होम /न्यूज /दुनिया /अब सिर्फ 4 मिनट में कोरोना टेस्ट का रिजल्ट, चीन के वैज्ञानिकों ने विकसित की ये नई तकनीक

अब सिर्फ 4 मिनट में कोरोना टेस्ट का रिजल्ट, चीन के वैज्ञानिकों ने विकसित की ये नई तकनीक

कोरोना टेस्टिंग की प्रतीकात्मक तस्वीर

कोरोना टेस्टिंग की प्रतीकात्मक तस्वीर

Coronavirus Testing: कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान इसकी टेस्टिंग एक बड़ी चुनौती है क्यों कि आमतौर पर पीसीआर टेस्ट को सबस ...अधिक पढ़ें

बीजिंग: कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) की पहचान करने के लिए आमतौर पर पीसीआर टेस्ट (PCR Test) को सबसे सटीक और संवेदनशील माना जाता है. लेकिन इसकी जांच रिपोर्ट आने में काफी समय लगता है. चीन में वैज्ञानिकों (Chinese Scientist) ने एक ऐसी कोविड-19 (Covid-19) टेस्ट प्रणाली विकसित की है. जिसमें महज 4 मिनट के अंदर नतीजे सामने आ जाते हैं. इन साइंटिस्ट का कहना है कि इस कोरोना टेस्ट के नतीजे भी बिल्कुल पीसीआर टेस्ट की तरह सटीक होंगे.

दरअसल कई देशों में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के दौरान इसकी टेस्टिंग को लेकर कई चुनौतियां सामने आई है. टेस्टिंग की बढ़ती डिमांड और नतीजों में देरी की वजह से कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा. अब चीन की फुडन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि उनके पास इसका समाधान है.

नेचर बायोमेडिकल इंजीनियरिंग जर्नल में सोमवार को पब्लिश एक पीयर-रिव्यू आर्टिकल में शोधकर्ताओं की टीम ने कहा कि, उनका सेंसर जो स्वैब से जेनेटिक मटेरियल का विश्लेषण करने के लिए माइक्रो इलेक्ट्रॉनिक का उपयोग करता है. इसके इस्तेमाल से लैब टेस्ट में लगने वाले समय को कम किया जा सकता है.

Post Covid Complication: कोरोना से जंग के बाद की मुश्किलों से कैसे हो बचाव

शोधकर्ताओं की टीम ने कहा कि, हमने एक इंटीग्रेटेड और पोर्टेबल प्रोटोटाइप डिवाइस में SARS-CoV-2 का पता लगाने के लिए एक इलेक्ट्रोमैकेनिकल बायोसेंसर इम्पलांट किया. जिसकी मदद से सिर्फ 4 मिनट से भी कम वक्त में वायरस का पता लगाया जा सकता है. इस टेस्ट की मदद से कोरोना टेस्ट को गति मिलेगी और इसमें आसानी होगी.

फुडन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने कहा कि एक बार यह टेस्ट पद्धति विकसित होने के बाद, इसका
उपयोग हवाई अड्डों, स्वास्थ्य सुविधाओं और “घर पर भी” सहित विभिन्न स्थितियों में त्वरित परीक्षण के लिए किया जा सकता है. दरअसल पीसीआर टेस्ट न केवल धीमे होते हैं, बल्कि उनके लिए लैब में ज्यादा इंफ्रा की आवश्यकता होती है.

Tags: Coronavirus, RT PCR Test

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें