होम /न्यूज /दुनिया /

फेल हो गई चीन की जीरो कोविड पॉलिसी? लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों के बाद भी कई शहरों में कोरोना विस्फोट

फेल हो गई चीन की जीरो कोविड पॉलिसी? लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों के बाद भी कई शहरों में कोरोना विस्फोट

चीन ने हमेशा ही अपनी जीरो कोविड पॉलिसी का बचाव किया है. (फाइल फोटो)

चीन ने हमेशा ही अपनी जीरो कोविड पॉलिसी का बचाव किया है. (फाइल फोटो)

Corona Cases in China: बीजिंग, शंघाई, हैनान, मकाऊ, शिनजियांग समेत कई बड़े शहर और प्रांतों में कोविड-19 संक्रमण तेजी से फैला है और बड़े पैमाने पर टेस्टिंग और लॉकडाउन समेत अन्य उपायों को लेकर चीन की जीरो कोविड पॉलिसी की नाकामयाबी उजागर हुई है. ऐसे में सवाल उठता है क्या चीन द्वारा बताई गई टीकाकरण संख्या सही है और क्या चीन की वैक्सीन सिनोवैक इस महामारी से लड़ने में असमर्थ है?

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

बीजिंग, शंघाई, हैनान, मकाऊ में कोविड-19 के केस फिर बढ़े
संक्रमण के चलते तिब्बत के कुछ हिस्सों को बंद किया गया
वैक्सीनेशन के आंकड़ों और वैक्सीन की क्षमता पर उठे सवाल

बीजिंग: चीन की लाख सख्त कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस संक्रमण पर नियंत्रण नहीं पाया जा सका है. राजधानी बीजिंग, शंघाई, हैनान, मकाऊ, शिनजियांग समेत कई बड़े शहर और प्रांतों में कोविड-19 संक्रमण तेजी से फैला है और बड़े पैमाने पर टेस्टिंग और लॉकडाउन समेत अन्य उपायों को लेकर चीन की जीरो कोविड पॉलिसी की नाकामयाबी उजागर हुई है.

ऐसे में सवाल उठता है क्या चीन द्वारा बताई गई टीकाकरण संख्या सही है और क्या चीन की वैक्सीन सिनोवैक इस महामारी से लड़ने में असमर्थ है? वियॉन में छपी रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना संक्रमण के ताजा मामले तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र में दर्ज किए गए हैं. कोविड-19 केस में अचानक वृद्धि ने अधिकारियों को तिब्बत के कुछ हिस्सों को बंद करने के लिए मजबूर कर दिया है, जबकि इस क्षेत्र में बड़े पैमाने पर परीक्षण शुरू किया गया है जो एक पर्यटन केंद्र भी है. वहीं हैनान प्रांत भी अब तक के अपने सबसे खराब COVID-19 प्रकोप से जूझ रहा है, जिसकी वजह से हजारों पर्यटक वहां फंसे हुए हैं.

सख्त प्रतिबंधों के बावजूद क्यों नहीं थम रहे कोरोना के मामले

हैरानी की बात है कि कोरोना महामारी पर नियंत्रण पाने के लिए चीन ने कई शहरों में सख्त लॉकडाउन समेत कई उपाय अपनाए थे. इसके बावजूद कोई राहत दिखती नजर नहीं आ रही है. अब जबकि पूरी दुनिया कोरोना वायरस के संक्रमण से उभरकर फिर से पटरी पर लौट रही है. वहीं यह वायरस चीन को जकड़े हुए है. इसका एक कारण यह हो सकता है कि चीन द्वारा प्रचारित टीकाकरण की संख्या से जुड़ा झूठ है. क्योंकि लाखों चीनी अभी भी गरीबी रेखा से नीचे रहते हैं और वे अनिच्छुक हैं या संभवतः  वैक्सीनेशन कराने में असमर्थ हैं. इसके अलावा चीन द्वारा निर्मित वैक्सीन की संदिग्ध प्रभावशीलता है.

कोविड-19 के नए मामलों के कारण शिगात्से (तिब्बत के दूसरे सबसे बड़े शहर) में तीन दिनों के लिए प्रतिबंध लगा दिया है, जिसके तहत विभिन्न कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया है और लोगों को शहर में प्रवेश करने या छोड़ने पर रोक लगा दी गई है. कई धार्मिक, मनोरंजन और पर्यटन स्थल भी बंद कर दिए गए हैं. साथ ही तिब्बत का प्रसिद्ध पोटाला पैलेस, जो पर्यटकों के बीच एक प्रमुख आकर्षण है इसे भी अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया गया है.

Tags: China, Corona Cases, Xi jinping

अगली ख़बर