे ने बीजिंग के नागरिकों के फ़िलहाल टिकट खरीदने पर प्रतिबंध लागू कर दिए हैं. बीजिंग के आस-पास मौजूद तीन अन्य शहरों में भी यात्रा प्रतिबंध लागू किये गए हैं. मंगलवार को चीन में संक्रमण के 44 नए केस सामने आए हैं.

चीन के सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स ने विशेषज्ञों के हवाले से ये बताया है कि वुहान की तरह ही बीजिंग में भी कोरोना संक्रमण की शुरुआत एक मार्केट से ही हुई है. बीजिंग में कोरोना का जो वायरस टाइप पाया गया है वो वुहान से भी ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है. इस मार्केट का नाम शिनफ़ेडी है और बिक्री के मामले में ये एशिया का सबसे बड़ा एग्रीकल्चर मार्केट है. बीजिंग में कोरोना संक्रमण की नई लहर के तार शिनफ़ेडी होलसेल मार्केट से जुड़े हुए हैं.अधिकारियों ने फ़िलहाल इस मार्केट को बंद कर दिया है और इससे जुड़े कई वरिष्ठ लोगों को बर्ख़ास्त भी कर दिया है. फिलहाल प्रशासन ने बीजिंग के कई ज़िलों में सख़्त पाबंदियां लगा दी हैं. स्कूल, मनोरंजन और खेलों के केंद्र बंद कर दिए गए हैं और भारी संख्या में टेस्ट किये जा रहे हैं.

 
शिनफ़ेडी के मीट मार्केट से फैला संक्रमण!चायना ग्लोबल टेलीविज़न नेटवर्क (सीजीटीएन) ने चायनीज़ सेंटर फ़ॉर डिज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के चीफ़ एपिडेमियोलॉजिस्ट वू जुनयू के हवाले से बताया है कि इस मार्केट में देश के अन्य हिस्सों से भी लोगों का आना-जाना संक्रमण फैलाने की वजह हो सकता है. बता दें कि इस मार्केट के एक सेक्शन में सी-फूड और मीट प्रोडक्ट्स के भी खरीदे और बेचे जाने का काम होता है. कोरोना संक्रमण फैलने के तार फिलहाल बाज़ार के इसी हिस्से से जुड़ते नज़र आ रहे हैं. हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) का कहना है कि ये धारणा अभी शुरुआती है और पहले इसकी जांच आवश्यक है. हालांकि ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक़ इस बाज़ार में मीट व्यवसाय से जुड़े लोगों और उपभोक्ताओं की पहचान करके उनका टेस्ट किया जा रहा है. 




चीन के लिए काफी अहम है ये बाज़ार
गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के चलते चीन की अर्थव्यवस्था भी डगमगाई हुई है. शिनफ़ेडी मार्केट की अहमियत इसी बात से पता चलती है कि साल 2019 में इसकी कुल बिक्री 131.9 अरब युआन यानी 18.62 अरब अमरीकी डॉलर थी. इस मार्केट का आकार 11,20,000 वर्ग मीटर है और बीजिंग की पूरी सप्लाई में 80 फ़ीसदी शेयर इसी मार्केट का है. हर दिन यहां करीब 18,000 टन सब्ज़ी और 20,000 टन फलों की ख़रीद बिक्री होती है. चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक़ इस मार्केट में 1500 लोग प्रबंधन के कार्यों से जुड़े हैं जबकि चार हज़ार से ज्यादा दुकानदार और सेलर्स हैं.

 

ये भी पढ़ें:
कौन थे सफेद मास्क पहने वे लोग, जो रात में घूमकर अश्वेतों का रेप और कत्ल करते?
किस खुफिया जगह पर खुलती है वाइट हाउस की सीक्रेट सुरंग 
क्या है डार्क नेट, जहां लाखों भारतीयों के ID चुराकर बेचे जा रहे हैं
क्या ऑटिज्म का शिकार हैं ट्रंप के सबसे छोटे बेटे बैरन ट्रंप?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading