दुनिया में कोरोना: US में 65 हज़ार नए केस, WHO बोला- हालात खराब हो रहे

दुनिया में कोरोना: US में  65 हज़ार नए केस, WHO बोला- हालात खराब हो रहे
बीते 24 घंटे में दुनिया भर में संक्रमण के 2 लाख से ज्यादा नए केस मिले

दुनिया भर में सोमवार को संक्रमण (Coronavirus) के 1 लाख 95 हज़ार नए मामले सामने आए और कुल मामले बढ़कर अब 1 करोड़ 32 लाख से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटे में संक्रमण (Covid-19) से 3700 लोगों की मौत हो गयी और कुल मौतों का आंकड़ा बढ़कर 5 लाख 74 हज़ार से भी ज्यादा हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 14, 2020, 11:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) ने लगातार तीसरे दिन कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के नए मामलों में ब्राजील को भी पीछे छोड़ा हुआ है. सोमवार को अमेरिका (US) में संक्रमण के नए 65 हज़ार, भारत में 28 हज़ार जबकि ब्राजील (Brazil) में 23 हज़ार केस सामने आए हैं. दुनिया भर में सोमवार को संक्रमण के 1 लाख 95 हज़ार नए मामले सामने आए और कुल मामले बढ़कर अब 1 करोड़ 32 लाख से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटे में संक्रमण से 3700 लोगों की मौत हो गयी और कुल मौतों का आंकड़ा बढ़कर 5 लाख 74 हज़ार से भी ज्यादा हो गया है. साउथ अफ्रीका (South Africa) कोरोना का नया हॉट स्पॉट बनकर सामने आया है यहां भी 11,500 से ज्यादा नए केस सामने आए हैं.

#अफगानिस्तान में 1 करोड़ बच्चों की पढ़ाई पर असर
कोरोनावायरस के चलते अफगानिस्तान में 1 करोड़ बच्चों की शिक्षा बाधित हुई है. संस्था सेव द चिल्ड्रेन के मुताबिक, काबुल में महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़ी है. यहां तक की देशभर में हिंसा के मामलों में भी इजाफा हुआ है. लोगों की नौकरी जाने से उनके बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे. इस वजह से बच्चे अपने परिवार की मदद के लिए सड़कों पर काम कर रहे हैं. साथ ही जल्दी शादी कर रहे हैं.

#हांगकांग में हफ्तेभर में 236 नए केस
हांगकांग ने अपने यहां यात्रा प्रतिबंध और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम सख्त कर दिए हैं. यहां तीसरी लहर की आशंका है. एक हफ्ते में यहां 236 नए केस सामने आ चुके हैं. सोमवार को केवल 52 नए मामलों की पुष्टि हुई, जिनमें 41 लोकल केस हैं और बाकि 11 मामले बाहर से आए हैं.



#ब्रिटेन में दुकानों में मास्क पहनना जरूरी
ब्रिटेन में 24 जुलाई से दुकानों में जाने से पहले चेहरा ढंकना अनिवार्य कर दिया गया है. एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, ब्रिटेन में 15 जून से पब्लिक ट्रांसपोर्ट में मास्क अनिवार्य किया गया था. डाउनिंग स्ट्रीट के प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि इस बात के पुख्ता सबूत मिले हैं कि एक बंद जगह पर मास्क पहनने से संक्रमण को लोगों में फैलने से राेका जा सकता है. इसलिए हम इस नियम को 24 जुलाई से अनिवार्य बनाने जा रहे हैं.

#पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामले 2.53 लाख के पार
पाकिस्तान में कोविड-19 के 1,979 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 2,53,604 हो गए. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अनुसार देश में 1,70,656 लोग ठीक हो चुके हैं. मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से 50 और लोगों की जान जाने से वायरस से मरने वालों की संख्या 5,320 हो गई. वहीं, अभी 2,151 लोगों की हालत गंभीर है. आंकड़ों के अनुसार, 26 मई को 1,446 नए मामले सामने आने के बाद एक दिन में सामने आए ये सबसे कम मामले हैं. आंकड़ों के अनुसार सिंध में सबसे अधिक 1,06,622 मामले हैं. इसके बाद पंजाब में 87,492, खैबर-पख्तूनख्वा में 30,747, इस्लामाबाद में 14,202, बलूचिस्तान में 11,192, गिलगित-बालस्तिान में 1,694 और पीओके में 1,655 मामले हैं. देश में अभी तक 16,06,190 नमूनों की जांच की गई है, जिनमें से पिछले 24 घंटे में 21,020 नमूनों की जांच की गई.

#सिंगापुर में कोरोना वायरस के 347 नये मामले, कुल संख्या 46,630 हुई
सिंगापुर में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 347 नये मामले दर्ज किए गए जिनमें सात सामुदायिक स्तर के और दो मामले बाहर से आए हैं. इसके साथ ही देश में कुल संक्रमितों की संख्या 46,630 हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि नये मामलों में से अधिकतर विदेशी कामगार हैं जो डोरमेट्री में रहते हैं. सात सामुदायिक मामलों में से एक सिंगापुर का नागरिक है और छह विदेशी नागरिक हैं जिनके पास काम करने का वीजा है. मंत्रालय ने बताया कि बाहर से आए मामलों को सिंगापुर पहुंचने के बाद उन्हें घर में रहने का नोटिस दिया गया है. 347 नये मामलों के साथ सिंगापुर में कोविड-19 की संख्या 46,630 हो गई है. वायरस के कारण देश में अभी तक 26 लोगों की मौत हो चुकी है. एक कंपनी में कोरोना वायरस के तीन मामले सामने आने के बाद मंत्रालय ने उसे 14 दिनों तक अपना परिसर बंद रखने का आदेश दिया. कंपनी को सुरक्षित प्रबंधन और सामाजिक दूरी के नियमों के उल्लंघन का दोषी भी पाया गया.

#ब्रिटेन में भी मास्क हुआ अनिवार्य
ब्रिटेन में 24 जुलाई से दुकानों में जाने से पहले चेहरा ढंकना अनिवार्य कर दिया गया है. वहीं, संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए अमेरिका की सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य कैलिफोर्निया में रेस्टोरेंट, बार, थिएटर्स फिर से बंद कर दिए गए हैं. ब्रिटेन में 15 जून से पब्लिक ट्रांसपोर्ट में मास्क अनिवार्य किया गया था. डाउनिंग स्ट्रीट के प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि इस बात के सबूत हैं कि चेहरा ढंकना आसपास के लोगों को महामारी से बचाव में मदद करता है. प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भी स्पष्ट किया है कि लोगों को दुकानों में चेहरा ढंकना चाहिए और हम 24 जुलाई से इसे अनिवार्य कर देंगे.

#वैश्विक स्तर पर कोविड-19 महामारी की स्थिति खराब हो रही है: WHO
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख टेड्रोस एडहेनम गेब्रेयेसस ने आगाह किया है कि वैश्विक स्तर पर कोविड-19 महामारी की स्थिति खराब हो रही है और कुछ समय तक चीजें पहले की तरह सामान्य नहीं हो पाएगी. गेब्रेयेसस ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ‘निकट भविष्य में पहले की तरह चीजें सामान्य नहीं हो पाएगी.' डब्ल्यूएचओ के प्रमुख ने कहा कि खासकर यूरोप और एशिया के कई देशों में महामारी पर काबू पाया गया है लेकिन कुछ अन्य देशों में संक्रमण का रूझान गलत दिशा में बढ़ रहा है. गेब्रेयेसस ने कई देशों में संक्रमण के बढ़ते मामलों पर रोक लगाने के लिए देशों से समग्र रणनीति लागू करने का आह्वान करते हुए कहा कि संक्रमण के नए मामलों में से तकरीबन आधे अमेरिका से आ रहे हैं. डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि महामारी की चपेट से निकलने के लिए एक खाका था और संक्रमण के ज्यादा मामले वाले क्षेत्रों में भी इसे लागू करने में अभी भी देर नहीं हुई है.

#लामाओं से मिले कोरोना वायरस को बेअसर करने वाले से दो एंटीबॉडी
वैज्ञानिकों ने दक्षिण अमेरिकी स्तनधारियों लामाओं से ऐसे दो एंटीबॉडी की पहचान करने का दावा किया है जिससे कोरोना वायरस के असर को समाप्त किया जा सकता है. वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि दक्षिण अमेरिकी स्तनधारियों लामाओं से प्राप्त दो छोटे, स्थिर एंटीबॉडी से प्रयोगशाला-संवर्धित कोशिकाओं में कोरोना वायरस को बेअसर किया जा सकता है. इसे कोविड-19 के खिलाफ एक नयी चिकित्सा पद्धति को हासिल करने की दिशा में प्रगति के रूप में देखा जा रहा है.

'नेचर स्ट्रक्चरल एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी' नामक पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में उल्लेख किया गया है कि ‘नैनोबॉडीज’ प्रोटीन एसीई2 के साथ अंतःक्रिया को रोककर कोरोना वायरस सार्स-सीओवी-2 के साथ संक्रमण को रोक सकता है. वर्तमान अध्ययन में उन्होंने सार्स-सीओवी-2 को बेअसर करने में दक्षिण अमेरिकी स्तनधारियों लामाओं से प्राप्त एंटीबॉडी की क्षमता का परीक्षण किया गया. शोधकर्ताओं ने बताया कि अधिकांश स्तनधारियों की तरह मानव एंटीबॉडी में भी दो श्रृंखलाएं होती हैं - भारी और हल्की - लेकिन लामा जैसे जीवों में एक अतिरिक्त एकल भारी श्रृंखला एंटीबॉडी भी होती है, जिसे नैनोबॉडी के रूप में जाना जाता है. वैज्ञानिकों ने कहा कि नैनोबॉडी छोटे, स्थिर और आसानी से निर्मित होते हैं और इस तरह निदान के लिए पारंपरिक एंटीबॉडी के विकल्प के रूप में काम करते हैं.

#ब्रिटेन में लॉकडाउन में ढील के बाद सैलून व अन्य व्यवसाय खुले
ब्रिटेन में कोरोना वायरस के कारण 23 मार्च से लागू लॉकडाउन में ढील के अगले चरण में पूरे इंग्लैंड में ब्यूटी सैलून सहित अन्य व्यवसाय फिर से शुरू हो गए. ब्रिटेन सरकार द्वारा जारी कोविड मार्गदर्शन के तहत टैटू और मसाज पार्लर सहित ऐसे व्यवसायों को भी खोलने की अनुमति मिल गयी है जिनमें भौतिक संपर्क की जरूरत होती है. ब्रिटेन के व्यापार मंत्री आलोक शर्मा ने कहा कि इस संकट के दौरान हम स्पष्ट थे कि जितना संभव हो सके, उतने व्यवसायों को हम फिर से खोलना चाहते हैं, लेकिन हमें विश्वास होना चाहिए कि ऐसा करना लोगों के लिए सुरक्षित हो. उन्होंने कहा कि सैलून जैसे हजारों व्यवसाय, जिनमें निकट संपर्क जरूरी होता है, ग्राहकों का स्वागत इस तरह से करेंगे जिनमें कामगार और आम लोग दोनों सुरक्षित रहें. भारतीय मूल के कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इन छोटे, स्वतंत्र व्यवसायों को फिर से सक्षम करना, देश भर में नौकरियों और आय का समर्थन करने के लिए अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने की सरकार की योजना का एक और कदम है.

#वैश्विक एकजुटता से ही किया जा सकता है कोविड-19 की चुनौतियों का सामना: भारत
नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि कोविड-19 महामारी की चुनौती से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' के लक्ष्य का अर्थ 'अकेले चलने वाला' भारत बनाना नहीं है. उन्होंने कहा कि देश बहुपक्षीय वैश्विक आर्थिक व्यवस्था का समर्थक है क्योंकि महामारी के कारण सामने आ रही चुनौतियों का सामना बहुपक्षीय और वैश्विक एकजुटता के साथ ही किया जा सकता है. भारत ने यहां सोमवार को उच्च स्तरीय राजनीतिक फोरम के एक डिजिटल सत्र में सतत विकास लक्ष्यों पर द्वितीय स्वैच्छिक राष्ट्रीय समीक्षा (वीएनआर) प्रस्तुत की.

भारत की ओर से वीएनआर प्रस्तुत करते हुए कुमार ने कहा कि महामारी से मुकाबला करने में भारत सरकार ने मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' के लक्ष्य को अपनाया है. अपने सम्बोधन में कुमार ने कहा, 'इसका यह अर्थ बिलकुल भी नहीं है कि भारत स्वावलंबी या अकेले चलने वाला देश है। हम बहुपक्षीय वैश्विक आर्थिक व्यवस्था के समर्थक देश हैं जिसकी क्षमता पर कोई संदेह नहीं होना चाहिए.' वीएनआर प्रस्तुत करने के दौरान कुमार के साथ नीति आयोग में सलाहकार संयुक्ता समद्दर भी उपस्थित थीं. कुमार ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने सभी देशों के लिए बहुत सारी चुनौतियां पैदा कर दी हैं.

#पाकिस्तान में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले ढाई लाख से अधिक
पाकिस्तान में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,769 नये मामले सामने आने के बाद देश में कुल संक्रमितों की संख्या ढाई लाख से अधिक हो गई. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अनुसार, 69 और मरीजों की मौत हो गई है जिसके बाद कुल मृतकों की संख्या बढ़कर 5,226 हो गई. वहीं 1,837 मरीजों की हालत नाजुक है। स्वस्थ होने की दर बढ़ रही है और अब तक 161,917 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. देश में कुल 251,625 संक्रमण मामलों में से सिंध में 105,533 मामले, पंजाब में 87,043, खैबर पख्तुनख्वा में 30,486, इस्लामाबाद में 14,108 मामले, बलूचिस्तान में 11,185, गिलगित-बाल्टिस्तान में 1,671 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 1,599 मामले हैं.

#महामारी करोड़ों लोगों को भुखमरी की ओर धकेल सकती है: संयुक्त राष्ट्र
रोम, 13 जुलाई (एपी) संयुक्त राष्ट्र ने चेताया है कि कोरोना वायरस महामारी इस साल करीब 13 करोड़ और लोगों को भुखमरी की ओर धकेल सकती है. विश्व में भुखमरी के कगार पर पहुंचे लोगों की संख्या पिछले साल करीब एक करोड़ बढ गयी थी. यह गंभीर आकलन विश्व में खाद्य सुरक्षा एवं पोषण की स्थिति के मद्देनजर हालिया रिपोर्ट में सामने आया है. इसे तैयार करने वाली यूएन की पांच एजेंसियों की ओर से इस वार्षिक रिपोर्ट को सोमवार को जारी किया गया.

रिपोर्ट के मुताबिक, वर्तमान में उपलब्ध विश्व के आर्थिक परिदृश्य पर आधारित ये प्रारंभिक अनुमान बताते हैं कि 'महामारी के कारण वर्ष 2020 में कुपोषण की तालिका में 8.3 करोड़ से 13.2 करोड़ अतिरिक्त लोग जुड़ सकते हैं.' यूएन एजेंसियों के अनुमान के मुताबिक, पिछले साल करीब 69 करोड़ लोग भुखमरी की जद में रहे जोकि पूरी दुनिया की आबादी का करीब नौ प्रतिशत है. वर्ष 2018 से इस संख्या में करीब एक करोड़ जबकि वर्ष 2014 से करीब छह करोड़ की वृद्धि दर्ज की गई. रिपोर्ट के मुताबिक, दशकों तक लगातार गिरावट के बाद वर्ष 2014 से भुखमरी के आकंड़ों में 'धीरे-धीरे बढ़ोत्तरी होनी शुरू हुई जोकि अब तक जारी है.'

#चीन में हो रही है वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने की कोशिश
अमेरिका कोरोना वायरस संक्रमण से दुनिया में सबसे बुरी तरह प्रभावित है और सोमवार को फ्लोरिडा ने देश में एक दिन में सबसे ज्यादा संक्रमण के मामले सामने आने का रिकॉर्ड बनाया. इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के दो विशेषज्ञ चीन में महामारी की उत्पत्ति का पता लगाने के लिये भेजे गए मिशन का हिस्सा बने हैं. इस विषाणु का सबसे पहले पिछले साल मध्य चीन के वुहान शहर में पता चला था. चीन शुरू में जांच की अनुमति देने को तैयार नहीं था लेकिन कई देशों द्वारा डब्ल्यूएचओ से व्यापक जांच कराने की मांग के बाद उसने इजाजत दे दी.

अमेरिका के जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय के आंकड़ों के असोसिएटेड प्रेस द्वारा हाल में किये गए विश्लेषण के मुताबिक अमेरिका में वायरस से मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है खासकर दक्षिण और पश्चिम में. यद्यपि यह अप्रैल में महामारी के शीर्ष पर रहने के दौरान हो रही मौत के आंकड़ों से काफी कम हैं. फ्लोरिडा विश्वविद्यालय की महामारी रोग विशेषज्ञ डॉ. सिंडी प्रिन्स ने कहा, 'मुझे वास्तव में लगता है कि हम इसे नियंत्रित कर सकते हैं और यह मानवीय तत्व है जो सबसे ज्यादा जटिल है. यह हमारे देश का प्रयास होना चाहिए. जब हम संकट में हों तो हमें साथ मिलकर कोशिश करनी चाहिए और हम निश्चित रूप से यह नहीं कर रहे हैं.'

व्हाइट हाउस कोरोना वायरस कार्यबल के सदस्य एडमिरल ब्रेट गिरोयर ने सार्वजनिक रूप से मास्क पहनने को 'नितांत अनिवार्य' बताया, जिसका कुछ अमेरिकी राज्यों में विरोध किया जा रहा है.' स्वास्थ्य एवं मानव सेवा विभाग के सहायक मंत्री गिरोयर ने ‘एबीसी’ को बताया, 'अगर हम यह नहीं करते हैं तो हम वायरस पर नियंत्रण नहीं कर पाएंगे.' राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी शनिवार को पहली बार सार्वजनिक रूप से मास्क पहना, डेमोक्रेट नेता नैंसी पेलोसी ने कहा कि रविवार को दिखा कि उन्होंने (ट्रंप ने) अपनी आदत को बदल लिया है. फ्लोरिडा में रविवार को जारी स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक शनिवार को 15,299 और लोग संक्रमित पाए गए जबकि राज्य में कुल मामलों की संख्या 2,69,811 हो गई है जबकि 45 और लोगों ने इस महामारी से अपनी जान गंवा दी. इससे पहले एक दिन में सबसे ज्यादा मामलों का रिकॉर्ड कैलीफोर्निया का था जहां बुधवार को 11,694 मामले सामने आए थे.

शोधकर्ताओं ने आशंका जताई है कि अमेरिका में कम से कम अगले कुछ हफ्तों तक मरने वालों की संख्या बढ़ेगी लेकिन कुछ को लगता है कि इसमें उस तरह से बढ़ोतरी नहीं होगी जैसी बसंत में देखने को मिल रही थी और इसके पीछे ज्यादा जांच होने समेत कई कारक हैं. चीन में डब्ल्यूएचओ विशेषज्ञों के संदर्भ में वहां के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि वे चीनी वैज्ञानिकों और चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ 'कोरोना वायरस की उत्पत्ति के मुद्दे पर वैज्ञानिक सहयोग करेंगे.' चीन पहले दलील दे चुका है कि हो सकता है वायरस की उत्पत्ति चीन के बाहर हुई हो.

#चमगादड़ से कोविड-19 की दवा बनाने में मिलेगी मदद : वैज्ञानिक
विभिन्न अध्ययनों की एक समीक्षा के मुताबिक कोरोना वायरस जैसे विषाणुओं को बर्दाश्त करने की चमगादड़ों की क्षमता सूजन नियंत्रित करने की उनकी शक्ति से विकसित होती है. इसके मुताबिक उनके रोग प्रतिरोधक तंत्र को समझ कर इंसानों में कोविड-19 के इलाज के लिए नये दवा लक्ष्यों की पहचान की जा सकती है. अमेरिका के रोचेस्टर विश्विद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं समेत अन्य ने कहा कि भले ही चमगादड़ मनुष्यों को प्रभावित करने वाले कई घातक विषाणुओं जैसे इबोला, रेबीज और सार्स-सीओवी-2 के जनक रहे हैं लेकिन इन उड़ने वाले स्तनधारी जीवों में बिना किसी बुरे प्रभाव के इन रोगाणुओं को बर्दाश्त करने की क्षमता होती है.

उन्होंने एक बयान में कहा, 'भले ही इंसान इन विषाणुओं से संक्रमित होने के बाद प्रतिकूल लक्षणों का अनुभव करते हैं लेकिन तुलनात्मक रूप से चमगादड़ इन रोगाणुओं को बर्दाश्त करने में समर्थ होते हैं और साथ ही में वे समान आकार के अन्य स्तनपायी जीवों से ज्यादा वक्त तक जिंदा रहते हैं.' समीक्षा अनुसंधान में वैज्ञानिकों ने इस बात का आकलन करने की कोशिश की चमगादड़ों की सूजन को नियंत्रित करने की प्राकृतिक क्षमता कैसे बीमारियों से लड़ने की प्रवृत्ति और उनके लंबे जीवनकाल में योगदान देती है. अध्ययन की सह-लेखिका वेरी गोर्बूनोवा ने कहा, 'कोविड-19 से सूजन बहुत बढ़ जाती है और संभवत: विषाणु से अधिक सूजन के प्रति शरीर की प्रतिक्रिया ही मरीजों की जान लेती हो.' उन्होंने कहा, 'मनुष्य का प्रतिरक्षा तंत्र इसी तरह से काम करता है- एक बार हम संक्रमित हो जाएं तो हमारा शरीर सक्रिय हो जाता है और हमें बुखार एवं सूजन हो जाती है.'

गोर्बूनोवा ने कहा कि इंसानों में प्रतिरक्षा तंत्र की प्रतिक्रिया का मकसद वायरस को मारना और संक्रमण को खत्म करना है लेकिन यह हानिकारिक प्रतिक्रिया हो सकती है क्योंकि मरीज का शरीर खतरे के प्रति अत्यधिक प्रतिक्रिया देने लगता है. वैज्ञानिकों का कहना है कि चमगादड़ों में विशेष तंत्र होता है जो उनके शरीर में वायरस की संख्या को बढ़ने नहीं देता और उनके प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को भी हल्का कर देता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading