Remdesivir Supply: भारत में रेमडेसिविर की सप्लाई बढ़ाएगी गिलियड, साढ़े चार लाख वॉयल्स करेगी दान

 रेमडिसिविर इंजेक्शन की   (सांकेतिक तस्वीर)

रेमडिसिविर इंजेक्शन की (सांकेतिक तस्वीर)

Coronavirus In India: गिलिएड (Gilead) भारतीय मरीजों की तत्काल जरूरतों को पूरा करने में मदद करने के लिए वेक्लेरी (रेमेडिसविर) के कम से कम 450,000 वॉयल्स भी दान करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 5:28 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिकन बायोफार्मास्युटिकल कंपनी गिलियड (Gilead) ने भारत में कोरोना वायरस (COVID-19) से संक्रमित रोगियों के उपचार में इस्तेमाल होने वाली एक प्रमुख दवा- रेमेडिसविर (Remdesivir) की उपलब्धता को और आसान बनाने के लिए अहम भूमिका निभाने का ऐलान किया है. गिलियड साइंसेज के मुख्य वाणिज्यिक अधिकारी जोलेना मर्सियर ने सोमवार को कहा, 'भारत में COVID-19 मामलों के हालिया उछाल का विनाशकारी प्रभाव पड़ रहा है और इसने स्वास्थ्य सेवाओं पर भार बढ़ा दिया है.'

कंपनी ने कहा कि वह अपने स्वैच्छिक लाइसेंसिंग भागीदारों को तकनीकी सहायता, नई स्थानीय मैन्युफैक्चरिंग फैसेलटी को जोड़ने के लिए समर्थन और सक्रिय दवा संघटक (एपीआई) के दान के जरिये तेजी से रेमेडिसविर के उत्पादन को बढ़ावा देना चाहती है. भारत में रेमडेसिविर (Remdesivir) को गंभीर रूप से बीमार लोगों के उपचार के लिए आपातकालीन उपयोग के लिए स्वीकृति दी गई है.

Youtube Video


भारत को साढ़े चार लाख वॉयल्स दान भी गिलियड
कंपनी ने कहा कि लोकल मैन्युफैक्चरिंग क्षमता का विस्तार करने के लिए अपने लाइसेंसधारियों को सहायता प्रदान करने के अलावा, गिलिएड भारतीय मरीजों की तत्काल जरूरतों को पूरा करने में मदद करने के लिए वेक्लेरी (रेमेडिसविर) के कम से कम 4,50,000 वॉयल्स भी दान करेगा.

मर्सियर ने कहा कि हम इस संकट से निपटने में मदद करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हमारा मौजूदा ध्यान भारत में मरीजों की जरूरतों को पूरा करने में मदद करना है. भारत में गिलिएड के सभी सात लाइसेंसधारियों ने अपने बैच के आकार को बढ़ाकर, नए मैन्युफैक्चरिंग फैसेलटी को जोड़ने और देश भर में स्थानीय अनुबंध निर्माताओं को जोड़ने के द्वारा रिमेडिसवीर के उत्पादन में काफी तेजी लाई है.





इन प्रयासों से आने वाले हफ्तों में रेमेडिसविर की उपलब्धता में वृद्धि होने की उम्मीद है. गिलिएड ने कहा कि वह भारत की सरकार को कम से कम 4,50,000 वॉयल्स दान करेगा ताकि उपचार की तत्काल आवश्यकता का प्रबंधन हो सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज