अपना शहर चुनें

States

चीन के डॉक्टर का खुलासा- चीनी वैक्सीन से है 73 साइड इफेक्ट, दुनिया में सबसे ज्यादा असुरक्षित

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग. (File Pic)
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग. (File Pic)

Sinopharm COVID-19 vaccine: चीन के डॉक्‍टर ताओ लिना (Tao Lina) ने दावा किया है कि साइनोफार्मा की कोरोना वैक्सीन दुनिया की सबसे असुरक्षित वैक्सीन है और इससे 73 तरह के साइड इफेक्ट होने का डर है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 2:30 PM IST
  • Share this:
बीजिंग. चीन (China) भले ही अपनी कोरोना वैक्सीन को लेकर दुनिया भर में डंका पीट रहा हो लेकिन एक चीनी डॉक्टर ने ही अब जिनपिंग सरकार के झूठ की पोल खोल दी है. चीन के डॉक्‍टर ताओ लिना (Tao Lina) ने दावा किया है कि चीन में बनी साइनोफार्मा की वैक्सीन (Sinopharm COVID-19 vaccine) दुनिया में सबसे ज्यादा असुरक्षित है और इससे 73 से ज्यादा साइड इफेक्ट होने की आशंका है. डॉक्टर ताओ के मुताबिक चीन ने वैक्सीन के ट्रायल पूरे नहीं किए हैं और इसके कई खतरनाक साइडइफेक्ट हैं. हालांकि बाद में चीनी सरकार के दबाव के बाद डॉक्टर ताओ ने अपना बयान वापस ले लिया है.

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक़ डॉक्टर ताओ ने आरोप लगाया है कि पश्चिमी मीडिया उनके शब्‍दों को 'तोड़ मरोड़ करके पेश कर रहा है. ताओ के मुताबिक उन्हें वैक्सीन को लेकर चिंताएं हैं लेकिन वे गंभीर नहीं हैं. ताओ ने दावा किया कि उनका पूर्व में दिया गया बयान केवल एक तीखा व्‍यंग था. डॉक्‍टर ताओ ने जोर देकर कहा कि चीनी इलाज 'बहुत सुरक्षित' है और देशवासियों से लापरवाही से दिए बयान के लिए माफी मांगी. इससे पहले नए साल की पूर्व संध्‍या पर चीन के स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों ने साइनोफॉर्म वैक्‍सीन को सशर्त मंजूरी दे दी थी. चीन का दावा है कि यह वैक्‍सीन 79.34 प्रतिशत कारगर है. चीन करोड़ों लोगों के यह वैक्‍सीन मध्‍य फरवरी चीनी नववर्ष से ठीक पहले लगाने जा रहा है जिसमें स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारी और काम करने वाले लोग हैं.

ब्लॉग लिखकर जताई थी चिंता
इससे पहले डॉक्‍टर ताओ ने साइनोफॉर्म के कोरोना वायरस वैक्‍सीन को लेकर एक ब्‍लॉग ल‍िखा था जिसमें उन्‍होंने आशंका जताई थी कि यह चीनी वैक्‍सीन दुनिया में सबसे ज्‍यादा असुरक्षित है. इस ब्‍लॉग को चीनी सोशल मीडिया साइट वीबो पर अपलोड किया गया था. अब यह ऑर्टिकल हटा लिया गया है और इसका कारण भी नहीं बताया गया है. इस पोस्‍ट में डॉक्‍टर ताओ ने दावा किया है कि चीनी वैक्‍सीन के 73 साइड इफेक्‍ट हैं. इसमें इंजेक्‍शन के लगने के स्‍थान पर दर्द, सिरदर्द, हाई ब्‍लड प्रेशर, दिखाई न देना और स्‍वाद खत्‍म हो जाना और पेशाब में दिक्‍कत शामिल है.





हुबेई में फिर से लगा लॉकडाउन
चीन में कोरोना तेजी से फैल रहा है. यहां पांच महीनों में सबसे ज्यादा नए मामले मिले हैं. हुबेई प्रांत में लॉकडाउन कर दिया गया है. यात्रा पर रोक लगा दी है. इधर जापान की राजधानी टोक्यो में इमरजेंसी घोषित कर दी गई है. चीन में पांच महीने में पिछले 24 घंटों के दौरान सबसे ज्यादा केस आए हैं. बीजिंग की राजधानी से सटे हेबेई प्रांत में लगातार मामले मिलने के बाद कड़ी पाबंदी लगा दी गई है. कई स्थानों पर लॉकडाउन की स्थिति है. गोंगडोंग प्रांत में साउथ अफ्रीका के वायरस का स्ट्रेन भी मिला है. शिनजियांग प्रांत में बड़े पैमाने पर टेस्टिंग शुरू कर दी गई है. यहां से निकलने वाले दस हाइवे प्रतिबंधित किए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज