दरवाजे का हैंडल या लिफ्ट का बटन दबाने से नहीं फैलता कोरोना वायरस- शोध में दावा

दुनिया में अब तक 3,53,16,038 लोग कोरोना संक्रमित  (फोटो सौ. न्यूज18 इंग्लिश)
दुनिया में अब तक 3,53,16,038 लोग कोरोना संक्रमित (फोटो सौ. न्यूज18 इंग्लिश)

अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में हुए एक शोध (Research) में दावा किया गया है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी सतह से अब नहीं फैलता है. शोध के मुताबिक सतह पर पड़े किसी भी वायरस (Virus) में इतना दम नहीं होता कि वह इंसान को बीमार कर सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 11:30 AM IST
  • Share this:
कैलिफोर्निया. कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण दुनियाभर में तेजी से फैल रहा है. कोरोना (Corona) के संक्रमण से बचने के लिए लोगों को मास्क और हैंडग्लब्ज पहनने की सलाह दी जा रही है. यहां तक कि घर के दरवाजों के हैंडल और लिफ्ट के बटन को दबाने के दौरान भी सावधानी बरतने को कहा जा रहा है. हालांकि कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के इस खौफ के बीच वैज्ञानिकों (Scientist) ने राहत देने वाली खबर दी है. अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में हुए एक शोध (Research) में दावा किया गया है कि कोरोना वायरस महामारी सतह से अब नहीं फैलता है. शोध में बताया गया है कि कोरोना वायरस के फैलने का मुद्दा वास्तव में खत्म हो गया है. शोध के मुताबिक सतह पर पड़े किसी भी वायरस में इतना दम नहीं होता कि वह इंसान को बीमार कर सके.

इस शोध में शामिल प्रोफेसर मोनिका गांधी ने कहा कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए हाथ धोने और अपने चेहरे को नहीं छूने से ज्यादा जरूरी कदम है सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना और मास्क पहनने की आदत डालना. मोनिका ने कहा कि हमारे शोध के बाद पूरी दुनिया में सतह पर लगातार बैक्टीरिया रोधी स्‍प्रे का छिड़काव अनावश्‍यक हो सकता है. बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को खत्म करने के लिए पूरी दुनिया में इस तरह का स्प्रे का छिड़काव किया जा रहा है, जो कि जरूरी नहीं दिखता.

यूएस साइंस वेबसाइट नउटिलुस से बात करते हुए प्रोफेसर मोनिका ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर दुनियाभर में कई तरह की बातें चल रही हैं. हमने शोध में पाया है कि कोरोना वायरस के प्रसार की मुख्य वजह सतह या फिर आंखों को छूना नहीं है. हम ये कह सकते हैं कि कोरोना वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान को होता है. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनना ही इसका एकमात्र उपाय है. उन्‍होंने कहा, कोरोना वायरस का संक्रमण ऐसे इंसान से फैलता है जो कोरोना वायरस से पीड़‍ित है और उसकी नाक बह रही है या उसे उल्‍टी आ रही है.
इसे भी पढ़ें :- देश में कोरोना के मामले 66 लाख के पार, 24 घंटे में मिले 74 हजार से ज्यादा मरीज, 902 मौतें



दुनिया में अब तक 3,53,16,038 लोग कोरोना संक्रमित
इसी तरह साइंस पत्रिका लांसेट में भी एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई है, जिसके मुताबिक सतह पर अगर कोरोना वायरस का संक्रम​ण मिलता है तो उसका खतरा बेहद कम होता है. बता दें कि दुनिया में संक्रमितों का आंकड़ा 3 करोड़ 53 लाख 16 हजार 38 हो गया है. राहत की बात है कि इनमें 2 करोड़ 62 लाख 85 हजार 356 लोग ठीक भी हो चुके हैं. अभी 79 लाख 90 हजार 309 मरीजों का इलाज चल रहा है. मरने वालों का आंकड़ा 10.40 लाख के पार हो चुका है. पिछले 24 घंटे में भारत और अमेरिका के बाद फ्रांस, रूस में सबसे ज्यादा कोरोना मामले सामने आए हैं. वहीं सबसे ज्यादा मौत मेक्सिको में हुई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज