कोरोना: पाक की फटेहाली, राष्ट्रपति के मास्क पहनने पर हुआ विवाद, देनी पड़ी सफाई

कोरोना: पाक की फटेहाली, राष्ट्रपति के मास्क पहनने पर हुआ विवाद, देनी पड़ी सफाई
पाकिस्तान के राष्ट्रपति के मास्क पहनने पर वहां विवाद हो गया.

पाकिस्तान (Pakistan) में मास्क (mask) की इतनी कमी है कि वहां के राष्ट्रपति (president) के मास्क पहनने पर भी विवाद हो जाता है.

  • Share this:
इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) में मास्क (mask) की इतनी कमी है कि वहां के राष्ट्रपति (President) भी मास्क लगाए दिख जाते हैं तो विवाद हो जाता है. पिछले दिनों एक कार्यक्रम के दौरान पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी (Arif Alvi) एन-95 मास्क लगाए दिख गए. तस्वीरें सामने आने के बाद उनकी इतनी फजीहत की गई कि उन्हें सफाइ देनी पड़ी कि वो चीन में मिले मास्क का दोबारा से इस्तेमाल कर रहे थे. उन्हें मास्क की कमी को लेकर फिक्र है.

पाकिस्तान में सिर्फ क्वॉरेंटाइन और आइसोलेशन में मरीजों की देखभाल करने वाले हेल्थ वर्कर्स को ही मास्क लगाने की इजाजत है. बुधवार को पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी एक मीटिंग में एन-95 मास्क लगाए दिख गए. मास्क पहने उनकी तस्वीरें और वीडियो वायरल हो गई. आरोप लगाया गया कि पाकिस्तान के नेता मास्क की बर्बादी कर रहे हैं.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने कहा- चीन में मिले मास्क का दोबारा इस्तेमाल कर रहा था
इसके बाद गुरुवार को पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी को सफाई देनी पड़ी. उन्होंने ट्विटर पर लिखा- ‘एक डॉक्टर होने के नाते मुझे मास्क के गलत इस्तेमाल और बर्बादी के बारे में अच्छी तरह से जानकारी है. मैं चीन में मिले एन-95 मास्क का दोबारा से इस्तेमाल कर रहा था.’



इसके बाद राष्ट्रपति ने लिखा कि कल मैं विंग कमांडर नौमान अकरम के घर पर था. वहां आप मुझे रेगुलर पब्लिक मास्क लगाए देख सकते हैं. मेरे ख्याल से ये सफाई पर्याप्त है.



पाकिस्तान की मेडिकल एसोसिएशन ने की थी आलोचना
बुधवार को पंजाब सरकार के कोरोना वायरस पर हुए एक मीटिंग में राष्ट्रपति आरिफ अल्वी एन-95 मास्क लगाए हुए थे. वहां मौजूद लोगों को उन्होंने संबोधित भी किया. पाकिस्तान की सरकार और वहां के हेल्थ प्रोफेशनल्स इस बात के लिए लोगों को राजी कर रहे हैं कि अगर वो स्वस्थ हैं तो मास्क न लगाएं. पाकिस्तान में सिर्फ उन हेल्थ वर्कर्स को मास्क लगाने की इजाजत दी गई है जो क्वॉरेंटाइन सेंटर्स या आइसोलेशन वार्ड में मरीजों की देखभाल कर रहे हैं.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति को मास्क लगाए देख वहां के मेडिकल एसोसिएशन ने एक स्टेटमेंट जारी कर दिया. जिसमें कहा गया था कि पाकिस्तान के नेता और ब्यूरोक्रैट्स को मास्क नहीं पहने. स्टेटमेंट में कहा गया था कि पाकिस्तान मेडिकल एसोसिएशन ने देखा है कि प्रोटेक्टिव आइटम्स, जो क्वॉरेंटाइन और आइसोलेशन वार्ड में काम करने वाले हेल्थ वर्कर्स के लिए जरूरी है, उसका गलत इस्तेमाल हो रहा है. खासकर एन-95 मास्क का इस्तेमाल बड़ी संख्या में गलत इस्तेमाल हो रहा है.

इनदिनों नेताओं और ब्यूरोक्रैट्स को अक्सर एन-95 मास्क लगाए देखा जा रहा है. ये लोग मीटिंग और दूसरी तरह के विजिट में इसका इस्तेमाल कर रहे हैं, जबकि पाकिस्तान के हेल्थ वर्कर्स मास्क और पीपीई की कमी से जूझ रहे हैं. इसके बाद पाकिस्तान के राष्ट्रपति को मास्क लगाए जाने पर सफाई देनी पड़ी.

ये भी पढ़ें:

मोटे लोगों को कोरोना वायरस से ज्यादा खतरा, एक्सपर्ट डॉक्टर ने किया अलर्ट

दुनिया में कोरोना Live: अमेरिकी कोरोना मॉडल ने बताया, ब्रिटेन में संक्रमण से हो सकती हैं 66000 मौतें

भारत में क्यों बढ़ रहा डॉक्टरों और नर्सों पर कोरोना का ख़तरा

Coronavirus: 10 जिलों में हैं देश के कुल मरीजों के 30 फीसदी संक्रमित

गुलाबी नहीं इन रंगों में भी दिखाई देता है चांद, जानिए क्यों होता है ऐसा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading