दुनिया में कोरोना: भारत ने रूस को पीछे छोड़ा, WHO ने कहा- बुरा वक्त आना बाकी

दुनिया में कोरोना: भारत ने रूस को पीछे छोड़ा, WHO ने कहा- बुरा वक्त आना बाकी
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेडरॉस एड्हनोम गैब्रियेसुस की फाइल फोटो (फोटो- AP)

रविवार को दुनिया भर में संक्रमण (Coronavirus) के 1 लाख 80 हज़ार नए केस सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 1 करोड़ 15 लाख से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटों में 3600 से ज्यादा लोगों ने संक्रमण (Covid-19) से अपनी जान भी गंवा दी और कुल मौतों की संख्या बढ़कर 5 लाख 36 हज़ार से भी ज्यादा हो गयी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिका (US) में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) का बुरा दौर फिर लौट आया है जबकि ब्राजील (Brazil) और भारत (India) में भी लगातार हज़ारों की संख्या में नए मामले सामने आ रहे हैं. रविवार को दुनिया भर में संक्रमण (Covid-19) के 1 लाख 80 हज़ार नए केस सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 1 करोड़ 15 लाख से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटों में 3600 से ज्यादा लोगों ने संक्रमण से अपनी जान भी गंवा दी और कुल मौतों की संख्या बढ़कर 5 लाख 36 हज़ार से भी ज्यादा हो गयी है. रविवार को अमेरिका में 44 हज़ार, ब्राजील में 26 हज़ार और भारत में 24 हज़ार नए मामले सामने आए हैं.

# नेपाल में कोरोना के 180 नए मामले
नेपाल में गत 24 घंटे में कोरोना वायरस से 180 और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि होने के साथ सोमवार को कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 15,964 हो गई. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि सोमवार को बुगलुंग जिले में एक 29 वर्षीय कोविड-19 मरीज की मौत के साथ नेपाल में अब तक 35 लोग इस महामारी से अपनी जान गंवा चुके हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता जोगेश्वर गौतम ने बताया कि गत 24 घंटे में 264 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है. उन्होंने बताया कि इसके साथ ही अबतक ठीक होने वाले कोविड-19 मरीजों की संख्या बढ़कर 6,811 हो गई है. गौतम ने बताया कि अबतक देश में 2,55,728 लोगों की जांच की गई है. प्रवक्ता के मुताबिक नेपाल में 9,118 मरीज उपचाराधीन हैं, जिनका देश के अलग-अलग हिस्सों में इलाज चल रहा है.

# पाकिस्तान में 3,344 नए मामले
पाकिस्तान में सोमवार (6 जुलाई) को पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,344 मामले सामने आए जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 2,31,000 के पार चली गई. वहीं इस अवधि में 50 लोगों की मौत हो गई जिससे मृतकों की कुल संख्या 4,762 हो गई. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अनुसार संक्रमण के 3,344 मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या 2,31,818 हो गई. वहीं 1,31,649 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. संक्रमण के कुल मामलों में सिंध प्रांत में 94,528 मामले, पंजाब में 81,963, खैबर-पख्तनुख्वा में 28,116, इस्लामाबाद में 13,494, बलूचिस्तान में 10,814, गिलगित-बल्तिस्तान में 1,561 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 1,342 मामले शामिल हैं. पिछले 24 घंटे में 50 लोगों की मौत के बाद इस खतरनाक वायरस की वजह से देश में 4,762 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 2,406 की हालत नाजुक है. मंत्रालय ने कहा कि अब तक 56.78 फीसद लोग स्वस्थ हो चुके हैं और जबकि अब भी 43.21 फीसद लोग संक्रमित हैं.



#फिलीपींस में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़े
फिलीपींस में देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए प्रतिबंधों में छूट दिए जाने के बाद हाल के दिनों में कोरोना वायरस संक्रमण के रिकॉर्ड मामले सामने आए हैं. बढ़ते मामलों को देखते हुए ऐसी संभावना है कि राजधानी में फिर से सख्त लॉकडाउन लागू किया जा सकता है. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि हाल के दिनों में 2,434 मामले सामने आए हैं और इनमें से अधिकतर मामले मेट्रोपोलिटन क्षेत्र मनीला से सामने आए हैं. इसके साथ ही देश में कुल संक्रमितों की संख्या 44,250 हो गई जबकि 1,297 लोगों की मौत हो चुकी है. दक्षिणपूर्व एशियाई देश में संक्रमण और मौत का यह सबसे ज्यादा मामला है.

गृह सचिव एडवार्डो एनो ने कहा कि अगर संक्रमण के मामलों में इजाफा होता रहा और अस्पतालों में क्षमता से ज्यादा मरीज हुए तो राजधानी क्षेत्र में फिर से लॉकडाउन लागू किया जा सकता है. मनीला के एक प्रमुख अस्पताल चीनी जनरल अस्पताल और मेडिकल सेंटर ने कहा कि उसके यहां संक्रमण के और मरीज न भेजे जाएं, क्योंकि कोविड-19 वार्ड मरीजों से भर चुका है. मंदी के कगार पर पहुंच गई अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए राष्ट्रपति रोड्रिगो मनीला के शहरी क्षेत्र में एक जून से लॉकडाउन में छूट दे दी थी. यह क्षेत्र संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित है.

#हज के लिए सऊदी अरब के विशेष नियम
सऊदी अरब की सरकारी समाचार एजेंसी ने सूचना दी है कि सऊदी अरब सरकार ने हाजियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हज यात्रा के दौरान स्वास्थ्य संबंधी प्रोटोकॉल लागू करने की बात कही है. सऊदी अरब सरकार को चिंता है कि हज यात्रा के दौरान लोगों में कोरोना संक्रमण फैल सकता है और इससे संक्रमण अन्य जगहों तक भी पहुँच सकता है. इसे ध्यान में रखते हुए हज यात्रा के दौरान एक जगह एकत्र होने, बैठकें करने और यात्रियों के बीच मुलाक़ात पर सरकार ने रोक लगा दी है. हज यात्रा के आयोजकों और श्रद्धालुओं, दोनों के लिए ही मास्क पहनना अनिवार्य होगा.

सऊदी अरब ने जून में निर्णय लिया था कि हज के लिए सिर्फ़ एक हज़ार घरेलू श्रद्धालुओं को ही अनुमति दी जायेगी और कोरोना महामारी की वजह से बाहरी यात्रियों पर सरकार ने रोक लगा दी थी. सऊदी अरब के सेंटर फ़ॉर डिज़ीज़ प्रिवेंशन एंड कंट्रोल (सीडीसी) ने अपने ताज़ा बयान में कहा है कि ‘वर्ष 2020 की यात्रा में पवित्र काबा को छूने पर प्रतिबंध रहेगा.’ सीडीसी ने कहा है कि हज यात्रियों को काबा के इर्द-गिर्द नमाज़ के लिए एकत्र होते समय, सोशल डिस्टेन्सिंग का विशेष ध्यान रखते हुए एक दूसरे से डेढ़ मीटर का फासला रखना होगा. इसके साथ ही अन्य धार्मिक स्थलों जैसे मोना, मुज़दालिफ़ा और अराफ़ात में हज यात्रा परमिट वाले कुछ ही लोगों को जाने की अनुमति होगी. इस साल हज यात्रा 19 जुलाई से शुरू हो रही है और ये दो अगस्त तक चलेगी.

#ईरान में कोविड-19 से एक दिन में रिकॉर्ड मौतें
ईरान सरकार ने सार्वजनिक जगहों पर लोगों का मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है. सरकार ने अब यह बात भी स्वीकार की है कि लोगों में स्वैच्छिक रूप से सोशल डिस्टेन्सिंग लागू करने की उनकी कोशिशें नाकाम रही हैं. ईरान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने जो ताज़ा डेटा जारी किया है, उसके अनुसार बीते 24 घंटे में 163 लोगों की मौत हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, महामारी के दौरान कोविड-19 से होने वाली मौतों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है.

#कोरोना वायरस का सबसे बुरा दौर आना अभी बाकी है: WHO
कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से अब तक पांच लाख से ज़्यादा मौतें हो चुकी हैं. इधर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) महानिदेशक टेडरॉस एडनहॉम ने कहा है कि कुछ देशों में हालात सुधरने के बावजूद महामारी अब भी तेज़ी से फैल रही है और जैसे-जैसे पाबंदियां घटाई जा रही हैं, संक्रमण की दूसरी लहर देखी जा रही है. टेडरॉस ने साफ़ कहा कि कुछ देशों में संक्रमण का सबसे बुरा दौर आना अभी बाक़ी है.

#स्पेन के कुछ हिस्सों में फिर से कड़ी पाबंदियां
स्पेन के उत्तर-पश्चिनी क्षेत्र गलिसिया में कोविड-19 संक्रमण मामलों में तेज़ी की वजह से दोबारा कड़ी पाबंदियां लगा दी गई हैं. इन पाबंदियों का असर क्षेत्र के लगभग 70 हज़ार लोगों पर पड़ेगा. रविवार आधी रात से शुक्रवार तक सिर्फ़ उन्हीं लोगों को इस क्षेत्र में आने या यहां से जाने की इजाज़त होगी जो काम के सिलसिले से बाहर हैं. इससे एक दिन पहले स्पेन के कैटेलोनिया में भी ऐसी ही स्थानीय पाबंदियां लगाई गई थीं. हालांकि राष्ट्रीय स्तर पर स्पेन में कोविड-19 संक्रमण पर काफ़ी हद तक काबू पाया जा चुका है. स्पेन में कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से कम से कम 28,385 लोगों की मौत हुई है.

#श्रीलंका में तीन महीने बाद सोमवार से खुलेंगे स्कूल
श्रीलंका में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लागू लॉकडाउन के चलते 115 दिन बंद रहने के बाद सोमवार से स्कूलों को चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा. शिक्षा मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी. देश में कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला सामने आने के बाद मार्च के मध्य में स्कूलों को बंद कर दिया गया था. मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव रंजीत चंद्रशेखर ने कहा कि कक्षा पांच,11 और 13 के छात्र सोमवार से स्कूल जाना शुरू कर देंगे. अधिकारी ने बताया कि अगले चरण में कक्षा 12 और 10 के छात्र 20 जुलाई से स्कूल आएंगे. कक्षा 3,4,6,7,8 और 9 के छात्र 27 जुलाई को स्कूल आना शुरू करेंगे. अंतिम चरण 10 अगस्त को होगा और कक्षा 1 और 2 के बच्चे स्कूल आना शुरू करेंगे. उन्होंने कहा, 'माता-पिता को सख्ती से सलाह दी जाती है कि वे बुखार, खांसी और फ्लू होने पर बच्चों को स्कूल नहीं भेजें.'

#पाकिस्तान में 48 डॉक्टरों ने इस्तीफा दिया
पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के शिक्षण अस्पतालों में कार्यरत 48 डॉक्टरों ने कोरोना वायरस से बचाव के लिये कोई सुरक्षा प्रावधान न होने का हवाला देते हुए रविवार को अपने पदों से इस्तीफा दे दिया, जिससे कोविड-19 के खिलाफ जंग में देश की कोशिशों को झटका लगा है. पाकिस्तान में अब तक 2,28,000 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें से 4,700 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. पंजाब के स्वास्थ्य विभाग की ओर से रविवार को यहां जारी अधिसूचना के अनुसार 48 डॉक्टरों ने सरकारी शिक्षण अस्पतालों में अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है. उनके इस्तीफे स्वीकार कर लिए गए हैं. इनमें से अधिकतर चिकित्सक युवा हैं.

इस्तीफा देने वाले डॉक्टर लाहौर के मेयो, सर्विसेज, जिन्ना, जनरल, लेडी एटिसन, चिल्ड्रन अस्पताल, फैसलाबाद के शेख जायद, एलायड और सिविल अस्पताल और मुल्तान के एसजेडएच रहीम यार खान तथा निश्तर हॉस्पिटल में कार्यरत थे. लाहौर के एक सार्वजनिक अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर ने कहा, 'डॉक्टरों ने सरकार से कई बार घातक कोरोना वायरस से बचने के लिये पर्याप्त सुरक्षा उपकरण मुहैया कराने का अनुरोध किया था, लेकिन सरकार की नाकामी के चलते उन्होंने अपने पदों से इस्तीफा दे दिया.' उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि सरकार चिकित्सा कर्मियों की सुरक्षा को लेकर अधिक दिलचस्पी नहीं रखती. पाकिस्तान के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के अनुसार कोविड-19 के चलते अब तक 70 से अधिक चिकित्सा पेशेवरों की मौत हो चुकी है. इनमें अधिकतर डॉक्टर हैं. इसके अलावा 5,000 से अधिक चिकित्सा कर्मी संक्रमित पाए गए हैं.

#नेपाल में कोरोना वायरस के 293 नये मामले
नेपाल में रविवार को कोरोना वायरस के 293 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 15,784 पहुंच गई है. स्वास्थ्य एवं जनसंख्या मंत्रालय ने यह जानकारी देते हुए बताया कि देश में इस महामारी से स्वस्थ होने की दर 41 प्रतिशत है. मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि रविवार को इस महामारी से स्वस्थ होने के बाद 132 और लोगों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई. देश में अब तक इस बीमारी से 6,547 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। देश में अभी 9,203 मरीजों का इलाज चल रहा है. नेपाल में इस वायरस से अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है.

#सिंगापुर में कोविड-19 के 136 नए मामले
सिंगापुर में कोविड-19 के 136 नए मामले सामने आने के बाद देश में इस महामारी के कुल मामले बढ़कर 44,800 हो गए हैं. नए मरीजों में अधिकतर वे विदेशी कामगार शामिल हैं जो डॉर्मिटरीज में रहते हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार नए मामलों में से 18 सामुदायिक क्षेत्रों से हैं. इन 18 मरीजों में 12 कार्य वीजा वाले विदेशी नागरिक हैं लेकिन वे डॉर्मिटरीज के बाहर रहते हैं. अन्य छह मरीज सिंगापुर के नागरिक या स्थायी निवासी (विदेशी) हैं. मंत्रालय के मुताबिक, सिंगापुर में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 136 नए मामले सामने आने से इस महामारी के कुल मामले बढ़कर 44,800 हो गए हैं। नए मरीजों में अधिकतर वे विदेशी कामगार शामिल हैं जो डॉर्मिटरीज में रहते हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार के बुलेटिन अनुसार नए मरीजों में सात विदेश से आए लोग हैं जिन्हें घरों में पृथक-वास में रखा गया है. इनमें भारत से आया एक व्यक्ति भी शामिल है.

#दक्षिण अफ्रीका में 10,000 से अधिक नए मामले सामने आए
दक्षिण अफ्रीका में पहली बार एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 10,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं. इसके साथ ही, दक्षिण अफ्रीका में संक्रमण के अब तक 1,87,977 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. देश में कोविड-19 से मरने वाले लोगों की संख्या भी 3,000 को पार कर चुकी है. गाउतेंग प्रांत और राजधानी प्रिटोरिया में संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, जो अब देश के कुल मामलों का एक तिहाई है. अधिकारियों ने कहा है कि सरकारी अस्पतालों में तेजी से बिस्तर भर रहे हैं और नर्सों ने इसे लेकर चिंता व्यक्त की है. अफ्रीकी महाद्वीप में अब तक कोविड-19 के लगभग 4,50,000 मामले सामने आये हैं.

#दक्षिण कोरिया में संक्रमण के 61 नए मामले आए सामने
दक्षिण कोरिया में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 60 से अधिक नए मामले आए और अब देश में संक्रमण ग्रेटर सियोल क्षेत्र के बाहर भी फैलता जा रहा है. कोरिया रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र द्वारा रविवार को जारी आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 के 61 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या 13,091 पर पहुंच गई है, जिनमें से 283 लोगों की मौत हो चुकी है. एजेंसी का कहना है कि नए 61 मामलों में से 43 लोग स्थानीय संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं जबकि 18 लोग विदेशों से लौटे हैं. 43 में से 41 मामले घनी आबादी वाले सियोल मेट्रोपोलिटन इलाके से सामने आए हैं,जबकि दो मामले दाजियोन और ग्वांग्झू के हैं. बुसान, दाएगू, दाजियोन और ग्वांग्झू जैसे प्रमुख शहरों में भी संक्रमण के मामले सामने आए हैं जहां सैकड़ों स्कूलों को बंद कर दिया गया है और सामाजिक पाबंदियां बढ़ा दी गई हैं.

#हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन का परीक्षण बंद कर रहा है डब्ल्यूएचओ
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि वह अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के उपचार में मलेरिया रोधी दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के प्रभावी होने या नहीं होने के संबंध में चल रहे परीक्षण को बंद कर रहा है. डब्ल्यूएचओ ने शनिवार को कहा कि उसने परीक्षण की निगरानी कर रही समिति की हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और एचआईवी/एड्स के मरीजों के उपचार के लिए इस्तेमाल होने वाली दवा लोपिनाविर/रिटोनाविर के परीक्षण को रोक देने की 'सिफारिश स्वीकार' कर ली है.

संगठन ने कहा कि अंतरिम परिणाम दर्शाते हैं कि हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और लोपिनाविर/रिटोनाविर के इस्तेमाल से 'अस्पताल में भर्ती कोविड-19 के मरीजों की मृत्युदर में कोई कमी नहीं आई या मामूली कमी आई.' उसने कहा कि अस्पताल में भर्ती जिन मरीजों को ये दवाएं दी गईं, उनकी मृत्युदर बढ़ने का भी कोई 'ठोस साक्ष्य' नहीं है, वहीं इससे जुड़े परीक्षण के 'क्लीनिकल प्रयोगशाला परिणाम में इससे जुड़े सुरक्षा संबंधी कुछ संकेत मिले हैं.' डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यह फैसला उन मरीजों पर संभावित परीक्षण को प्रभावित नहीं करेगा, जो अस्पताल में भर्ती नहीं हैं या कोरोना वायरस के संपर्क में आने की आशंका से पहले या उसके कुछ ही देर बाद दवा ले रहे हैं.

#बीजिंग में कोरोना वायरस के मामलों में आ रही है कमी: चीन
चीन में कोविड-19 के आठ नए मामलों की पुष्टि हुई है और चीनी प्राधिकारियों का कहना है कि बीजिंग में संक्रमण के मामलों में कमी आ रही है. बीजिंग में संक्रमण के दो नए मामले सामने आए हैं. देश की राजधानी में पिछले सात दिन से 10 से कम मामले सामने आए हैं. प्रशासन ने तीन हफ्ते पहले शहर में संक्रमण के 334 मामलों की पुष्टि की थी जो मार्च के बाद से देश में संक्रमण के मामलों की सबसे बड़ी संख्या थी. बीजिंग सरकार के प्रवक्ता शू हेजियान ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि स्थिति नियंत्रण में हैं और इसमें लगातार सुधार हो रहा है. बीजिंग के बाहर छह नए मामले सामने आए हैं। ये छह लोग विदेशों से लौटे हैं. गांसू प्रांत में तीन मरीज पाए गए हैं. चीन में कोरोना वायरस के कुल 83,553 मामले सामने आए थे जिनमें से 4,634 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें वे लोग शामिल नहीं हैं, जो कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए है, लेकिन उनमें संक्रमण का कोई लक्षण नहीं है.

#मेक्सिको में कोविड-19 से हुई मौतों का आंकड़ा 30 हजार के पार
मेक्सिको में कोविड-19 से अब तक 30 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और वह इन मौतों के मामले से फ्रांस से आगे निकल गया है. इसके साथ ही देश अब कोविड-19 से मौत होने के मामले में दुनिया में पांचवें स्थान पर है. अधिकारियों ने शनिवार को मेक्सिको में कोविड-19 से 523 और लोगों की मौत की पुष्टि की जिसके बाद देश में कोविड-19 से हुईं मौतों संख्या बढ़कर 30,366 हो गई है. मेक्सिको में शनिवार को संक्रमण के लगभग 6,000 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की कुल संख्या 2,51,165 हो गई है. यह संख्या लगभग स्पेन के बराबर है जो विश्व में आठवां सबसे अधिक प्रभावित देश है. वायरस संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के बावजूद अधिकारियों ने इस हफ्ते शहर के मुख्य हिस्सों को खोलने की अनुमति दे दी थी लेकिन कुछ दुकानों पर स्वच्छता न पाए जाने पर शुक्रवार को उन्होंने अपना निर्णय वापस ले लिया.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading