अपना शहर चुनें

States

चीनी वैज्ञानिकों का दावा, प्रकाश आधारित क्वांटम कंप्यूटर बनाने में मिली सफलता

चीनी वैज्ञानिकों ने क्वांटम कंप्यूटर बनाने का दावा किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
चीनी वैज्ञानिकों ने क्वांटम कंप्यूटर बनाने का दावा किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Quantum Computer Made in China: चीनी वैज्ञानिकों (Chienese Scientist) ने यह दावा किया है कि उन्होंने प्रकाश आधारित क्वांटम कंप्यूटर (Light Based Quamtum Computer) बना लिया है. उन्होंने यह भी दावा किया है कि यह कंप्यूटर, सुपर कंप्यूटर से भी तेज गति से काम करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 2:58 PM IST
  • Share this:
बीजिंग. चीनी वैज्ञानिकों (Chinese Scientist) ने दावा किया है कि उन्होंने दुनिया का पहला प्रकाश-आधारित क्वांटम कंप्यूटर (Light Based Quantum Computer) बनाया है,  जो शास्त्रीय सुपरकंप्यूटर (Super Computer) की तुलना में कहीं अधिक तेज़ी से समस्याओं को हल कर सकता है. इसे विशेषज्ञों द्वारा "प्रमुख उपलब्धि" के रूप में पेश किया गया है. यह एक ऐसी शक्तिशाली मशीनों को डिजाइन करने के लिए एक मौलिक रूप से अलग दृष्टिकोण प्रदान करता है. इस बारे में आधिकारिक सूचना मीडिया के जरिये दी गई.

कंप्यूटिंग में एक मील का पत्थर साबित होगा क्वाजुम कंप्यूटर

स्टेट डेली चाइना डेली ने साइंस जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के हवाले से बताया कि यह जिउजांग कंप्यूटिंग में एक मील का पत्थर साबित होगा. यह क्वांटम कम्प्यूटेशनल लाभ का मज़बूती से प्रदर्शन कर सकता है. क्वांटम कंप्यूटर ऐसे सिमुलेशन चलाने में कामयाबी हासिल कर लेते हैं, जो अन्य किसी पारंपरिक  कंप्यूटरों के लिए असंभव हैं. क्वांटम कंप्यूटर के जरिये विज्ञान, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और चिकित्सा में सफलता प्राप्त करने में सहायक साबित होते हैं.



फुगाकू को लगभग 600 मिलियन वर्षों तक आगे ले जाएगा
जियूझांग के एक प्राचीन चीनी गणितीय पाठ के अनुसार यह 200 सेकंड में गॉसियन बोसोन सैंपलिंग नामक एक अत्यंत गूढ़ गणना कर सकता है. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यह कार्य दुनिया के सबसे तेज शास्त्रीय सुपरकंप्यूटर फुगाकू को लगभग 600 मिलियन वर्षों तक आगे ले जाएगा. यह दूसरा ऐसा मील का पत्थर है. इससे पहले गूगल ने अपने 53 बिट क्वांटम कंप्यूटर बनाने में सफलता हासिल की थी.

क्वांटम तकनीक में महारत हासिल करने में भारी निवेश कर रहा चीन

विशेषज्ञों ने चीन के क्वांटम कंप्यूटर को "अत्याधुनिक प्रयोग" और क्वांटम कंप्यूटिंग में एक "बड़ी उपलब्धि" बताया. चीन हाल के वर्षों में क्वांटम तकनीक में महारत हासिल करने में भारी निवेश कर रहा है. चीनी विज्ञान अकादमी (सीएएस) ने कहा कि 2017 में, चीन ने क्वांटम संचार उपग्रह को हैक प्रूफ और अल्ट्रा-हाई सिक्योरिटी फीचर्स के साथ लॉन्च किया था.

ये भी पढ़ेंः अमेरिका में गांजे से जल्द हटेगा बैन, लोगों में खुशी की लहर 

नामिबिया में हाथियों की आबादी बढ़ी, चारा के अभाव में सरकार ने बेचने का लिया फैसला

चीनी अधिकारियों ने दावा किया कि क्वांटम उपग्रह से एक पूर्ण हैक फ्री संचार प्रदान करने की उम्मीद की गई थी, जिसका कोई अन्य देश निगरानी या अवरोधन नहीं कर सकता है. बाद के वर्षों में चीन ने राजधानी बीजिंग और इसके वाणिज्यिक मुख्यालय शंघाई के बीच 2,000 किलोमीटर की "हैक प्रूफ" क्वांटम संचार लाइन शुरू की है जिसे वायरटैप नहीं किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज