Covid-19 : भारत में एक महीने में 5 गुना बढ़ गए केस, जून हो सकता है और जानलेवा

Covid-19 : भारत में एक महीने में 5 गुना बढ़ गए केस, जून हो सकता है और जानलेवा
विभाग ने बताया कि राज्य में अभी 5,374 मरीज संक्रमण का इलाज करा रहे हैं.

भारत (India) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के केस अब 2 लाख पहुंचने वाले हैं. देश में सिर्फ मई में कोरोना के 1.53 लाख केस सामने आए. दुनिया में इस दौरान 28.50 केस बढ़ गए. जून में हालात और बिगड़ सकते हैं.  

  • Share this:
नई दिल्ली. 2020 का एक जून भारत के लिए बेहद खास है. यह वो तारीख है, जब देश लॉकडाउन (Lockdown) से अनलॉक (Unlock-1) होने की ओर बढ़ चला है. तो क्या भारत में कोराना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण का खतरा कम हो गया है? अभी ऐसा कहना मुश्किल होगा. भारत (India) में पिछले 30 दिनों में कोरोना वायरस के केस पांच गुना बढ़ गए हैं. अभी जो ट्रेंड्स दिख रहे हैं, उससे कहा जा सकता है कि जून में कोविड-19 (Covid-19) के केस और तेजी से बढ़ने वाले हैं. ऐसे में कोरोना वायरस को लेकर किसी नतीजे पर पहुंचना जल्दबाजी होगी.

भारत में एक जून तक कोरोना वायरस के 1 लाख 90 हजार 535 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 5394 लोगों की मौत हो चुकी है. भारत में पिछले 24 घंटे में ही कोरोना के 8392 केस मिले हैं और 230 लोगों की जान गई है. यह 24 घंटे में अब तक सबसे ज्यादा मौत का आंकड़ा है. इससे समझा जा सकता है कि मई में कोरोना वायरस ने कितनी तेजी से लोगों को चपेट में लिया.

एक मई को 37 हजार केस थे
भारत में एक मई को कोरोना के मरीजों की संख्या 37, 257 थी. जो अब 1.90 लाख के पार है. स्पष्ट है कि मई के महीने में भारत में कोरोना के मरीज 5 गुना से भी ज्यादा तेजी से बढ़े. भारत में सिर्फ पांच दिनों में कोरोना केस डेढ़ लाख से बढ़कर 1 लाख 90 हजार तक पहुंच गए हैं. कोरोना महामारी से प्रभावित देशों की सूची में भारत अब सातवें नंबर पर आ गया है.



दुनिया में 2 गुना केस बढ़े


दुनिया में एक मई तक 33.94 लाख लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे. जो एक जून को 62.50 लाख हो गए. यानी दुनिया में एक महीने में कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या दो गुनी हो गई है. हालांकि, वैश्विक स्तर पर तुलना करने पर हमें अलग-अलग ट्रेंड्स दिखते हैं. जैसे कि यूरोप में अब इस महामारी की रफ्तार सुस्त हो रही है. वहीं, दक्षिण अमेरिका और एशिया महाद्वीप में यह सबसे तेजी से बढ़ रही है.

यह भी पढ़ें:- राज्यसभा की 18 सीटों के लिए 19 जून को मतदान, जानें किस राज्य में कितनी सीटें

मई में तारीख के साथ केस भी बढ़ते गए
भारत समेत एशियाई और दक्षिण अमेरिकी देशों में कोरोना वायरस खतरनाक रूप लेता जा रहा है. इसे ऐसे समझ सकते हैं. भारत में एक मई को कोरोना के करीब 2300 केस आए थे. 15 मई को यह संख्या बढ़कर 3800 के करीब पहुंच गई. जैसे-जैसे तारीख बढ़ी, कोरोना केस की संख्या बढ़ती चली गई. मई के अंतिम तीनों दिनों में 8-8 हजार से अधिक केस सामने आए.

जून हो सकता है भारत के लिए और खतरनाक
विशेषज्ञ मान रहे हैं कि एशियाई और दक्षिण अमेरिकी देशों के लिए जून और जून का महीना बेहद अहम है. अगर हम इसे भारत के उदाहरण से समझें तो यहां अप्रैल और मई में नए केस आने की संख्या लगातार बढ़ रही. वह भी लॉकडाउन जारी रहते हुए. एक जून से भारत में लॉकडाउन की जगह अनलॉक-1 लागू कर दिया गया है. आप इसके नाम से अंदाजा लगा सकते हैं कि भारत में अब लॉकडाउन की पाबंदियां धीरे-धीरे हटाई जा रही हैं. इससे सोशल डिस्टेंसिंग भी कम हो जाएगी. कोरोना की कोई दवा मार्केट में है नहीं. इस कारण यह तय नजर आ रहा है कि जून में इसका संक्रमण और तेजी से बढ़ेगा.

यह भी पढ़ें:- Quarantine अवधि पूरी कर चुके तबलीगी जमात के लोगों को फौरन घर भेजें: हाईकोर्ट

जून में भी रहेगा सबसे आगे अमेरिका
दुनिया में इस समय कोविड-19 (Covid-19) के करीब 63 लाख केस हैं. इनमें से अकेले अमेरिका (America) में 18.38 लाख केस हैं. ब्राजील (5.15 लाख) दूसरे और रूस (4.15 लाख) तीसरे नंबर पर हैं. इस लिस्ट में स्पेन चौथे, ब्रिटेन पांचवें, इटली छठे और भारत सातवें नंबर है. इनके बाद क्रमश: फ्रांस, जर्मनी और पेरू हैं. इन सभी देशों में 1.60 लाख से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं.

अमेरिका के बाद ब्रिटेन में सबसे अधिक मौत
कोरोना से अब तक दुनिया में 3.75 लाख लोगों की मौत हुई है. इनमें 1.06 लाख अमेरिकी हैं. अमेरिका के बाद सबसे अधिक मौत ब्रिटेन में हुई है. यहां अब तक 38,415 लोग मारे जा चुके हैं. इटली में 33 हजार, ब्राजील में 29 हजार, फ्रांस में 28 हजार और स्पेन में 27 हजार से अधिक लोग कोविड-19 की वजह से जान गंवा चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading