कोरोना : PAK में मौलवी के इंकार के बाद डॉक्‍टर ने खुद शव को नहला कर कराई अंतिम प्रार्थना

कोरोना : PAK में मौलवी के इंकार के बाद डॉक्‍टर ने खुद शव को नहला कर कराई अंतिम प्रार्थना
डॉ. सनाउल्लाह ने कहा कि उन्होंने स्‍नान कराते समय सभी सावधानियां बरती हैं. फाइल फोटो

डॉ. हाफिज सनाउल्लाह ने कहा कि वह कुरान पढ़े हुए हैं और उन्‍हें मालूम है कि किसी शव को स्नान कैसे कराया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2020, 6:33 PM IST
  • Share this:
इस्‍लामाबाद. पाकिस्‍तान (Pakistan) के खैबर पख्तूनख्वा के जिला शांगला (Shangla) में एक मौलवी ने कोरोना वायरस (Corona virus) से मरने वाले व्‍यक्ति की अंतिम नमाज पढ़ाने से इंकार कर दिया. इसके बाद डॉक्टर ने खुद व्‍यक्ति के शव को नहलाया और अंतिम संस्कार में होने वाली नमाज भी पढ़ाई.

मौलवी ने अंतिम संस्‍कार कराने से इंकार करते हुए कहा, 'मुझे डर लगता है'
'बीबीसी उर्दू' की रिपोर्ट के मुताबिक जिला शांगला की तहसील बेेशाम में डॉक्टर हाफिज सनाउल्ला एक सरकारी अस्पताल में कोरोना वायरस से प्रभावित मरीजों का इलाज करते हैं. उन्‍होंने 'बीबीसी' को बताया कि 'कोरोना वायरस की वजह से मरने वाला शख्‍स दूर-दराज के इलाके से आया था. बाद में उसकी मौत हो गई. जब स्थानीय मौलवी साहब से संपर्क किया गया, तो उन्होंने जवाब दिया कि मुझे डर लगता है. इसलिए कोरोना वायरस से मरने वाले किसी शख्‍स के अंतिम संस्कार की नमाज नहीं पढ़ा सकता. इसके बाद मौलवी ने उन्‍हें सलाह दी कि वह खुद यह नमाज पढ़ा लें.'

डॉ. हाफिज सनाउल्लाह ने कहा कि वह कुरान पढ़े हुए हैं और उन्‍हें मालूम है कि किसी शव को स्नान कैसे कराया जाता है और मरने के बाद अंतिम नमाज किस तरह पढ़ाई जाती है. फिर उन्होंने मृतक को स्नान कराया और अंतिम संस्कार की प्रार्थना यानी नमाज भी पढ़ाई जिसमें टीएमए और अस्पताल के कर्मचारियों ने भाग लिया. उन्‍होंने यूनिसेफ-आधारित प्रशिक्षण पूरा किया है जिसमें बताया गया है कि ऐसे व्यक्ति को कैसे स्नान कराया जा सकता है और उन्होंने स्‍नान कराते समय ये सभी सावधानियां बरती भी हैं.




हाफिज सनाउल्लाह ने यह भी कहा कि स्नान कराने के बाद उन्होंने शव को प्लास्टिक में बंद करके उस पर कफन चढ़ाया और फिर शव को ताबूत में रखा. इसके बाद अंतिम नमाज पढ़ाई और फिर ताबूत को कब्र में दफना दिया.

ये भी पढ़ें - पाकिस्‍तान : राहत राशि लेने आई 70 वर्षीय महिला की भगदड़ में मौत

                PAK : कोरोना की खिजां से मुर्झाए फूल कारोबारियों के चेहरे, चारा बन गए फूल

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज