चीनी राजदूत ने NCP नेताओं से की बात, छात्र संगठन ने दूतावास पर किया प्रदर्शन

चीनी राजदूत ने NCP नेताओं से की बात, छात्र संगठन ने दूतावास पर किया प्रदर्शन
चीनी राजदूत ने पीके शर्मा के प्रधानमंत्री पद पर रहने देने की सिफारिश की. (File Photo)

नेपाल के आंतरिक मामलों में चीनी राजदूत होउ यांकी (Chinese Ambassador Hou Yanki) की दखलअंदाजी के खिलाफ दर्जनों छात्रों ने मंगलवार को चीनी दूतावास के सामने प्रदर्शन (Student Protest) किया.

  • Share this:
काठमांडू. नेपाल के आंतरिक मामलों में चीनी राजदूत होउ यांकी (Chinese Ambassador Hou Yanki) की दखलअंदाजी के खिलाफ दर्जनों छात्रों ने मंगलवार को चीनी दूतावास के सामने प्रदर्शन (Student Protest) किया. मुख्य विपक्षी नेपाली कांग्रेस पार्टी (Nepali Congress Party Student Wing) की छात्र इकाई नेपाल स्टूडेंट्स यूनियन के कार्यकर्ताओं ने चीनी दूतावास के सामने प्रदर्शन किया.

ओली रखते हैं चीन की तरफ झुकाव

इस्तीफे के लिए दबाव का सामना कर रहे प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली का पद बचाने के लिए चीनी राजदूत ने सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) के कई नेताओं के साथ बातचीत की है. ओली को चीन की तरफ झुकाव रखने के लिए जाना जाता है.



होउ ने एनसीपी शीर्ष नेताओं से की बातचीत
होउ ने पिछले दिनों एनसीपी के शीर्ष नेता और पूर्व प्रधानमंत्री माधव कुमार नेपाल और झलनाथ खनाल से बातचीत की है. प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली का भविष्य अब बुधवार को तय होगा. इस संबंध में सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) की स्थायी समिति की महत्वपूर्ण बैठक होने वाली है. सत्तारूढ़ दल के नेताओं के साथ चीनी राजदूत की सिलसिलेवार बैठक को कई नेताओं ने नेपाल के आंतरिक राजनीतिक मामलों में हस्तक्षेप बताया है.

पहले भी चीनी राजदूत ने पीएम और प्रचंड से की थी बातचीत

यह कोई पहला मामला नहीं है जब चीनी राजदूत ने संकट के समय नेपाल के आंतरिक मामले में दखल दी है। करीब डेढ़ महीने पहले भी पार्टी के भीतर गतिरोध बढ़ने पर राजदूत ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री तथा प्रचंड समेत अन्य नेताओं के साथ अलग-अलग मुलाकात की थी.

ये भी पढ़ें: सड़क पार कर रहे 2 साल के बच्चे के ऊपर से गुजर गई कार, सिर्फ एक दांत टूटा, देखें VIDEO

पति ने पत्नी की हनीमून पर टैक्सी ड्राइवर को सुपारी देकर करवा दी हत्या

प्रधानमंत्री द्वारा एकतरफा तरीके से संसद के बजट सत्र को स्थगित करने के बाद एनसीपी के दो धड़ों के बीच मतभेद गहरा गया है. पार्टी का एक धड़ा ओली के समर्थन में हैं जबकि दूसरा धड़ा कार्यकारी अध्यक्ष पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ का समर्थन करता है. प्रचंड के खेमे को वरिष्ठ नेता माधव नेपाल और झलनाथ खनाल का समर्थन है और वे ओली का इस्तीफा मांग रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading