सोलर ऑर्बिटर ने क्लिक की सूरज की सबसे नजदीकी तस्वीरें, हर जगह दिख रही आग

सोलर ऑर्बिटर ने क्लिक की सूरज की सबसे नजदीकी तस्वीरें, हर जगह दिख रही आग
सौर ऑर्बिटर ने सूर्य पर कैंपफ़ायर ’स्पॉट किया. (क्रेडिट: सोलर ऑर्बिटर / ईयूआई टीम (ईएसए और नासा)

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी और नासा के एक अंतरिक्ष यान (NASA and the European Space Agency ) द्वारा ली गईं सूर्य की इन तस्वीरों में हर जगह छोटी-छोटी अनगिनत आग की लपटें उठती दिखाई देती हैं.

  • Share this:
वॉशिंगटन. यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (European Space Agency) और नासा (Nasa) के एक अंतरिक्ष यान (Solar Orbiter ) ने सूर्य की अब तक की सबसे नजदीकी तस्वीरें ली हैं, जिनमें हर जगह छोटी-छोटी अनगिनत आग की लपटें उठती दिखाई देती हैं. वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष यान ‘सोलर ऑर्बिटर’ द्वारा ली गईं पहली तस्वीरें गुरुवार को जारी कीं. यह यान फरवरी में केप केनवेरल से रवाना हुआ था. इसने जब तस्वीरें लीं तो उस समय यह सूर्य से लगभग सात करोड़ 70 लाख किलोमीटर की दूरी पर यानी कि धरती और सूरज के बीच लगभग आधे रास्ते में था.

यान द्वारा ली गईं सूर्य की इन तस्वीरों में हर जगह छोटी-छोटी अनगिनत आग की लपटें उठती दिखाई देती हैं. यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के परियोजना वैज्ञानिक डेनियल मुलर ने कहा कि टीम ने आग की इन लपटों को ‘‘कैम्फायर्स’’ नाम दिया है. वैज्ञानिकों का मानना है कि यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि ये कैम्फायर्स क्या हैं या वे सोलर ब्राइटनिंग के अनुकूल कैसे हैं.

मैरीलैंड के ग्रीनबेल्ट में नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर के मिशन के लिए नासा के वैज्ञानिक होली गिल्बर्ट ने कहा, 'सूर्य की ये अभूतपूर्व तस्वीरें अब तक की सबसे नज़दीकी तस्वीरें हैं जो हमने हासिल की हैं.' नासा की एक विज्ञप्ति के अनुसार, ये तस्वीरें वैज्ञानिकों को सूर्य की वायुमंडलीय परतों को एक साथ टुकड़े करने में मदद करेंगी, 'इससे यह समझना महत्वपूर्ण होगा कि पृथ्वी के पास और पूरे सौर मंडल में अंतरिक्ष मौसम को कैसे चलाता है.'



नई खोजों की उम्मीद बढ़ी
सौर ऑर्बिटर में छह इमेजिंग टूल्स हैं जिनमें से हर एक टूल सूरज के एक अलग पहलू का अध्ययन करता है. आम तौर पर, एक अंतरिक्ष यान से पहली छवियां पुष्टि करती हैं कि  टूल्स काम कर रहे हैं. वैज्ञानिक उनसे नई खोजों की उम्मीद नहीं करते हैं. लेकिन सोलर ऑर्बिटर पर एक्सट्रीम अल्ट्रावॉयलेट इमेजर या ईयूआई ने सोलर फीचर्स पर इशारा करते हुए डेटा भेजा जो कभी नहीं देखे गए.

नासा के एक वैज्ञानिक ने कहा, 'तस्वीरों ने इतनी परफेक्ट जॉडिकल लाइट पैटर्न प्रॉड्यूस किया, जो इतना साफ है. यह हमें विश्वास दिलाता है कि हम सूर्य के करीब पहुंचने पर सोलर विंड स्ट्रक्चर्स को देख पाएंगे.'नासा की रिपोर्ट के अनुसार, जब ऑर्बिटर ने सूर्य के 48 मिलियन मील के भीतर उड़ान भरी, तो सभी 10 इंस्ट्रूमेंट्स ऑन हो गए और सोलर ऑर्बिटर ने सूर्य की  करीबी तस्वीरें खींची.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज