होम /न्यूज /दुनिया /

मेटल बनाने का 2,300 साल पुराना चीनी फॉर्मूला हुआ डीकोड: रिसर्च

मेटल बनाने का 2,300 साल पुराना चीनी फॉर्मूला हुआ डीकोड: रिसर्च

चीन में 2300 साल पुराने रहस्यमयी फॉर्मूले को शोधकर्ताओं ने सुलझा लिया है. (Image-shutterstock)

चीन में 2300 साल पुराने रहस्यमयी फॉर्मूले को शोधकर्ताओं ने सुलझा लिया है. (Image-shutterstock)

एक आश्चर्यजनक रिसर्च में, मेटल बनाने के लिए गुप्त सूत्रों को छिपाने वाले लगभग 2,300 साल पुराने चाइनीज टेक्स्ट को अब शोधकर्ताओं द्वारा डिकोड किया गया है. 300 ईसा पूर्व के टेक्स्ट को 'काओगोंग जी' के रूप में जाना जाता है

नई दिल्ली. एक आश्चर्यजनक रिसर्च में, मेटल बनाने के लिए गुप्त सूत्रों को छिपाने वाले लगभग 2,300 साल पुराने चाइनीज टेक्स्ट को अब शोधकर्ताओं द्वारा डिकोड किया गया है. 300 ईसा पूर्व के टेक्स्ट को ‘काओगोंग जी’ (Kaogong Ji) के रूप में जाना जाता है और इसमें कुछ प्रकार की धातुओं को बनाने के लिए छह केमिकल फॉर्मूला शामिल हैं. सभी फॉर्मूला दो मुख्य नामों का बार-बार उल्लेख करते हैं, जिनका नाम है जिन और शी. हालांकि शोधकर्ताओं का कहना है कि ये अब दुनिया में नहीं पाए जाते हैं. वहीं कुछ का कहना है कि ये अब तांबा और टिन के रूप में मौजूद हैं.

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी प्रेस के एक अध्ययन का मानना ​​​​है कि जिन और शी प्रारंभिक चीनी कांस्य के प्रोडक्शन में उपयोग किए जाने वाले पूर्व-निर्मित मिश्र धातुओं का उल्लेख कर सकते हैं. मिश्र धातुएं विभिन्न धातुओं को एक साथ मिलाकर बनाई जाती हैं. शोधकर्ताओं को विश्वास है कि जिन और शी ऐसे मिश्रणों का उल्लेख करते हैं. ‘काओगोंग जी’ टेक्स्ट ‘द राइट्स ऑफ झोउ’ पुस्तक का हिस्सा है, जिसके बारे में कहा जाता है कि इसे प्रसिद्ध इतिहासकार लियू शिन ने लिखा है. सभी फॉर्मूला ने काफी विद्वानों का ध्यान आकर्षित किया है.

हालांकि उन्हें पूरी तरह से समझा जाना बाकी है. ऐसा माना जाता है कि टेक्स्ट के जरिये प्रारंभिक चीन में कांस्य उत्पादन को नियंत्रित करने के लिए किया गया होगा. आधुनिक चीनी भाषा में जिन का अर्थ सोना होता है. लेकिन इसका प्राचीन अर्थ तांबा, तांबा मिश्र धातु या यहां तक ​​कि सिर्फ धातु हो सकता है, यही कारण है कि स्पेशल धातु का नाम तय करना मुश्किल हो गया है. बता दें कि पिछले 100 वर्षों से, शोधकर्ताओं ने अनुवाद करने के लिए संघर्ष किया है.

Tags: China, Research

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर