दुनिया में कोरोना: अब तक 62 लाख, 82 हजार से ज्‍यादा मामले, आर्मेनिया के प्रधानमंत्री भी हुए संक्रमित

दुनिया में कोरोना: अब तक 62 लाख, 82 हजार से ज्‍यादा मामले, आर्मेनिया के प्रधानमंत्री भी हुए संक्रमित
आर्मेनिया के प्रधानमंत्री भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं. फोटो साभार/ट्विटर

आर्मेनिया के पीएम निकोल पाशिनियन कोरोना संक्रमित हो गए हैं. उनके परिवार के सभी लोग भी कोरोना संक्रमित बताए गए हैं. पाशिनियन ने सोमवार को सोशल मीडिया पर अपनी एक पोस्ट में कहा कि उन्हें बीमारी के कोई लक्षण नहीं थे, लेकिन उन्होंने सैन्य इकाइयों का दौरा करने से पहले अपनी जांच कराने का फैसला किया और जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. अमेरिका (US), भारत (India), रूस (Russia), ब्राजील (Brazil), पेरू (Peru), चिली (Chile)और पकिस्तान (Pakistan) के लिए रविवार का दिन भी काफी बुरा साबित हुआ और यहां हजारों की संख्या में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के नए केस सामने आए हैं. रविवार को लगातार 5वें दिन दुनिया भर में 1 लाख से ज्यादा नए केस सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 62,59,200 से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटे में संक्रमण (Covid-19) से करीब 3200 लोगों ने अपनी जान गंवा दी और और कुल मौतें बढ़कर अब 3,73,600 से भी ज्यादा हो गयी हैं. रविवार को अमेरिका में एक बार फिर सबसे ज्यादा केस सामने आए और सबसे ज्यादा मौतें भी हुईं हैं.

#नया कोरोना वायरस है कम खतरनाक, इटली के टॉप डॉक्टर का दावा
इटली के एक टॉप के डॉक्टर ने कहा है कि नया कोरोना वायरस कम खतरनाक है और इसका असर भी धीरे-धीरे कम पड़ रहा है. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को डॉक्टर ने ये जानकारी दी. डॉक्टर अल्बर्टो जैंगरीलो ने कहा है कि इटली में क्लीनिकली तौर पर वायरस का अस्तित्व खत्म हो चुका है. डॉक्टर अल्बर्टो इटली के उत्तरी लॉम्बॉर्डी में मिलान के सैन राफेले हॉस्पिटल में काम करते हैं. ये इलाका कोरोना वायरस से बुरी तरह से प्रभावित था. एक टेलीविजन चैनल से बात करते हुए डॉक्टर अल्बर्टो ने कहा कि पिछले 10 दिनों में संक्रमितों के जो स्वैब टेस्ट हुए हैं, उसमें मिले वायरस, दो महीने पहले मिलने वाले वायरस से कम खतरनाक पाए गए हैं.

#रूस कोरोना मरीजों को पहली बार देगा मान्यता प्राप्त दवाइयां, 1 महीने में 60 हजार होंगे ठीक



रूस अगले हफ्ते से कोरोना मरीजों को पहली बार मान्यता प्राप्त दवाइयां देना शुरू करेगा. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक कहा जा रहा है कि रूस सरकार से अप्रूव्ड इन दवाइयों के इस्तेमाल से कोरोना के मरीज कम होंगे और हेल्थ सिस्टम पर पड़ा बोझ भी कम होगा. इससे आर्थिक जीवन भी दोबारा पटरी पर लौट सकती है. रूस के हॉस्पिटल कोरोना के मरीजों पर एंटीवायरल ड्रग एविफविर का इस्तेमाल शुरू करेंगे. 11 जून से इस दवा का इस्तेमाल शुरू हो जाएगा. इस दवा को बनाने वाली कंपनी की तरफ से कहा गया है कि दवा का इतनी मात्रा में प्रोडक्शन होगा कि एक महीने में कम से कम 60 हजार मरीज ठीक हो पाएंगे.



#5 महीने की बच्ची 1 महीने तक वेंटिलेटर पर रहने के बाद भी दी कोरोना को मात
ब्राजील में 5 महीने की बच्ची एक महीने तक वेंटिलेटर पर रहने के बावजूद कोरोना को मात दी है. डॉक्टर इसे चमत्कार से कम नहीं मान रहे हैं. 5 महीने की बच्ची को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. जिसके बाद उसे हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था. सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची एक महीने तक कोमा में रही. इसके बावजूद वो बच निकली. बच्ची के माता-पिता ने इसे किसी चमत्कार से कम नहीं माना है. उन्होंने कहा है कि हो सकता है एक रिश्तेदार के यहां जाने के दौरान बच्ची संक्रमण की चपेट में आई हो. डोम नाम की बच्ची को रियो डी जेनेरो प्रो कॉर्डिको हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था. हॉस्पिटल में करीब 54 दिनों तक उसका इलाज चला. जिसके बाद ठीक होने पर उसे डिस्चार्ज किया गया है.

#आर्मेनिया के प्रधानमंत्री भी हुए कोरोना संक्रमित
आर्मेनिया के पीएम निकोल पाशिनियन कोरोना संक्रमित हो गए हैं. उनके परिवार के सभी लोग भी कोरोना संक्रमित बताए गए हैं. पाशिनियन ने सोमवार को सोशल मीडिया पर अपनी एक पोस्ट में कहा कि उन्हें बीमारी के कोई लक्षण नहीं थे, लेकिन उन्होंने सैन्य इकाइयों का दौरा करने से पहले अपनी जांच कराने का फैसला किया और जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इसके बाद उन्‍होंने घर से काम करने की बात कही है. आशंका जताई जा रही है कि उन्हें संक्रमण संभवत: एक वेटर से हुआ, जो एक बैठक के दौरान बिना दस्ताने पहने उनके लिए एक गिलास पानी लेकर आया था और बाद में उसे उसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई.

#यरुशलम में खोली गई पवित्र अल अक्सा मस्जिद
यरुशलम की अल अक्सा मस्जिद दो महीने बाद रविवार को खुल गई. इसे कोरोना वायरस की वजह से बंद कर दिया गया था, ताकि संक्रमण न फैले. हालांकि इस मस्जिद में आने वालों को जरूरी नियमों का पालन करना होगा. जो लोग यहां आएंगे उन्हें चेहरे पर मास्क लगाना जरूरी होगा. इसके अलावा नमाज के लिए जरूरी सामान भी साथ लाना होगा.

#चीन में कोरोना वायरस के 32 नए मामले
चीन में कोरोना वायरस के 32 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें से 16 में कोविड-19 का कोई लक्षण नहीं था. चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) के अनुसार रविवार को बाहर से आए 16 लोग संक्रमित पाए गए, जिनमें से सिचुआन प्रांत के 11, मंगोलिया स्वायत्त क्षेत्र के तीन और गुआंगदोंग प्रांत के दो लोग हैं. एनएचसी ने बताया कि देश में बिना किसी लक्षण के 16 लोग संक्रमित पाए गए हैं, जिसके बाद कुल 397 लोग चिकित्सीय निगरानी में हैं. ये बिना लक्षण वाले वे मरीज हैं, जिनमें कोरोना वायरस के बुखार, खांसी या गले में दर्द जैसे कोई लक्षण नहीं थे लेकिन फिर भी ये जांच में संक्रमित पाए गए। इनसे दूसरों के संक्रमित होने का खतरा भी है. स्थानीय राष्ट्रीय आयोग ने बताया कि वुहान में अभी तक बिना लक्षण के संक्रमित पाए जाने का कोई मामला सामने नहीं आया है लेकिन 320 लोग अब भी पृथक रह रहे हैं. एनएचसी ने बताया कि चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या अब भी 4,634 हैं.

#फिलीपीन्स ने भी लॉकडाउन ख़त्म किया
सोमवार को फिलीपीन्स की राजधानी मनीला अब तक के सबसे बड़े लॉकडाउन से बाहर निकल रही है. यहां 1 जून से यहां दुकानों और व्यवसाय खोले जाएंगे और सार्वजनिक परिवहन भी चालू हो जाएगा. रविवार को देश में कोरोना के 862 नए मामले सामने आए हैं जबकि 7 लोगों की मौत सांस में परेशानी की वजह से हुई है. यहां मार्च के मध्य से ही लॉकडाउन के कड़े नियम लगाए गए थे जिसका असर यहां की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ा है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार काम बंद होने के कारण यहां अर्थव्यवस्था को 34 सालों में सबसे अधिक नुक़सान पहुंचा है.

#मेक्सिको में भी आज से पाबंदियों में ढील
मेक्सिको सरकार 1 जून से कोरोना वायरस के कारण लगाए गए प्रतिबंधों में ढील दे रही है. इसके बाद अब देश में कार के कल-पुर्जे बनाने वाली फैक्ट्रिय़ां और शराब व्यवसाय फिर से शुरू हो सकेगा. हालांकि कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि मेक्सिको में अभी भी संक्रमण बढ़ने का ख़तरा है और इस कारण प्रतिबंधों में ढील देने के बारे फिर से सोचा जाना चहिए. देश में कोराना ये कारण अब तक देश में लगभग दस हजार लोगों की जान जा चुकी है जबकि 90,664 इससे संक्रमित हैं. मैक्सिको के राष्ट्रपति आंद्रेस मैनुअल लोपेज़ ओब्रादोर आज से देशव्यापी दौरा शुरू करने के लिए जिसके लिए उनकी कड़ी आलोटना की जा रही है. एक वरिष्ठ वैज्ञानिक ने बीबीसी से कहा कि राष्ट्रपति के दौरे से लॉकडाउन में रह रहे लोगों को ग़लत संदेश जाएगा.

#अमेरिका
अमेरिका में कोरोना संक्रमण के नए केस सामने आने का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा. यहां 20,000 से ज्यादा नए केस सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 18,37,000 से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटे में यहां संक्रमण से 638 लोगों की मौत हो गयी और कुल मौतों का आंकड़ा अब 1,06,100 से भी ज्यादा हो गया है.

#स्पेन के प्रधानमंत्री चाहते हैं कि देश में आपातकाल बढ़ाया जाए
स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज ने कहा कि वह देश में अंतिम बार आपातकाल की स्थिति बढ़ाने के लिए संसद से अनुरोध करेंगे. आपातकाल से सरकार को कोरोना वायरस के प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन जैसे कदम उठाने के अधिकार मिल जाते हैं. सांचेज ने कहा कि आपातकाल में यह आखिरी 15 दिन का विस्तार होगा. आपातकाल की मौजूदा अवधि सात जून को खत्म हो रही है. स्पेन में लॉकडाउन के उपाय ने कोविड-19 के प्रकोप को काबू करने में खासी कामयाबी हासिल की है. इस बीमारी ने देश में करीब 27,000 लोगों की जान ले ली है.

#बांग्लादेश में फिर खुले दफ्तर, परिवहन सेवा भी शुरू
बांग्लादेश में दो महीने के बाद रविवार को एक बार फिर दफ्तर खोल दिये गए और सीमित तरीके से परिवहन सेवा भी शुरू हो गई है, हालांकि रविवार को ही संक्रमण की वजह से देश में 40 लोगों की मौत भी हुई जो एक दिन में कोविड-19 से हुई मौत का सबसे ज्यादा आंकड़ा है. स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 650 हो गया है जबकि रविवार को संक्रमण के 2545 नए मामले मिलने के साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 47,153 हो गई। देश में रविवार को एक दिन में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले दर्ज किये गए.

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच दफ्तरों को फिर से खोले जाने और परिवहन सेवाओं को बहाल किये जाने पर सत्ताधारी आवामी लीग के महासचिव और सड़क परिवहन मंत्री उबैदुल कादिर ने चेताया कि 'संकट के समय किसी की भी मामूली सी चूक विनाशकारी साबित हो सकती है.' उन्होंने 26 मार्च से प्रभावी राष्ट्रव्यापी बंद के बाद सरकार द्वारा सरकारी और निजी दफ्तरों तथा सार्वजनिक परिवहन सेवाओं को 'सीमित मात्रा' में शुरू करने के फैसले के बीच लोगों से हर कदम बेहद सावधानी के साथ उठाने का अनुरोध किया.

#ब्रिटेन के विदेश मंत्री ने लॉकडाउन में छूट के फैसले का बचाव किया
ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए लगाये गये लॉकडाउन में सरकार द्वारा छूट दिये जाने के फैसले का रविवार को बचाव किया. उन्होंने संक्रमण दर फिर से बढ़ने की स्थिति में इससे निपटने के लिए स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन लगाने का सुझाव दिया. ब्रिटेन में सोमवार से लॉकडाउन प्रतिबंधों में कुछ छूट दी जायेगी। इन रियायतों में प्राथमिक विद्यालयों और बाहरी बाजारों को खोलने के साथ-साथ कुछ घरेलू प्रतिस्पर्धी खेलों की अनुमति देना शामिल हैं. ब्रिटेन में इस घातक वायरस से 38 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

राब ने बीबीसी से कहा, 'यदि किसी खास क्षेत्र में वायरस के मामलों में वृद्धि होती है, तो हमारे पास इससे निपटने के लिए उपाय करने की क्षमता है.' उन्होंने कहा कि स्थिति में कुछ सुधार हुआ है और कोविड-19 के नये मामलों और गंभीर रूप से बीमार मरीजों की संख्या में कमी आई है. सोमवार से दी जानी वाले छूट के तहत अब छह लोगों के समूह अब बाहर मिल सकते हैं. आगामी 15 जून से कुछ और रियायतें दी जानी है.

#इस शर्त पर WHO में फिर शामिल होने पर विचार करेगा अमेरिका
अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने रविवार को कहा कि अगर डब्ल्यूएचओ भ्रष्टाचार और चीन के प्रति झुकाव को खत्म करे तो उनका देश फिर से इसमें शामिल हो सकता है. दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से नाता तोड़ते हुए उसपर चीन के प्रति झुकाव रखने और कोरोना वायरस महामारी को लेकर जानकारियां छिपाने का आरोप लगाया था. अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ'ब्रायन ने एबीसी न्यूज से कहा, 'राष्ट्रपति ने कहा है कि डब्ल्यूएचओ में सुधार की जरूरत है. अगर उसमें सुधार होता है और भ्रष्टाचार तथा चीन के झुकाव खत्म होता है तो अमेरिका बहुत गंभीरता से इसमें दोबारा शामिल होने पर विचार करेगा.'

#नेपाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 166 नए मामले सामने आए
देश में रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 166 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 1,567 हो गई है। इस महामारी से आठ लोगों की मौत हो चुकी है. नेपाल सरकार ने कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों में वृद्धि के बीच राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की अवधि 14 जून तक बढ़ा दी है और प्रभावित क्षेत्रों में सेना तैनात करने का निर्णय लिया है. नेपाल में शनिवार को कोविड-19 के एक दिन में रिकार्ड 189 नए मामले सामने आए थे. दो साल की बच्ची समेत दो और रोगियों की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो गई जिससे मृतकों का आंकड़ा आठ पर पहुंच गया. बच्ची अपने परिजनों के साथ भारत से नेपाल पहुंची थी.

#पोप ने श्रद्धालुओं को संबोधित करने की परपंरा दोबारा शुरू की
कोरोना वायरस की वजह से मार्च के शुरू में इटली में लागू लॉकडाउन के बाद पहली बार पोप फ्रांसिस ने रविवार को वेटिकन सिटी के सेंट पीटर्स स्क्वॉयर पर श्रद्धालुओं को संबोधित किया. उन्होंने मुस्कुराते हुए लोगों का अभिवादन किया. पोप फ्रांसिस ने कहा, 'आज स्क्वॉयर खुल गया है और हम प्रसन्नता के साथ लौटे हैं.' हालांकि, लॉकडाउन से पहले सेंट पीटर्स स्क्वॉयर पर हजारों लोगों की भीड़ जुटती थी लेकिन रविवार को कुछ सौ लोगों की एकत्र हुए थे और वे भी दूर-दूर या केवल परिवार के साथ खड़े थे. इटली में तीन जून तक लोगों को एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र आने या विदेशियों के पर्यटन के लिए आने पर रोक है, इसलिए पीटर स्क्वॉयर पर केवल रोम और इलाके के ही लोग जुटे. पोप फ्रांसिस ने उन लोगों को याद किया जो वायरस से संक्रमित हैं या जो अमेजॉन क्षेत्र में मारे गए हैं, खासतौर पर सबसे असुरक्षित मूल निवासी.

#न्यूयॉर्क के गवर्नर फ्रंटलाइन कर्मचारियों के लिए लाएंगे नया कानून
न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्र्यू कुओमो ने शनिवार को उस विधेयक पर दस्तखत किये जो पुलिस अधिकारियों, जन स्वास्थ्य कर्मियों और कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले कर्मियों के परिजनों को मृत्यु बाद के लाभ उपलब्ध कराता है. राज्य के कानून बनाने वालों द्वारा पारित यह विधेयक दुर्घटना मृत्यु लाभ उपलब्ध कराता है जो सार्वजनिक कर्मियों को मिलने वाले नियमित मृत्यु लाभ से ज्यादा है. अमेरिका में न्यूयॉर्क के महामारी का केंद्र बनने के बाद बीते कुछ महीनों में दर्जनों पुलिसकर्मी, स्वास्थ्य कर्मी, पारगमन कर्मी और पैरामेडिकल कर्मी इस बीमारी से अपनी जान गंवा चुके हैं. कुओमो ने कहाकि राज्य में शुक्रवार को कोविड-19 से 67 लोगों की मौत हुई जबकि बृहस्पतिवार को भी इतने ही लोगों की जान गई थी. यह हालांकि अप्रैल में न्यूयॉर्क में बीमारी के चरम पर होने के दौरान रोजाना हो रही लगभग 700 मौत के मुकाबले काफी कम है.

#कोरोना वायरस संक्रमण के तंत्रिका संबंधी लक्षणों का पता चला
कोविड-19 के रोगियों में तंत्रिका संबंधी सामान्य शिकायतों में सिरदर्द, सूंघने और स्वाद संबंधी चेतना का खत्म हो जाना और दौरा पड़ना शामिल है. कई अध्ययनों की समीक्षा में ये बातें सामने आईं, जिनसे कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का बेहतर इलाज संभव हो सकेगा. अमेरिका के याले स्कूल ऑफ मेडिसिन के मुताबिक, कोविड-19 में श्वसन संबंधी लक्षणों का पता चल गया है, लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण में तंत्रिका संबंधी बीमारी के बारे में ठीक से पता नहीं है.

जर्नल ऑफ अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के प्रकाशित समीक्षा शोध में संभावित प्रणाली का जिक्र किया गया है जिससे सार्स कोव-2 की तुलना इसी तरह के कोरोना वायरस एमईआरएस-कोव और सार्स-कोव-1 के साथ करके देखी गयी, जो केंद्रीय तंत्रिका प्रणाली (सीएनएस) को प्रभावित करने के लिए जाने जाते हैं. अध्ययन में वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस के तंत्रिका प्रणाली पर संक्रमण के बारे में मौजूद सूचनाओं को एकत्रित किया और संभावित उत्तक लक्ष्यों और सीएनएस में सार्स-कोव-2 के प्रवेश मार्गों की पहचान की.

 

ये भी पढ़ें:

इस मोर्चे पर कंधे से कंधा मिलाकर दुश्‍मन का मुकाबला करते हैं भारत और पाकिस्‍तान के सैनिक

कोरोना मरीजों के लिए इन दो दवाओं का कॉम्बिनेशन हो सकता है जानलेवा

जानें अमेरिका में जॉर्ज फ्लायड की मौत के विरोध में जला दिए गए 'गांधी महल' की पूरी कहानी

इस महिला ने सियासत की बिसात पर मुगलों को मोहरों की तरह किया था इस्‍तेमाल

जानें अफ्रीकी देशों में बहुत धीमी रफ्तार से कैसे बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस के मामले
First published: June 1, 2020, 6:32 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading