लाइव टीवी

कोरोना की वैक्सीन बनाने के लिए यूरोप में 3200 लोगों पर क्लिनिकल ट्रायल शुरू

News18Hindi
Updated: March 23, 2020, 11:05 AM IST
कोरोना की वैक्सीन बनाने के लिए यूरोप में 3200 लोगों पर क्लिनिकल ट्रायल शुरू
यूरोप ने कोरोना की वैक्सीन के लिए क्लिनिकल ट्रायल शुरू किए

यूरोपीय देशों के 3200 लोगों पर रविवार से क्लिनिकल ट्रायल शुरू हुआ है जिसमें चार प्रमुख दवाओं का परीक्षण किया जा रहा है. ये वो चार दवाएं हैं जो अभी भी कोरोना के इलाज के लिए इस्तेमाल की जा रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2020, 11:05 AM IST
  • Share this:
पेरिस. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की मार झेल रहे यूरोपीय देशों ने जोर-शोर से इसकी वैक्सीन पर काम करना शुरू कर दिया है. यूरोपीय देशों के 3200 लोगों पर रविवार से क्लिनिकल ट्रायल शुरू हुआ है जिसमें चार प्रमुख दवाओं का परीक्षण किया जा रहा है. ये वो चार दवाएं हैं जो अभी भी कोरोना के इलाज के लिए इस्तेमाल की जा रही हैं हालांकि ये ट्रायल उसकी वैक्सीन बनाने के लिए शुरू हुए हैं.

फ्रांस की पब्लिक हेल्थ रिसर्च बॉडी ने रविवार को जानकारी दी कि जिन चार दवाओं को वैक्सीन बनाने के लिए ट्रायल में शामिल किया जा रहा है उनमें रेमडेसिविर (remdesivir), लोपिनाविर (lopinavir), रिटोनाविर (ritonavir) और कई कॉम्बिनेशन शामिल हैं. चौथे ट्रायल में इन दवाओं को इंटरफेरोन बीटा या हाइड्रोऑक्सीक्लोरोक्वीन के साथ या उसके बिना भी ट्रायल कर देखा जाएगा. जिन 3200 लोगों को क्लिनिकल ट्रायल के लिए चुना गया है वो सभी कोरोना वायरस के संक्रमण से पीड़ित हैं और बेल्जियम, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, लक्जमबर्ग, स्पेन और नीदरलैंड के रहने वाले हैं.

ट्रंप ने सेना को दिए अस्थायी अस्पताल बनाने के आदेश
उधर अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 34,000 तक पहुंच गई है और 400 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं प्रत्येक तीन अमेरिकी लोगों में से एक को घर के भीतर रहने को कहा गया है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने न्यूयॉर्क, कैलिफोर्निया और वाशिंगटन की कोरोना वायरस से बेहद प्रभावित स्थलों के रूप में पहचान की, इसके अलावा राष्ट्रपति ने न्यूयॉर्क में नेशनल गार्ड की तैनाती को भी मंजूरी दे दी.



ट्रंप ने कहा कि उन्होंने पूरे देश में कोरोना वायरस से प्रभावित स्थलों पर आपात चिकित्सकीय केंद्र बनाने के आदेश दिए हैं. ट्रंप ने रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्होंने एफईएमए आपात प्रबंधन एजेंसी को न्यूयॉर्क, कैलिफोर्निया और वाशिंगटन राज्य में चिकित्सकीय केंद्र बनाने के आदेश दिए हैं.

उन्होंने कहा कि कैलिफोर्निया के आठ चिकित्सीय केंद्रों में 2,000 बिस्तर होंगे और वहीं न्यूयॉर्क और वाशिंगटन राज्य में चार चिकित्सीय केंद्र होंगे और इसमें प्रत्येक में 1,000-1,000 बिस्तरों की व्यवस्था होगी. ट्रंप ने कहा, 'मैं अमेरिकी जनता को आश्वस्त करना चाहता हूं कि इस अदृश्य दुश्मन को पूरी तरह से हराने के लिए रोजाना हम वे सभी चीजें कर रहे हैं जो हम कर सकते हैं. देखा जाए तो हम युद्ध जैसे हालात में हैं.'

 

ये भी पढ़ें:

Coronavirus: पीएम मोदी की अपील पर लोगों ने खूब बजाए घंटे, शंख, ताली-थाली, जानें वैज्ञानिकता और फायदे

जानें क्‍या एक बार संक्रमण से उबरने के बाद दोबारा हो सकता है Coronaviru

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 11:05 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर