लाइव टीवी

वायरस एक्सपर्ट की चेतावनी- अमेरिका में बार-बार लौट कर आएगा कोरोना

News18Hindi
Updated: March 26, 2020, 4:13 PM IST
वायरस एक्सपर्ट की चेतावनी- अमेरिका में बार-बार लौट कर आएगा कोरोना
कोरोना वायरस एक्सपर्ट ने कहा है कि अमेरिका में बार-बार लौट कर आएगा कोरोना वायरस

अमेरिका (America) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के एक्सपर्ट डॉक्टर एंथनी फौसी (Dr Anthony Fauci) ने नई चेतावनी जारी की है. उन्होंने कहा है कि अमेरिका में कोरोना वायरस बार-बार लौटेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 4:13 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (America) कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बुरी तरह से जूझ रहा है. ऐसे वक्त में अमेरिका में कोरोना वायरस के एक्सपर्ट डॉक्टर एंथनी फौसी (Dr Anthony Fauci) ने नई चेतावनी जारी की है. उन्होंने कहा है कि अमेरिका में कोरोना वायरस बार-बार लौटेगा. बुधवार को व्हाइट हाउस की प्रेस ब्रीफिंग में डॉक्टर एंथनी फौसी ने कहा कि अमेरिका में कोरोना वायरस कई चरणों में वापस लौटेगा.

डॉक्टर एंथनी का बयान ऐसे वक्त में आया है जब अमेंरिका में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 1035 तक पहुंच चुका है. अमेरिका में एक दिन में कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आकर 252 लोगों की मौत हो रही है. पूरी दुनिया में फिलहाल कोरोना वायरस की वजह से अमेरिका का हाल सबसे बुरा है.

अमेरिका में कई चरणों में वापस लौटेगा कोरोना वायरस का संक्रमण
डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक व्हाइट हाउस की प्रेस ब्रीफिंग में बात करते हुए अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज के डायरेक्टर डॉ. एंथनी ने कहा कि अमेरिका को इस बात की तैयारी कर लेनी चाहिए कि वो कोरोना वायरस को सीजनल मान लें. ये बार-बार लौटेगा.



डॉक्टर एंथनी का बयान इस वक्त बहुत मायने रखता है क्योंकि पिछले दिनों अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना वायरस को लेकर ठंडा रूख जाहिर किया था. उन्होंने ऐसी इच्छा जाहिर की थी कि ईस्टर तक अमेरिका में लॉक डाउन को हटा लिया जाएगा. ट्रंप ने कहा है कि वो अब भी चाहते हैं कि एक तय समयसीमा में अमेरिका से लॉक डाउन हटा लिया जाए. लेकिन अमेरिका के हर राज्य में ऐसा करना मुमकिन नहीं होगा.

ट्रंप की इस राय पर न्यूयॉर्क टाइम्स में कुछ एक्सपर्ट ने अपने सुझाव दिए थे. एक्सपर्ट का कहना है कि ईस्टर के दो हफ्ते बाद की बजाए अगर लॉक डाउन पहले खत्म किया जाता है तो कोरोना वायरस के संक्रमण से करीब 4 लाख 50 हजार अमेरिकियों के मारे जाने की आशंका है.

अमेरिका ने शुरू की कोरोना वायरस अटैक के दूसरे चरण की तैयारी
व्हाइट हाउस की प्रेस ब्रीफिंग में कोरोना वायरस पर अपनी बात रखते हुए डॉ. एंथनी फौसी ने कहा- 'क्या आपको लगता है कि कोरोना वायरस फिर लौटकर आएगा. मुझे लगता है कि अमेरिका में ये बार-बार लौटकर आएगा. जैसे ही दक्षिणी गोलार्द्ध और उसके देश सर्दियों में जाएंगे, अमेरिका में कोरोना वायरस का संक्रमण फिर वापस लौटेगा.'

डॉक्टर एंथनी ने कहा कि हमें इसकी तैयारी पहले से ही कर लेनी चाहिए. अगली बार जब कोरोना वायरस लौटेगा तो वो एक बार नहीं लौटेगा बल्कि वो कई चरण में वापस लौटकर आएगा. डॉक्टर फौसी ने कहा है कि दूसरी बार कोरोना वायरस के लौटने से पहले हमें इसकी वैक्सीन तैयार कर लेनी होगी. पर्याप्त संख्या में टेस्ट किट बना लेने होंगे. ताकि दूसरी बार हम इससे बेहतर तरीके से लड़ सकें.

डॉक्टर फौसी ने उम्मीद जाहिर की है कि अमेरिका कोरोना वायरस के संक्रमण को काबू में करने में कामयाब होगा. लेकिन उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि हमें दूसरे चरण के लिए तैयार रहना होगा. डॉक्टर फौसी ने कहा कि हम इसकी भी तैयारी कर रहे हैं.

व्हाइट हाउस में कोरोना वायरस को लेकर बनाए गए टास्क फोर्स के कॉर्डिनेटर डॉ देबोराह बिर्क्स ने भी डॉक्टर एंथनी फौसी की बात का समर्थन किया है. उन्होंने कहा है कि अमेरिका में कोरोना वायरस के दूसरे चरण के लिए तैयारी शुरू हो गई है.

ये भी पढ़ें:-

अलर्ट! चीन में ठीक हुए लोगों में से 10% को फिर से हो गया कोरोना संक्रमण, नहीं पता कैसे हुआ

Coronavirus: क्‍या यहां-वहां मंडराती मक्खियां भी फैला सकती हैं संक्रमण

जानें महात्‍मा गांधी ने 102 साल पहले ऐसे दी थी दुनिया की सबसे बड़ी महामारी को मात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 3:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,000

     
  • कुल केस

    1,603,115

    +42
  • ठीक हुए

    356,422

     
  • मृत्यु

    95,693

    +1
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर