सैन्य शक्ति का प्रयोग कर हांगकांग के प्रदर्शनों को बुरी तरह से कुचल सकता है चीन, दिए संकेत

ब्रिटेन (Britain) में चीन (China) के राजदूत लियू शिआओमिंग ने कहा कि यदि हांगकांग (Hong-Kong) में संकट ‘‘नियंत्रण से बाहर’’ हो जाता है, तो चीन ‘‘हाथ पर हाथ धरकर नहीं बैठेगा’’और वह ‘‘अशांति को तेजी से दबाने’’ के लिए तैयार है.

भाषा
Updated: August 16, 2019, 5:01 AM IST
सैन्य शक्ति का प्रयोग कर हांगकांग के प्रदर्शनों को बुरी तरह से कुचल सकता है चीन, दिए संकेत
हांगकांग में चीन विरोधी प्रदर्शनों को चीन ने शक्ति के प्रयोग से दबाने के संकेत दिए हैं (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: August 16, 2019, 5:01 AM IST
ब्रिटेन (Britain) में चीन (China) के राजदूत लियू शिआओमिंग ने कहा कि यदि हांगकांग (Hong-Kong) में संकट ‘‘नियंत्रण से बाहर’’ हो जाता है, तो चीन ‘‘हाथ पर हाथ धरकर नहीं बैठेगा’’और वह ‘‘अशांति को तेजी से दबाने’’ के लिए तैयार है. इस बीच, अमेरिका (America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) ने गुरुवार को कहा कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) और हांगकांग के लोकतंत्र समर्थक कार्यकर्ताओं के बीच बैठक से महीनों से चल रहे प्रदर्शनों का ‘‘सुखद’’ अंत हो सकता है.

वहीं हांगकांग पुलिस के तीन वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि उन्हें क्षेत्र में प्रदर्शनों को काबू करने के प्रयासों में चीनी बलों की योजनाओं की कोई जानकारी नहीं है.

'हमारे पास अशांति को तेजी से दबाने के लिए पर्याप्त समाधान और ताकत'
राजदूत ने टेलीविजन पर प्रसारित एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यदि हालात और खराब होते हैं और वे एसएआर (विशेष प्रशासनिक क्षेत्र) सरकार के नियंत्रण से बाहर हो जाते हैं तो केंद्र सरकार हाथ पर हाथ धरकर नहीं बैठेगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास इस अशांति को तेजी से दबाने के लिए पर्याप्त समाधान और पर्याप्त ताकत है.’’

ब्रिटेन में चीन के राजदूत लियू शिआओमिंग ने कहा, ‘‘हम उम्मीद करते हैं कि यह व्यवस्थित तरीके से समाप्त होगा. इस बीच, हम खराब परिस्थिति के लिए पूरी तरह से तैयार है.’’ उन्होंने हांगकांग प्रदर्शनों में ‘‘विदेशी हस्तक्षेप’’ का विरोध किया और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जोनसन की सरकार से अपील की कि वह इस मामले से ‘‘बहुत सावधानी’’ से निपटे.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने चीनी राष्ट्रपति को दी जनता से सीधे मिलने की नसीहत
जहां ब्रिटेन में चीन के राजदूत लियू शिआओमिंग ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इस देश में कुछ नेता... हांगकांग को अब भी ब्रितानी साम्राज्य का हिस्सा मानते हैं.’’ वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा, ‘‘यदि चीन के राष्ट्रपति शी प्रदर्शनकारियों से सीधे और निजी तौर पर मुलाकात करेंगे तो हांगकांग समस्या का सुखद अंत होगा. मुझे इस बात में कोई संदेह नहीं है.’’
Loading...

10 हफ्ते से लगातार चल रहे इन प्रदर्शनों को शक्ति के प्रयोग से दबा सकता है चीन
इस बीच, चीन के हजारों सैन्यकर्मियों ने हांगकांग की सीमा के पास एक शहर के खेल स्टेडियम में लाल झंडा फहराते हुए गुरुवार को परेड निकाली. शेनजेन के स्टेडियम के भीतर बख्तरबंद वाहन भी नजर आए. यह कार्यक्रम ऐसे समय में आयोजित किया गया है जब इस बात को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं कि हांगकांग में जारी 10 हफ्ते के तनाव को खत्म करने में चीन हस्तक्षेप कर सकता है.

सरकारी मीडिया ने इस हफ्ते खबर दी थी कि ‘पीपुल्स आर्म्ड पुलिस’ (पीएपी) से जुड़े लोग शेनजेन में जमा हो रहे हैं. पीएपी केंद्रीय सैन्य आयोग के कमान के तहत आती है. दो सबसे शक्तिशाली मीडिया संगठन, ‘पीपुल्स डेली’ और ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने शेनजेन में पीएपी के जवानों के एकत्रित होने के संबंध में सोमवार को वीडियो जारी किए थे.

‘ग्लोबल टाइम्स’ के मुख्य संपादक हू शीजीन ने कहा कि शेनजेन में सेना की मौजूदगी इस बात का संकेत है कि चीन हांगकांग में हस्तक्षेप की तैयारी में है.

यह भी पढ़ें: प्रदर्शनकारियों को डराने हांगकांग बॉर्डर पर उतरी चीनी सेना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 5:01 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...