दुनिया में कोरोना: WHO ने चेताया- एकजुटता के अभाव में विश्व में हालात और बिगड़ सकते हैं

दुनिया में कोरोना: WHO ने चेताया- एकजुटता के अभाव में विश्व में हालात और बिगड़ सकते हैं
बीते 24 घंटे में दुनिया भर में कोरोना संक्रमण से 3400 से ज्यादा मौतें हुईं

विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation) ने चेतावनी दी है कि वैश्विक एकजुटता के अभाव में कोरोना वायरस (Coronavirus) की खतरनाक स्थिति आ सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 30, 2020, 11:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण (CoronaVirus) के चलते अमेरिका (US) में फिर हालात फिर ख़राब हो गए हैं. सोमवार को अकेले अमेरिका में संक्रमण के 45 हज़ार नए केस सामने आए हैं जबकि दुनिया भर में नए केसों की संख्या 1 लाख 69 हज़ार रही. बीते 24 घंटे में संक्रमण से दुनिया भर में 3400 से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवा दी. ब्राजील (Brazil) में 25 हज़ार से ज्यादा और भारत (India) में 18 हज़ार नए मामले सामने आए हैं.

#कोविड-19: पाकिस्तान में  2,846 नए मामले, 118 की मौत

पाकिस्तान में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,846 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या देश में 209,337 हो गई. वहीं इस अवधि में 118 लोगों की मौत भी हुई जिसके बाद मृतकों की संख्या 4,304 पहुंच गई.



#कोविड-19: अमेरिका में 24 घंटे में मिले 41 हजार से ज्यादा मरीज



अमेरिका में 24 घंटे में 41 हजार 586 नए मामले सामने आए हैं. वहीं कोरोना वायरस से 338 संक्रमित लोगों की जान चली गई है. देश में अब तक 26 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. अमेरिका में अबतक 1.28 लाख मौतें हो चुकी हैं. संक्रमण के मामले बढ़ने के बाद कई राज्यों कैलिफोर्निया, टेक्सास आदि को खोले जाने की योजनाओं को फिलहाल रोक दिया गया है.

#WHO: एकजुटता के अभाव में विश्व में हालात और बिगड़ सकते हैं

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है कि वैश्विक एकजुटता के अभाव में कोरोना वायरस की खतरनाक स्थिति आ सकती है. ओरिजोना बार्स और न्यू जर्सी में इनडोर डाइनिंग के साथ अमेरिका के ज्यादा क्षेत्रों में दोबारा खोलने के लिए कदम उठाए जा रहा हैं. इधर, बढ़ते कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया राज्य ने मेलबर्न समेत राज्यभर में चार हफ्ते का लॉकडाउन लगा रहा है.

#सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनना अनिवार्य हो
न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रू कूमो ने सोमवार को राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप से एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर करने की अपील की, जिसके तहत लोगों के लिए सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनना अनिवार्य किया जाए. ख़ुद सार्वजनिक जगहों पर मास्क ना पहनने वाले राष्ट्रपति से कूमो ने कहा कि वो लोगों के लिए उदहारण बनें और कोरोना के मामलों को बढ़ने से रोकने के लिए ख़ुद मास्क पहनें. लॉस एंजिलिस काउंटी में सोमवार को एक दिन में सामने आए 3,000 नए मामलों ने चिंता बढ़ा दी है. इसी के साथ वहां कुल मामलों की संख्या एक लाख से ज़्यादा हो गई है. स्वास्थ्य अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि जल्द ही वहां ऐसी स्थिति हो जाएगी कि अस्पतालों में जगह नहीं बचेगी.

#कैलिफोर्निया की जेलों में 2600 कैदी संक्रमित
अमेरिका के कैलिफोर्निया प्रांत की जेलों में करीब 2600 कैदी संक्रमित पाए गए हैं. गवर्नर गेविन न्यूसॉम ने मंगलवार को बताया कि इनमें से एक हजार से ज्यागा कैदी केवल सैन क्विनटिन की जेल में ही संक्रमित पाए गए हैं. कैलिफोर्निया की जेलों में करीब 1 लाख 13 हजार कैदी हैं. महामारी के चलते जेलों से अब तक करीब 3500 कैदियों को छोड़ा जा चुका है.

#टेस्ट के बाद ही हो पाएगा UAE में प्रवेश
अबू धाबी के एक स्थानीय सरकारी मीडिया अधिकारी ने सोमवार को कहा कि उन लोगों को अमीरात में प्रवेश करने की इजाज़त दी जाएगी, जिनका कोरोना टेस्ट पिछले 48 घंटे में नेगेटिव आया हो. अबू धाबी संयुक्त अरब अमीरात संघ का सबसे बड़ा और अमीर सदस्य है, यहां बीते 2 जून से लोगों के आने पर प्रतिबंध था.

#ब्रिटेन के शहर में फिर लॉकडाउन
ब्रिटेन की सरकार ने सोमवार को लेस्टर शहर में लॉकडाउन लगा दिया. ये क़दम इसलिए उठाया गया क्योंकि देश के दूसरे हिस्सों के मुक़ाबले यहां संक्रमण की दर कहीं ज़्यादा है. कोरोना के फैलाव को राष्ट्रीय के बजाय स्थानीय स्तर पर रोकने की ब्रिटिश सरकार की ये पहली बड़ी कोशिश मानी जा रही है.

#नेपाल में कोरोना वायरस के 475 नये मामले
नेपाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 475 नये मामले सामने आये और इसके साथ ही देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 13 हजार के पार हो गयी है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी. स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता जगेश्वर गौतम ने अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नये मामलों में 363 पुरूष हैं जबकि 112 महिलायें हैं. प्रवक्ता ने बताया कि देश में कोविड—19 से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 13 हजार 248 हो गयी है जबकि देश में इस बीमारी से अबतक 29 लोगों की मौत हो गयी है. मंत्रालय ने बताया कि देश में तीन हजार 134 कोरोना वायरस मरीज ठीक हो चुके हैं. सोमवार को देश में दस हजार 85 कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा है.

#पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामले दो लाख के पार
पाकिस्तान में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर यूएई ने वहां से आने वाली सभी उड़ानों का अस्थायी रूप से स्थगित कर दिया गया है. पाकिस्तान में 24 घंटे में कोरोना वायरस के 3,557 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर दो लाख के पार पहुंच गए हैं. पाकिस्तान में 3,557 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर 2,06,512 हो गए. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अनुसार 2,06,512 मामलों में से सिंध में सबसे अधिक 80,446 मामले सामने आए हैं. पंजाब में 74,778 , खैबर पख्तूनख्वा में 25,778, इस्लामाबाद में 12,643, बलूचिस्तान मे 10,376 , गिलगित-बाल्तिस्तान में 1,442 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 1,049 मामले सामने आए हैं.

#बच्चों में 'कोविड-टोज' के लक्षण कोरोना से जुड़े नहीं
कोविड-19 महामारी के दौरान बच्चों की त्वचा का लाल हो जाना और सूजन आना कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़ा नहीं हो सकता है. बच्चों में इस लक्षण को 'कोविड-टोज' नाम से जाना जाता है. एक अध्ययन में पाया गया कि जिन नवजातों में ये लक्षण पाए गए उनकी कोविड-19 की रिपोर्ट नेगेटिव आई. स्पेन के ला फे विश्वविद्यालय अस्पताल के शोधकर्ताओं ने 32 रोगियों पर शोध किया जिनमें 20 बच्चे और किशोर थे. यह शोध नौ अप्रैल और 15 अप्रैल के बीच किया गया. कोविड-19 पर पहले किए गए शोधों के आधार पर उन्होंने कहा कि त्वचा के इन लक्षणों को किशोरों और बच्चों में सार्स कोव-2 के संभावित लक्षण बताया गया.

बहरहाल, जामा डर्मेटोलॉजी पत्रिका में प्रकाशित वर्तमान शोध में ऐसा कोई साक्ष्य नहीं पाया गया जो त्वचा की समस्या का कोविड-19 से संबंध दर्शाता है. अध्ययन में शोधकर्ताओं ने उस प्रणाली को जानने का प्रयास किया जिसके द्वारा त्वचा की समस्या होती है. इसके लिए उन्होंने रोगियों में कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए आटी-पीसीआर जांच की और लक्षण के संभावित मूल का पता लगाने के लिए रक्त की भी जांच की. अध्ययन के मुताबिक शोधकर्ताओं ने छह रोगियों पर त्वचा उत्तक नमूने का भी विश्लेषण किया.

#बांग्लादेश के रक्षा सचिव का कोविड-19 से निधन
कोरोना वायरस के संक्रमण से उत्पन्न जटिलताओं की वजह से बांग्लादेश के रक्षा सचिव अब्दुल्ला अल मोहसिन चौधरी का सोमवार को यहां के सैन्य अस्पताल में निधन हो गया. वह 57 साल के थे. चौधरी के परिवार में पत्नी, एक बेटा और एक बेटी है. बीडीन्यूज24 डॉट कॉम की खबर के मुताबिक कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि के बाद चौधरी को दो जून को ढाका स्थित संयुक्त सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बाद में, हालत बिगड़ने पर चौधरी को गहन चिकित्सा कक्ष में स्थानांतरित किया गया और प्लाज्मा थेरेपी दी गई. ढाका ट्रिब्यून ने रक्षा मंत्रालय के प्रशासनिक अधिकारी मोहम्मद भासानी मिर्जा के हवाले से बताया कि चौधरी का निधन इलाज के दौरान दिल का दौरा पड़ने से हुआ. प्रधानमंत्री शेख हसीना ने चौधरी के निधनपर शोक जताया है. अपने शोक संदेश में हसीना ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना की और पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की.

#गरीब और युद्ध प्रभावित देशों में कोरोना वायरस के बदतर हालात सामने आ रहे
विश्व के समृद्ध देशों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध होने के बावजूद कोरोना वायरस ने तेजी से इन्हें अपनी चपेट में ले लिया. अब कोरोना वायरस गरीब और युद्ध से प्रभावित देशों में तेजी से पैर पसार रहा है और इन देशों में वायरस से निपटने को लेकर स्वास्थ्य, पृथक-वास और परीक्षण सुविधाओं का भी अभाव है. विशेषज्ञों ने कई महीने पहले ही इस बाबत चेतावनी दी थी और अब काफी हद तक ये डर सामने आने लगा है. दक्षिणी यमन में सुरक्षा उपकरणों की कमी का हवाला देते हुए बड़ी संख्या में स्वास्थ्यकर्मी अपने पदों को छोड़ रहे हैं और कुछ अस्पताल श्वास संबंधी मरीजों को लौटा रहे हैं.

वहीं, सूडान के युद्ध प्रभावित दारफुर प्रांत में परीक्षण की क्षमता बेहद कम है और यहां कोविड-19 के जैसे लक्षणों वाली रहस्यमय बीमारी शिविरों के जरिए फैल रही है. इस बीच, भारत और पाकिस्तान में भी कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इन देशों के अधिकारियों का कहना है कि गरीबी अधिक होने के कारण लंबे समय तक देशव्यापी लॉकडाउन लागू रखना संभव नहीं है. उधर, लातिन अमेरिका में ब्राजील में वायरस के मामले अमेरिका के बाद सबसे अधिक हैं. इस देश में घातक वायरस से जान गंवाने वालों की संख्या भी काफी अधिक है. इसके नेताओं पर वायरस को काबू करने के लिए कारगर कदम उठाए जाने के इच्छुक नहीं होने के आरोप लग रहे हैं.

#कोरोना वायरस की नई दवा की पहचान
शोधकर्ताओं ने पाया है कि कोरोना वायरस अपने लक्षित उत्तकों में प्रोटीन को निशाना बनाता है और फिर लंबी श्रृंखला बनाकर नजदीक के उत्तक तक पहुंचता है और संक्रमण फैलाता है. इस शोध से क्लीनिकली स्वीकृत ऐसी दवाओं की पहचान हो सकेगी, जो वायरस की इस प्रक्रिया को बाधित कर सकती है. अमेरिका के ईएमबीएल के यूरोपीय बायोइन्फॉर्मेटिक्स इंस्टीट्यूट (ईएमबीएल-ईबीआई) और कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय सैन फ्रांसिस्को के वैज्ञानिकों ने वायरस, जिनमें कोरोना वायरस सार्स कोव-टू के वायरस भी शामिल हैं, वे उत्तकों पर नियंत्रण करते हैं और नये वायरल कण उत्पादित करने के लिए इसमें छेड़छाड़ करते हैं.

उन्होंने कहा कि इस बार इससे प्रोटीन की गतिविधियां और एंजाइम जैसे महत्वपूर्ण अणु प्रभावित होते हैं और इसके ढांचे में बदलाव कर प्रोटीन की कार्यविधि में बदलाव लाते हैं. पत्रिका सेल में रविवार को प्रकाशित अध्ययन में वैज्ञानिकों ने सभी मूल एवं वायरल प्रोटीन का विश्लेषण किया जिसने सार्स कोव-टू संक्रमण के बाद एंजाइम की प्रक्रिया में बदलाव को दर्शाया, जिसे फॉसफोरिलेशन कहा जाता है.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading