दुनिया में कोरोना: ब्रिटेन में लॉकडाउन में होगी ज्यादा सख्ती, महामारी के दूसरे फेज की तैयारी शुरू

ब्रिटेन में हर 3 में से एक नागरिक में कोरोना का संक्रमण पाया गया है.
ब्रिटेन में हर 3 में से एक नागरिक में कोरोना का संक्रमण पाया गया है.

ब्रिटेन (Britain) के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने कहा है कि अभी प्रतिबंधों (restriction) में छूट देने का वक्त नहीं है. वहां महामारी के दूसरे फेज की तैयारी शुरू कर दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2020, 12:32 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से जूझ रही दुनिया के लिए रविवार अच्छी खबर लेकर आया. करीब एक महीने के बाद संक्रमण (Covid-19) से सबसे बुरी तरह प्रभावित लगभग हर देश में इससे हो रही मौतों में कमी दर्ज की गयी है. कोरोना से हो रहीं मौतों का आंकड़ा रविवार को 5000 से नीचे रहा और दुनिया भर में 3751 मौतें दर्ज की गयीं. इसके बाद अब कुल मौतों का आंकड़ा बढ़कर 2,06,915 हो गया है. संक्रमण के मामलों में भी बीते 3 दिन के मुकाबले कमी आई और करीब 74,000 नए केस सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 29,93,000 से भी ज्यादा हो गए हैं. अमेरिका (US), यूरोप (Europe), एशिया (Asia) और अफ्रीका (Africa) सभी जगह नए मामलों और मौतों में कमी दर्ज की गयी है.

#विश्व स्वास्थ्य संगठन के फंड रोकने के ट्रंप के फैसले के खिलाफ शुरू हुई जांच
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विश्व स्वास्थ्य संगठन के फंड को रोकने की फैसले की जांच शुरू हो गई है. अमेरिकी विदेश मंत्रालय की हाउस कमिटी ने ट्रंप के फैसले की जांच शुरू कर दी है. सोमवार को टॉप डेमोक्रेट के पैनल ने इस बारे में घोषणा की. हाउस फॉरेन अफेयर्स कमिटी के चेयरमैन इलियट एंगेल ने इस बारे में विदेशमंत्री माइक पॉम्पियो को चिट्ठी लिखी है. विदेश मंत्रालय से कहा गया है कि वो विश्व स्वास्थ्य संगठन के फंड रोकने के फैसले से संबंधित सारे रिकॉर्ड उपलब्ध करवाए. चेयरमैन ने कहा है कि विदेश मंत्रालय एजेंसी, व्हाइट हाउस और संबंधित इंस्टीट्यूशन के बीच हुए कम्यूनिकेशन की जानकारी दे और बताए कि किस कानूनी आधार पर ऐसा फैसला लिया गया.

#कैंसर से लड़ रही 4 साल की भारतीय बच्ची ने दी कोरोना को मात, ठीक होकर लौटी घर
कैंसर से लड़ रही एक 4 साल की भारतीय बच्ची ने कोरोना वायरस के संक्रमण को मात दी है. अपनेआप में ये हैरान करने वाला मामला है, क्योंकि लो इम्यून होने के बावजूद 4 साल की बच्ची ने कोरोना के वायरस को हराया और ठीक होकर घर लौटी. 4 साल की ये बच्ची दुनिया में कोरोना को मात देने वाली छोटी उम्र के बच्चों में से एक है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले हफ्ते ही वो ठीक होकर घर लौटी है. दुबई में अपने माता-पिता के साथ रहने वाली 4 साल की सिवानी कैंसर सरवाइवर है. पिछले 1 अप्रैल को उसे कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से अल फुतैम हेल्थ हब में भर्ती करवाया गया था. गल्फ न्यूज की एक रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची को अपनी मां से कोरोना का संक्रमण हुआ था. उसकी मां दुबई में फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर हैं.



#ब्रिटेन में लॉकडाउन में होगी ज्यादा सख्ती, बोरिस जॉनसन ने की महामारी के दूसरे फेज की तैयारी
ब्रिटेन में कोरोना वायरस की वजह लगाए गए लॉकडाउन के कुछ प्रावधानों में ज्यादा सख्ती लाई जा सकती है. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इस बारे में संकेत दिए हैं. बोरिस जॉनसन ने कहा है कि आने वाले दिनों में लॉकडाउन के नियमों के बारे में जानकारी दी जाएगी. इस दौरान उन्होंने जोर देकर कहा है कि अभी सोशल डिस्टेंसिंग में किसी भी तरह की नरमी बरतने का वक्त नहीं आया है. बताया जा रहा है कि बोरिस जॉनसन ने ब्रिटेन में महामारी के दूसरे फेज के लिए अभी से तैयारी करनी शुरू कर दी है. वायरस संक्रमण से ठीक होकर वापस लौटे बोरिस जॉनसन ने कहा है कि प्रतिबंधों में छूट देने से महामारी का दूसरा फेज और ज्यादा खतरनाक हो सकता है.

#दर्जनों लोगों को नमाज पढ़वाने वाला मौलवी निकला कोरोना पॉजिटिव
बांग्लादेश में दर्जनों लोगों को नमाज पढ़वाने वाला मौलवी कोरोना के संक्रमण में पॉजिटिव पाया गया है. बांग्लादेश के उस मौलवी ने रमजान के मौके पर एक स्थानीय मस्जिद में दर्जनों लोगों को नमाज पढ़वाई थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये मामला दक्षिणपश्चिम बांग्लादेश का है. शनिवार को बांग्लादेश के मागुरा जिले के अदादंगा गांव की मस्जिद में मौलवी ने नमाज पढ़वाई थी. इसके एक दिन बाद उसे कोरोना के संक्रमण में पॉजिटिव पाया गया. बांग्लादेशन्यूज24 की रिपोर्ट के मुताबिक प्रशासन अब उन 20-25 लोगों की लिस्ट बना रहा है, जो इस प्रार्थना सभा में शामिल हुए थे. अब उनलोगों की भी कोरोना संक्रमण की जांच की जाएगी.

#पाकिस्‍तान में कोरोना के संदिग्‍ध ने अस्‍पताल की तीसरी मंजिल से कूद कर दे दी जान
जिन्ना पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल सेंटर (JPMC) के एक आइसोलेशन वार्ड से छलांग लगा कर कोरोना वायरस के एक संदिग्‍ध मरीज ने आत्महत्या कर ली. 'डॉन' की खबर के हवाले से कहा गया है कि अस्पताल की कार्यकारी निदेशक डॉ. सिमी जमाली ने कहा कि '37 वर्षीय फवाद अब्बासी को वायरस के लक्षण जाहिर होने पर रविवार रात कराची से जिन्ना अस्पताल लाया गया था.' वहीं यह भी कहा गया है कि आत्महत्या करने वाला व्यक्ति कथित रूप से ड्रग्स का आदी था.

#कोरोना के इलाज में न्यूयॉर्क के डॉक्टर चोरी-चुपके कर रहे हैं इस दवा का इस्तेमाल
अमेरिका में न्यूयॉर्क शहर कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है. यहां पर संक्रमण और मौत के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं. अब जानकारी सामने आई है कि न्यूयॉर्क के डॉक्टर कोरोना वायरस के इलाज में चोरी चुपके एक दवा का इस्तेमाल कर रहे हैं. सीने में जलन होने की स्थिति में लेने वाली दवा का इस्तेमाल कोरोना के इलाज में हो रहा है. बताया जा रहा है कि इस दवा का इस्तेमाल चीन में भी हुआ है. चीन में बुजुर्गों में कोरोना के इलाज में ये दवा कारगर मानी गई है. डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक अब उस दवा का इस्तेमाल न्यूयॉर्क के डॉक्टर ट्रायल के आधार पर कर रहे हैं. उस दवा को फैमोटिडीन के नाम से जाना जाता है. अमेरिका और ब्रिटेन में ये पेप्सिड के नाम से बिकती है. नॉर्थवेल हॉस्पिटल ने पेप्सिड का इस्तेमाल कोरोना के मरीजों पर किया है.

#रूस में चीन से भी ज्यादा हुए संक्रमण के मामले, एक दिन में सबसे अधिक बढ़त
रूस में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले चीन से भी ज्यादा हो गए हैं. यहां एक दिन में वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं. रूस की न्यूज एजेंसी तास ने इस बारे में रिपोर्ट जारी की है. सोमवार को जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक रूस में कोरोना संक्रमण के 6,198 नए मामले दर्ज हुए हैं. इसके बाद रूस में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 87,147 हो गई है. संक्रमण का ये आंकड़ा चीन से भी ज्यादा है. चीन में आधिकारिक तौर पर वायरस संक्रमण के 84,500 मामले दर्ज हुए हैं. रूस में कोरोना के चलते पिछले दिन 50 नई मौतें दर्ज हुई हैं. इसके बाद रूस में मरने वालों का आंकड़ा 794 हो गया है. नए आंकड़ों के साथ रूस कोरोना वायरस से दुनिया का 9वां सबसे प्रभावित देश बन गया है.

#अमेरिका में व्हाइट हाउस की आशंका से भी ज्यादा मौतें, 60 हजार के पार जाएगा आंकड़ा
अमेरिका में कोरोना वायरस के चलते व्हाइट हाउस की आशंका से भी ज्यादा मौतें हुई हैं. व्हाइट हाउस ने आशंका जाहिर की थी कि बेहतर हालात में करीब 60 हजार मौतें हो सकती हैं. अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से मौत का ये आंकड़ा छूने को तैयार है. अमेरिका में वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 10 लाख के करीब पहुंच गए हैं. वहीं संक्रमण की वजह से 55,519 लोगों की मौत हुई है. रविवार तक कोरोना वायरस के कुल 9 लाख 87 हजार 590 पॉजिटिव मामले सामने आए. संक्रमण के मामले शनिवार की तुलना में 27,446 ज्यादा थे.

#US में लॉकडाउन का उल्लंघन कर हजारों लोग पहुंचे बीच पर
गर्मी बढ़ने के साथ ही हजारों लोग घरों में रहने के आदेशों का उल्लंघन करते हुए दक्षिणी कैलिफोर्निया के समुद्र तटों और नदियों के किनारे उमड़ पड़े. अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि घर में ही रहने के आदेश का उल्लंघन करने से कोरोना वायरस फिर से अपना प्रकोप दिखा सकता है. ऑरेंज काउंटी के न्यूपोर्ट समुद्र तट पर हजारों लोग जमा हो गए. स्थानीय निवासियों के मुताबिक सामान्य तौर पर इतनी भीड़ नहीं होती है. वहीं तटरक्षक लोगों को हिदायत दे रहे थे कि अगर वे छह या इससे ज्यादा के समूह में हैं तो एक-दूसरे से दूर-दूर रहें. पड़ोस के हंटिंगटन तट पर भी बड़ी संख्या में लोग जुटे. पार्किंग स्थल बंद होने के बावजूद बड़ी संख्या में लोग यहां पुहंच गए.

 

#पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 13,328 हुए
इस्लामाबाद, 27 अप्रैल (भाषा) पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 13,328 हो गए हैं जबकि 12 और लोगों की मौत होने के बाद इस वैश्विक महामारी से मृतकों की संख्या 281 पर पहुंच गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के मुताबिक अब तक 3,000 से अधिक लोग इस संक्रमण से ठीक हो चुके हैं. मंत्रालय ने कहा कि पंजाब में 5,446, सिंध में 4,615, खैबर-पख्तूनख्वा में 1,864, बलूचिस्तान में 781, गिलगित-बाल्टिस्तान में 318, इस्लामाबाद में 245 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में संक्रमण के 59 मामले हैं. इसने बताया कि देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 13,328 हो गई है जबकि 281 लोग बीमारी के चलते मर चुके हैं. इनमें पिछले 24 घंटे में जान गंवाने वाले 12 लोग शामिल हैं. पिछले 24 घंटे में 6,391 जांच समेत अब तक कुल 1,50,756 परीक्षण किए जा चुके हैं जबकि अधिकारियों ने अगले महीने से रोजाना 20,000 परीक्षण कराए जाने की घोषणा की है.

 

#स्पेन ने दी बच्चों को खेलने की छूट, अमेरिकी राज्यों ने भी देनी शुरू की ढील
कोरोना वायरस के कारण लागू किए गए लॉकडाउन (बंद) में यूरोपीय देशों द्वारा चरणबद्ध एवं व्यस्थित तरीके से ढील दिए जाने की कोशिशों के तहत स्पेन ने छह सप्ताह के बंद के बाद पहली बार बच्चों को बाहर जाकर खेलने की अनुमति दी. इस बीच, अमेरिकी गवर्नर अपने-अपने राज्यों में अपने-अपने तरीके से बंद में ढील देने के लिए कदम उठा रहे हैं. चीन की सरकारी मीडिया ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण का केंद्र रहे वुहान के अस्पतालों में कोविड-19 का अब कोई मरीज नहीं है. वुहान में इस संक्रमण से करीब 3,900 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी कोरोना वायरस संक्रमण से उबरने के बाद सोमवार को 10 डाउनिंग स्ट्रीट में काम पर लौट आए हैं.

#चीन ने घटिया क्वालिटी के 8.9 करोड़ मास्क जब्त किए
चीन ने घटिया गुणवत्ता के 8.9 करोड़ मास्क जब्त किये हैं. बता दें कि दुनिया भर से कोविड-19 से निपटने के लिए चीन से गए सुरक्षा उपकरणों को लेकर शिकायतें आ रही हैं. दुनियाभर में सुरक्षात्मक उपकरणों की मांग में तेजी आई है क्योंकि विभिन्न देश कोविड-19 का मुकाबला कर रहे हैं और अबतक 29 लाख इसकी चपेट में आ चुके हैं. हालांकि, चीन द्वारा निर्यात किए गए घटिया गुणवत्ता के मास्क की पूरी दुनिया से शिकायत आ रही है जिनका अधिकतर इस्तेमाल चिकित्सा पेशेवरों और सबसे अधिक असुरक्षित लोगों द्वारा किया जाना है. राज्य बाजार नियामक प्रशासन की उपनिदेशक गान लीन ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि नियामक ने शुक्रवार को करीब 1.6 करोड़ दुकानों का निरीक्षण किया और 8.9 करोड़ मास्क और 4.18 लाख व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों (पीपीई) को जब्त किया.

 

#कोविड-19 महामारी से लाखों बच्चों की जान खतरे में: यूनिसेफ
यूनिसेफ ने चेतावनी दी है कि दुनिया भर में फैली कोरोना वायरस महामारी के चलते लाखों बच्चे खसरा, डिप्थीरिया और पोलियो जैसे जीवन रक्षक टीके से वंचित रह जाने के जोखिम का सामना कर रहे हैं. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष ने कहा है कि कोविड-19 महामारी से पहले हर साल खसरा, पोलियो और अन्य टीके एक साल से कम आयु के लगभग दो करोड़ बच्चे की पहुंच से दूर थे. यूनिसेफ ने मौजूदा हालात को लेकर चेतावनी दी है कि यह 2020 में और इसके आगे भी भयावह स्थिति पैदा कर सकता है. संयुक्त राष्ट्र की संस्था ने शनिवार को कहा कि 2018 में 1.3 करोड़ बच्चे टीकाकरण से वंचित रह गये थे.

#अमेरिका
करीब एक महीने बाद अमेरिका में संक्रमण से मौतों की संख्या 1200 से नीचे आ गयी और रविवार को यहां 1157 मौतें दर्ज की गयीं. इसके बाद कुल मौतें बढ़कर अब 55,413 हो गयीं हैं. हालांकि रविवार को संक्रमण के 26,509 नए के केस सामने आए जिसके बाद अमेरिका में कुल मामलों की संख्या अब 10 लाख से कुछ ही कदम दूर रह गयी है. उधर कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने के बाद से व्हाइट हाउस में रोजाना हो रही राष्ट्रपति ट्रंप की प्रेस ब्रीफिंग को कई विवादों के बाद स्थगित कर दिया गया है.

#ब्रिटेन
ब्रिटेन में कोरोना वायरस से रविवार को 413 और लोगों की मौत हो गई जिसके बाद देश में मृतकों की संख्या बढ़कर अब 20,732 हो गई है. हालांकि एक महीने में यह एक दिन में हुई मौत की सबसे कम संख्या है. ब्रिटेन के पर्यावरण मंत्री जॉर्ज यूस्टाइस ने लंदन में नियमित डाउनिंग स्ट्रीट ब्रीफिंग के दौरान यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, 'अभी सामाजिक दूरी सहित अन्य उपायों में कोई ढील देने संबंधी निर्णय लेना जल्दबाजी होगा.' लॉकडाउन की समीक्षा के लिए सात मई की समय सीमा के संदर्भ में उन्होंने कहा कि इस संबंध में अगले दो सप्ताह में विचार किया जायेगा. हमारे पास विशेष रूप से चिकित्सा साक्ष्य के लिए वैज्ञानिक प्रमाणों पर विचार करने के लिए यह सही समय होगा.'

#स्पेन
देश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि कोरोना वायरस महामारी से स्पेन में रोज मरने वालों की संख्या में कमी आयी है और रविवार को यह संख्या 288 रही जो 20 मार्च के बाद से सबसे कम है. देश में पिछले छह हफ्तों में पहली बार लॉकडाउन में ढील देते हुये बच्चों को बाहर निकलने की अनुमति दी गयी. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि रोज मरने वालों की संख्या में कमी आयी है और यह शनिवार के 378 के आंकड़े से घटकर रविवार को 288 दर्ज किया गया. मंत्रालय ने बताया कि कोरोना वायरस की चपेट में आने से देश में अबतक 23 हजार 190 लोगों की मौत हो चुकी है जो दुनिया में अमेरिका और इटली के बाद सर्वाधिक है.
#पाकिस्तान
पाकिस्तान में रविवार को एक ही दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,508 नए मामले सामने आने के साथ ही देश में अभी तक 13,304 लोगों के कोविड-19 से संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है. बड़ी संख्या में नए मामले आने के बाद सरकारी अधिकारियों और विशेषज्ञों ने वायरस के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर लोगों से रमजान के दौरान मस्जिदों में नहीं जाने और समूह में नमाज नहीं पढ़ने की अपील की है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से कम से कम 18 लोगों की मौत हुई है, जिसके साथ ही देश में मृतकों की संख्या 272 तक पहुंच गई. अब तक 2,936 मरीज संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. मंत्रालय के अनुसार, देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,508 नये मामले सामने आये जिससे कुल मामलों की संख्या बढ़कर 13,304 हो गई है.

#अफ्रीका के 54 देशों में कोविड-19 के 30,000 से अधिक मरीज
अफ्रीका के 54 देशों में कोरोना वायरस संक्रमण के 30,000 से भी अधिक पुष्ट मामले सामने आ चुके हैं. अफ्रीका रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र ने यह जानकारी दी. रविवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक, अफ्रीका में इस वायरस से अब तक 1,374 लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक केवल दो अफ्रीकी देशों लेसोथो और कोमोरोस में संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया है. इस महाद्वीप में कोविड-19 के सबसे ज्यादा 4,361 मामले दक्षिण अफ्रीका में हैं. इसके बाद उत्तरी अफ्रीका के तीन देशों मिस्र में 4,319 मामले, मोरक्को में 3,897 और अल्जीरिया में 3,256 मामले हैं.

#लॉकडाउन में ढील मिलने पर इटली कोविड-19 संकट के कारणों की जांच में जुटा
कोरोना वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित देशों में से एक इटली में एक बात साफ है कि उसके सबसे प्रभावित प्रांत लोम्बार्डी में कुछ तो बेहद गलत हुआ जिसकी वजह से स्थिति भयावह हो गई. देश लॉकडाउन में ढील मिलने पर महामारी संकट के कारणों की जांच में जुट गया है. इटली कोरोना वायरस की वजह से अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा नागरिकों को खोने वाला देश है जहां इस वायरस की वजह से 26 हजार लोगों की मौत हुई है. इटली में वायरस संक्रमण का पहला मामला 21 फरवरी को सामने आया था. जनसांख्यिकी और स्वास्थ्य देखभाल में कमियों के साथ ही राजनीतिक और कारोबारी हितों ने एक करोड़ की आबादी वाले लोम्बार्डी के लोगों को ऐसी आपदा की तरफ मोड़ दिया जो इससे पहले कभी देखी नहीं गई.
#चीन का दावा- कोरोना वायरस के टीके का बंदरों पर परीक्षण रहा सफल
चीन की एक दवा कंपनी ने दावा किया है कि नोवेल कोरोना वायरस के टीके का बंदरों पर परीक्षण सफल रहा है. चीनी कंपनी सिनोवैक बायोटेक ने इस टीके का परीक्षण आठ रीसस मकाऊ बंदरों पर किया. उसने कहा कि परीक्षण के दौरान टीके ने बंदरों को संक्रमण से संरक्षित किया. कंपनी के मुताबिक, यह टीका कोरोना वायरस को आंशिक से पूरी तरह तक खत्म कर देता है। टीके की दो अलग-अलग खुराक बंदरों को दी गईं. कंपनी ने कहा है कि तीन सप्ताह बाद ये बंदर वायरस के संपर्क में आए, लेकिन संक्रमित नहीं हुए. फिर वायरस से संक्रमित करने के बाद चार बंदरों को टीके की ज्यादा खुराक दी गई थी और सात दिन के बाद उनके फेफड़ों में वायरस का संक्रमण बहुत ही कम देखा गया. 16 अप्रैल से इस टीके का मानव परीक्षण शुरू किया गया है.

 

ये भी पढ़ें:

कोरोना को कुछ यूं रोक सकते हैं, इस देश ने बताया दुनिया को तरीका

कोरोना संकट के बीच अमेरिका और ईरान में फिर बढ़ सकता है तनाव, जानें क्यों

भारत में कोरोना से पहली मौत किसकी हुई? क्यों है इस पर विवाद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज