चीन-अमेरिका में फिर ठनी! 4 चीनी अधिकारी प्रतिबंधित, बाइडन को बधाई देने से इनकार

U.S. President Donald Trump and Chinese President Xi Jinping (R) meet on the sidelines of the G20 Summit in Hamburg, Germany, July 8, 2017.  REUTERS/Saul Loeb, Pool - RC1EBFD46E60
U.S. President Donald Trump and Chinese President Xi Jinping (R) meet on the sidelines of the G20 Summit in Hamburg, Germany, July 8, 2017. REUTERS/Saul Loeb, Pool - RC1EBFD46E60

China on US Election Result: अमेरिका ने एक बार फिर चीन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़े 4 अधिकारियों पर यात्रा प्रतिबंध का ऐलान कर दिया है. उधर चीन ने कहा है कि हम फिलहाल जो बाइडन को बधाई संदेश देने से इसलिए परहेज कर रहे हैं क्योंकि नतीजे स्पष्ट नहीं हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 10, 2020, 12:58 PM IST
  • Share this:
बीजिंग/ वाशिंगटन. अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने हांगकांग में राजनीतिक अधिकारों के दमन के मुद्दे पर चीन के चार और अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है. सोमवार को मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में बताया गया कि इन चारों की अमेरिका यात्रा और यहां किसी भी तरह की संपत्ति हासिल करने पर रोक लगायी जाएगी. उधर चीन ने सोमवार को कहा कि उसने अमेरिका के राष्ट्रपति चुनावों में जो बाइडेन के जीत के ऐलान पर संज्ञान लिया है लेकिन फिलहाल कोई बधाई संदेश भेजने से परहेज कर रहा है.

बता दें कि अमेरिका ने इन अधिकारियों को हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लागू कराने में उनकी भूमिका के लिए प्रतिबंधित किया है, क्योंकि अमेरिका इस कानून को अभिव्यक्ति की स्वंत्रता और विपक्ष की राजनीति को बेहद कड़ाई से दबाने के रूप में देखता है. यह कानून जून में पारित हुआ था. अमेरिका इससे पहले भी कई अधिकारियों पर प्रतिबंध लगा चुका है, जिनमें हांगकांग की मुख्य कार्यकारी अधिकारी कैरी लाम भी शामिल हैं. सोमवार का यह फैसला ऐसे समय में आया है जब हांगकांग के 19 लोकतंत्र समर्थक सांसदों ने कहा है कि अगर बीजिंग उनमें से किसी एक को भी अयोग्य करार देता है तो वे शहर की विधायिका परिषद से बड़ी संख्या में इस्तीफा देंगे. अपुष्ट खबरों में कहा गया था कि चीन की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की स्थायी समिति इनमें से चार को अयोग्य करार देने की तैयारी कर रही है.

फिलहाल बधाई संदेश नहीं भेजेगा चीन
चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा कि अमेरिकी कानून व प्रक्रियाओं के तहत चुनाव के नतीजों का निर्धारण होगा और चीन अपनी भावनाएं जाहिर करने में अंतरराष्ट्रीय रवायतों का पालन करेगा. व्यापार, प्रौद्योगिकी और एशिया व दुनिया के अन्य हिस्सों में प्रभाव को लेकर प्रतिस्पर्धा की वजह से बढ़ते गतिरोध के कारण चीन के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ रिश्ते तल्ख रहे थे. विश्लेषकों का कहना है कि बाइडेन के रिश्तों को कम तनाव वाली श्रेणी में लेकर आने की उम्मीद है, यद्यपि बीजिंग पूरे चुनाव के दौरान सीधे उस मुद्दे पर टिप्पणी न करने की नीति बरकरार रखते हुए इसे अमेरिका का आंतरिक राजनीतिक मामला करार देता रहा है.





वांग ने अपनी दैनिक ब्रीफिंग में कहा, 'मैंने संज्ञान लिया कि बाइडेन ने चुनाव में जीत की घोषणा की है। हम समझते हैं कि राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों का निर्धारिण अमेरिकी कानूनों और प्रक्रियाओं के जरिये होगा.' नतीजों पर बयान के संदर्भ में वांग ने कहा कि चीन 'अंतरराष्ट्रीय रवायतों का पालन करेगा.' चीन उन चुनिंदा प्रमुख राष्ट्रों में से एक है जिन्होंने चुनावों पर अब तक बयान जारी नहीं किया है. कई दिनों तक चली मतगणना के बाद डेमोक्रेट बाइडेन राष्ट्रपति निर्वाचित हुए. ट्रंप ने हालांकि अभी हार स्वीकार नहीं की है और कई जिलों में मतगणना को चुनौती दे रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज