Covid-19: ऑस्ट्रेलिया में हालात बिगड़े, क्वारंटीन के नियम तोड़े तो लगेगा 2.5 लाख का जुर्माना

ऑस्ट्रेलिया में क्वारंटीन के नियम तोड़े तो भारी जुर्माना
ऑस्ट्रेलिया में क्वारंटीन के नियम तोड़े तो भारी जुर्माना

बढ़ते मामलों के मद्देनज़र ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया राज्य (Victoria State) की सरकार ने सख्त नियम लागू कर दिए हैं. नए नियमों के मुताबिक ख़ुद को क्वारंटीन (Quarantine rules) करने के आदेश की अनदेखी करने वाले लोगों के पर 3500 डॉलर यानी करीब ढाई लाख रूपए से ज्यादा का जुर्माना लगाया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 9:30 AM IST
  • Share this:
केनबरा. ऑस्ट्रेलिया (Australia) में भी कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है. बढ़ते मामलों के मद्देनज़र ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया राज्य (Victoria State)  की सरकार ने सख्त नियम लागू कर दिए हैं. नए नियमों के मुताबिक ख़ुद को क्वारंटीन (Quarantine rules) करने के आदेश की अनदेखी करने वाले लोगों के पर 3500 डॉलर यानी करीब ढाई लाख रूपए से ज्यादा का जुर्माना लगाया जाएगा. अगर दूसरी बार इन नियमों को तोड़ा गया तो जेल भी भेजा सकता है.

विक्टोरिया के प्रमुख डेनियल एंड्रूयूज़ ने कहा कि अभी तक ऐसे क़रीब 800 मौक़े आए हैं जब पाया गया कि जिन लोगों को घर पर होना चाहिए था, वो घर पर नहीं थे. डेनियल के मुताबिक विक्टोरिया प्रांत में संक्रमण इतनी बड़ी मात्रा में फैलने के पीछे ऐसे ही लोग हैं जो लगातार क्वारंटीन के नियम तोड़ रहे हैं. उधर मेलबोर्न में संक्रमण के मामलों में तेज़ी को देखते हुए सभी ग़ैर-ज़रूरी दुकानों और व्यवसायों को अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया है. इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया के कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू भी लागू किया गया है. बता दें कि सोमवार को विक्टोरिया में कोविड-19 के 4,000 से ज़्यादा नए मामले सामने आए.






कई तरह के प्रतिबंध हुए लागू
ऑस्ट्रेलिया ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए अपने दूसरे सबसे बड़े शहर मेलबर्न में फिर नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है. दिन में यहां के लोग अपने घरों से पांच किलोमीटर के दायरे में ही यात्रा कर सकेंगे. यह कर्फ्यू अगले छह हफ्तों तक जारी रहेगा. रात 8 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक केवल जरूरी सेवा से जुड़े लोग, स्वास्थ्यकर्मी और पुलिस को ही बाहर निकलने की अनुमति दी जाएगी. स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने कहा है कि मेलबर्न में कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति और भयावह होने वाली है. अनुमान के मुताबिक 13 सितंबर तक इस शहर में कोरोना के मामले उच्च स्तर तक जा सकते हैं. यहां जुलाई के शुरुआत में भी कर्फ्यू लगाया गया था लेकिन इससे संक्रमण के प्रसार पर कोई असर नहीं पड़ा.

डेनियल ने चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना से बचाव के लिए समय की पाबंदी, सावधानियों और चेतावनी का समय अब खत्म हो गया है. यदि कर्फ्यू के दौरान आप घर पर नहीं हैं या आपको कोरोना का संक्रमण है और आप अपने बिजनेस पर जा रहे हैं तो आपसे कठोरता से निपटा जाएगा. यहां सबका जीवन दांव पर लगा है. इस दौरान मेलबर्न के लोग दिन में बाहर सिर्फ एक घंटे ही एक्सरसाइज कर सकते हैं. इसके अलावा उन्हें घर से पांच किलोमीटर से दूर जाने की इजाजत नहीं होगी. प्रत्येक घर से केवल एक व्यक्ति को ही आवश्यक वस्तुओं के लिए खरीदारी करने की इजाजत होगी. मेलबर्न के अधिकतर स्कूल और विश्वविद्यालयों में कुछ ही दिन पहले ही क्लासेज शुरू हुईं थीं. जिन्हें फिर बंद करने का आदेश जारी किया गया है. अब छात्र घर बैठे ऑनलाइन माध्यम से ही पढ़ाई करेंगे. इसके अलावा शहर में शादियों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज