Home /News /world /

चीन में यह मशीन दिलाएगी अपराधियों को सजा, वैज्ञानिकों ने तैयार किया AI 'Prosecutor'

चीन में यह मशीन दिलाएगी अपराधियों को सजा, वैज्ञानिकों ने तैयार किया AI 'Prosecutor'

कोर्ट की कार्यवाही 
(सांकेतिक तस्वीर)

कोर्ट की कार्यवाही (सांकेतिक तस्वीर)

Chinese Scientist develops AI prosecutor: वैज्ञानिकों के एक दल ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर आधारित एक ऐसी मशीन को तैयार करने का दावा किया है, जो अपराधियों के खिलाफ मुकदमा लड़ सकती है. यह दुनिया में इस तरह की पहली मशीन है. इस प्रोजेक्ट का नेतृत्व करने वाले वैज्ञानिक शी यॉन्ग ने कहा कि, यह सिस्टम कुछ हद तक निर्णय लेने की प्रक्रिया में प्रॉसिक्यूटर का स्थान ले सकती है. उन्होंने यह भी बताया कि, ये मशीन देश के खिलाफ असहमति रखने वालों की पहचान भी कर सकती है.

अधिक पढ़ें ...

    शंघाई (चीन): तकनीक के क्षेत्र में चीन लगातार तेजी से काम कर रहा है और नए प्रॉडक्ट्स को डेवलप कर रहा है. इसी कड़ी में चीन में वैज्ञानिकों के एक दल ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर आधारित एक ऐसी मशीन को तैयार करने का दावा किया है, जो अपराधियों के खिलाफ मुकदमा लड़ सकती है. यह दुनिया में इस तरह की पहली मशीन है. आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पब्लिक प्रॉसिक्यूटर यानि AI prosecutor 97 फीसदी सटीकता के साथ काम करेगी. इन वैज्ञानिकों का दावा है कि यह मशीन मौखिक विवरण के आधार पर काम करती है.

    साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के अनुसार, इस मशीन को शंघाई पुडोंग पीपुल्स प्रोक्यूटोरेट में बनाया और परीक्षण किया गया है, जो देश का सबसे बड़ा और व्यस्त प्रोसिक्यूशन ऑफिस है. इस प्रोजेक्ट से जुड़े साइंटिस्ट ने कहा कि, इस मशीन को प्रॉसिक्यूटर के ऊपर बढ़ते दबाव को कम करने के लिए बनाया गया है.

    इस प्रोजेक्ट का नेतृत्व करने वाले वैज्ञानिक शी यॉन्ग ने कहा कि, यह सिस्टम कुछ हद तक निर्णय लेने की प्रक्रिया में प्रॉसिक्यूटर का स्थान ले सकती है. उन्होंने यह भी बताया कि, ये मशीन देश के खिलाफ असहमति रखने वालों की पहचान भी कर सकती है.

    यह भी पढ़ें: Future Smart Home : दीवारें बात करेंगी, कमरा सुबह नींद से उठाएगा

    AI Prosecutor को मिली 5 साल की ट्रेनिंग
    इस मशीन से संबंधित कंप्यूटर प्रोग्रामिंग को लेकर वैज्ञानिकों ने कहा कि, इस मशीन में 1 हजार केसों के विवरण की लिखित विवरण को डाला गया है और इसके आधार पर यह मशीन आरोप दायर कर सकती है. साउथ चाइना पोस्ट के अनुसार, इस मशीन को 2015 से 2020 के बीच 5 साल की ट्रेनिंग दी गई है. इस दौरान मशीन ने कई मामलों को देखा और सामान्य अपराधों की पहचान करके आरोप दाखिल किए. इन केसों में ज्यादातर मामले क्रेडिट कार्ड धोखाधड़ी, जुए से जुड़े अपराध, खतरनाक ड्राइविंग, चोरी और सरकारी काम में बाधा डालने के केस शामिल हैं.

    हालांकि, देश के कुछ पब्लिक प्रॉसिक्यूटर ने इस नए वैज्ञानिक सिस्टम को लेकर चिंताएं जाहिर की हैं और पूछा है कि गलती होने पर इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा. वहीं इनमें से कुछ लोक अभियोजक ने स्थानीय मीडिया से कहा कि, वे नहीं चाहते हैं कि इस तरह का कंप्यूटर आधारित सिस्टम उनके कामकाज में दखल दे.

    Tags: China, Technology

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर