लॉकडाउन हटाने की जिद पर अड़े ट्रंप, कहा- 25000 लोगों के साथ करूंगा चुनावी रैली

लॉकडाउन हटाने की जिद पर अड़े ट्रंप, कहा- 25000 लोगों के साथ करूंगा चुनावी रैली
ट्रंप दो हफ्ते से ले रहे हैं मलेरिया की दवा, व्हाइट हाउस ने दी जानकारी

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) जल्द से जल्द लॉकडाउन ख़त्म करने की जिद पर अड़े हुए हैं. ट्रंप ने बुधवार को ऐलान किया कि वे अगले हफ्ते से चुनावी कैंपेन (US Elections) शुरू कर देंगे और जल्द ही 25000 लोगों के साथ चुनावी रैली भी करते नज़र आएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 1:44 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. एक तरफ अमेरिका (US) में बीते दो दिनों से कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के नए मामलों और इससे हो रही मौतों ने फिर गति पकड़नी शुरू कर दी है वहीं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) जल्द से जल्द लॉकडाउन ख़त्म करने की जिद पर अड़े हुए हैं. ट्रंप ने बुधवार को ऐलान किया कि वे अगले हफ्ते से चुनावी कैंपेन (US Elections) शुरू कर देंगे और जल्द ही 25000 लोगों के साथ चुनावी रैली भी करते नज़र आएंगे. बता दें कि बुधवार को भी अमेरिका में संक्रमण (Covid-19) के 28000 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं जबकि 2500 से ज्यादा लोगों की इससे मौत हो गयी है.

ट्रंप ने कहा कि वह अगले हफ्ते से देशभर में अपनी विमान यात्राएं शुरू करेंगे और वह जल्द ही अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए 'आक्रामक' प्रचार अभियान रैलियां आयोजित करने पर विचार कर रहे हैं. ट्रंप ने व्हाइट हाउस में पत्रकारों को बताया कि वह 'अगले हफ्ते एरिजोना जा रहे हैं.' कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण अमेरिका बंद होने के बाद से यह उनका पहला दौरा है. उन्होंने कहा कि नवंबर के राष्ट्रपति चुनावों में महत्वपूर्ण राज्यों में से एक ओहायो का 'जल्द ही' दौरा करेंगे. ट्रंप ने बताया कि एरिजोना का दौरा अर्थव्यवस्था की बहाली के प्रयास पर केंद्रित है और यह कोई प्रचार रैली नहीं है क्योंकि स्टेडियमों में भीड़भाड़ वाले कार्यक्रमों के लिए 'यह बहुत जल्दबाजी' है.

'उम्मीद है जल्द 25000 लोगों के साथ रैली करूंगा'
डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन के खिलाफ कड़े मुकाबले का सामना कर रहे रिपब्लिकन उम्मीदवार ट्रंप ने स्पष्ट किया कि जितना जल्दी हो सके वह पहले की तरह रैलियां करना चाहते हैं. उन्होंने कहा, 'उम्मीद है कि निकट भविष्य में हम कुछ बड़ी रैलियां करेंगे और लोग एक-दूसरे के बगल में बैठेंगे. मैं उम्मीद करता हूं कि हम पुराने तरीके से कुछ 25,000 लोगों के साथ रैलियां कर सकें.'
उधर विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस का टीका बनने तक व्यापक पैमाने पर सामाजिक दूरी बनाए रखनी होगी. इसके बावजूद ट्रंप ने अनुमान जताया कि यह खतरा अपने आप खत्म हो जाएगा और अमेरिका किसी भी खतरे से निपटने के लिए सक्षम है. यह पूछे जाने पर कि टीके के बिना विषाणु को कैसे खत्म किया जाएगा, इस पर ट्रंप ने जवाब दिया, 'यह जा रहा है. यह खत्म होने जा रहा है.'



WHO पर फिर बोला हमला
ट्रंप ने बुधवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को 'चीन के हाथों की कठपुतली' बताया और कहा कि अमेरिका पहले डब्ल्यूएचओ के बारे में जल्द ही कुछ सिफारिशें लेकर आएगा और उसके बाद चीन के बारे में भी ऐसा ही कदम उठाया जाएगा. ट्रंप ने कोरोना वायरस महामारी पर डब्ल्यूएचओ पर कहा, ' उन्होंने हमें गुमराह किया. हम जल्दी एक सिफारिश लेकर आएंगे, लेकिन हम विश्व स्वास्थ्य संगठन से खुश नहीं हैं.'

इस दौरान ट्रंप से पूछा गया 'आपने खुफिया एजेंसियों से जो जांच शुरू कराई है, उससे आप चीन और विश्व स्वास्थ्य संगठन के बारे में क्या जानने की उम्मीद कर रहे हैं? ' ट्रंप ने कहा कि अमेरिका डब्ल्यूएचओ को औसतन 40-50 करोड़ अमेरिकी डॉलर की सहायता देता है और चीन 3.8 करोड़ अमेरिकी डॉलर देता है. फिर भी डब्ल्यूएचओ चीन के लिए काम करता नज़र आता है. उन्हें मालूम होना चाहिए था कि चल क्या रहा है और उन्हें इसे रोकने में सक्षम होना चाहिए था.

 

ये भी पढ़ें:

Coronavirus: हवा में मौजूद वायरस इन तरीकों से हो सकता है कमजोर

कोरोना से बचाने के लिए पुरुषों को क्यों दिया जा रहा है महिलाओं का सेक्स हार्मोन

इस अमेरिकी महिला सैनिक को माना जा रहा कोरोना का पहला मरीज, मिल रही हत्या की धमकियां
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज