लाइव टीवी

कोरोना : चीन में 39 नए मामले, विशेषज्ञों ने जताई थी इसकी वापसी की आशंका

News18Hindi
Updated: April 6, 2020, 1:21 PM IST
कोरोना : चीन में 39 नए मामले, विशेषज्ञों ने जताई थी इसकी वापसी की आशंका
अब तक चीन में 3,331 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं अब तक इसके 81,708 मामले दर्ज किए गए हैं.

हाल में साइंस पत्रिका नेचर में एक लेख प्रकाशित हुआ था. इसमें महामारी विशेषज्ञ बेल काउलिंग ने आशंका जताई थी कि यह अप्रैल के अंत तक एक बार फिर चीन लौटेगा.

  • Share this:
बीजिंग. चीन (China) में अब भी कोरोना वायरस (Corona virus) के नए मामले सामने आ रहे हैं.
चीन में रविवार को कोरोनावायरस के 39 नए मामलों को दर्ज किया गया. वहीं ऐसे मामलों की संख्‍या भी बढ़ी है जिनमें कोई लक्षण नजर नहीं आ रहे. ऐसे में चीन में रोकथाम के तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना के प्रकोप को खत्म करने के लिए संघर्ष जारी है.

वहीं देश के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने सोमवार को एक बयान में कहा कि 78 नए स्पर्शोन्मुख मामलों की पहचान रविवार को की गई थी. दूसरे लोगों के संपर्क में आकर संक्रमित हुए लोग और वे लोग जिनमें कोरोना के लक्षण नजर नहीं आ रहे है, ऐसे में ये मरीज दूसरों तक यह वायरस पहुंचा सकते हैं. हाल के दिनों में संक्रमण के मामलों में कमी दर्ज होने के बाद एक बार फिर इस तरह के मामलों का सामने आना चीन के लिए चिंता का विषय बन गए हैं.

ऐसे मरीजों की बढ़ रही संख्‍या जिनमें लक्षण दिखाई नहीं दे रहे



जिन लोगों में ये लक्षण दिखाई दिए. इन नए मामलों में से 38 ऐसे लोग थे, जिन्होंने एक दिन पहले विदेश से चीन में प्रवेश किया था. वहां एक नए स्थानीय व्‍यक्ति के संक्रमित होने की सूचना दी गई थी. वहीं प्रांतीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने कहा, 'हुबेई प्रांत इस वायरस के प्रकोप के मूल उपकेंद्र के रूप में उभरा है. यहां नए मामलों के लगभग आधे सामने आए हैं. यही वजह है कि जिन मरीजों में कोरोना के लक्षण दिखाई नहीं दिए हैं, वे 705 लोग चिकित्‍सकीय निगरानी में रखे गए हैं. इस तरह के मामलों को पिछले सप्ताह ही रिपोर्ट करना शुरू किया गया था. एक चिंता का विषय है, क्योंकि यहां हाल में 8 अप्रैल को लोगों को पहली बार शहर छोड़ने की अनुमति देने की तैयारी की जा रही थी.



हुबेई ने पिछले महीने के अंत में यात्रा प्रतिबंधों को कम करना शुरू कर दिया था. ऐसा इसलिए भी किया गया था, क्‍योंकि चीन की व्यापक कोशिश रही है कि देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए यह जरूरी है कि इस संक्रमण को एक बार फिर बढ़ने से रोका जा सके. गौरतलब है कि अब तक चीन में 3,331 मौतें और कुल 81,708 मामले दर्ज किए गए हैं.

काफी पहले से चीन ने अपनी सभी सीमाएं बंद कर दी हैं
चीन ने अपनी सीमाओं को विदेशियों के लिए बंद कर दिया है, क्योंकि यह वायरस अब लगभग पूरी दुनिया में आतंक मचाए हुए है. हालांकि अधिकांश मामले ऐसे हैं जिनमें चीनी नागरिक विदेशों से लौटे हैं. जिन 38 लोगों में कोरोना के लक्षण दिखाई दिए हैं, वे लोग विदेश से लौटे थे. वहीं अमेरिका में चीन के दूतावास की ओर से कहा गया है कि अमेरिका में पढ़ने वाले चीनी छात्रों को घर लाने के लिए चार्टर उड़ानों की व्यवस्था करने की तैयारी चल रही है.

गौरतलब है कि हाल में साइंस पत्रिका नेचर में एक लेख प्रकाशित हुआ था. इसमें हॉन्‍गकॉन्‍ग यूनिवर्सिटी के महामारी विशेषज्ञ बेल काउलिंग ने कहा था कि यह बात पक्‍की है कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर  फिर आएगी. उन्‍होंने इसकी पूरी आशंका जताई थी कि यह अप्रैल के अंत तक एक बार फिर चीन को घेरेगी.

ये भी पढ़ें - कोरोना के खिलाफ जंग में चीन के 95 पुलिसकर्मियों और 46 मेडिकल स्टाफ की मौत

              कोविड-19 : मृतकों की याद में कुछ देर के लिए थम-सा गया चीन

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 1:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading