लाइव टीवी

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी के साथ वार्ता की

भाषा
Updated: October 13, 2019, 5:15 AM IST
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी के साथ वार्ता की
नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी और प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली ने शी की काठमांडू अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर अगवानी की और नेपाल की सेना ने शी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी (Vidya Devi Bhandari) और प्रधानमंत्री ओली (Prime Minister Oli) चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) का गर्मजोशी से स्वागत करने के लिये हवाई अड्डे पहुंचे. बाद में शी ने भंडारी से उनके आवास शीतल निवास पर मुलाकात की.

  • Share this:
काठमांडू: चीन (China) के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने यहां नेपाल (Nepal) की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी (Vidya Devi Bhandari) के साथ शनिवार को बातचीत की. वह दो दिवसीय नेपाल यात्रा के लिये शनिवार को यहां पहुंचे. पिछले 23 साल में नेपाल का दौरा करने वाले चीन के पहले राष्ट्र प्रमुख हैं. नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी और प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली ने शी की काठमांडू अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर अगवानी की और नेपाल की सेना ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया. शी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ दो दिवसीय अनौपचारिक शिखर वार्ता के बाद यहां पहुंचे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपति भंडारी और प्रधानमंत्री ओली चीनी राष्ट्रपति का गर्मजोशी से स्वागत करने के लिये हवाई अड्डे पहुंचे. बाद में शी ने भंडारी से उनके आवास शीतल निवास पर मुलाकात की.

दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल के बीच सिंह बहादुर सचिवालय में औपचारिक वार्ता होगी

राष्ट्रपति कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक उन्होंने दोनों देशों के दोस्ताना रिश्तों, आपसी हितों और अन्य विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की. चीन के राष्ट्रपति ने मुख्य विपक्षी दल नेपाली कांग्रेस के नेता शेर बहादुर देउबा से भी मुलाकात की और दोनों के बीच द्विपक्षीय रिश्तों को मजबूत बनाने पर चर्चा हुई. इसके बाद वह नेपाल की राष्ट्रपति की ओर से आयोजित भोज में शामिल हुए.

अधिकारी ने बताया, "राष्ट्रपति शी रविवार को प्रधानमंत्री के पी ओली और सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के सह अध्यक्ष कमल दहल 'प्रचंड' से मुलाकात करेंगे. प्रधानमंत्री ओली के नेतृत्व में नेपाली प्रतिनिधिमंडल और शी के नेतृत्व में चीनी प्रतिनिधिमंडल के बीच सिंह बहादुर सचिवालय में औपचारिक वार्ता होगी.

"ये संधि नेपाली और चीनी दोनों पक्षों की प्राथमिकता है"

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि बैठक के दौरान दोनों देशों के बीच प्रत्यर्पण संधि समेत विभिन्न समझौतों और सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर किये जाएंगे. 'काठमांडू पोस्ट' की खबर के अनुसार हालांकि अधिकारियों ने कहा कि प्रत्यर्पण संधि को लेकर कोई समझौता होने की संभावना नहीं है. कानून मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, "यह संधि नेपाली और चीनी दोनों पक्षों की प्राथमिकता है." विशेषज्ञों के मुताबिक नेपाल में 'चीन विरोधी' गतिविधियों में शामिल तिब्बतियों को प्रत्यर्पित कराने के लिए चीन प्रत्यर्पण संधि पर हस्ताक्षर करने को लेकर नेपाल पर दबाव बना रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 5:15 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...