दुनिया में कोरोना: ग्रीस में खुले बार-रेस्टोरेंट, स्पेन में प्रतिबंधों में छूट

दुनिया में कोरोना: ग्रीस में खुले बार-रेस्टोरेंट, स्पेन में प्रतिबंधों में छूट
ग्रीस में बार और रेस्टोरेंट खोले गए हैं वहीं स्पेन के कुछ शहरों में भी प्रतिबंधों में छूट दी गई है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण के बीच कुछ देशों ने सामान्य जीवन बहाली की तरफ कदम बढ़ा दिए हैं. ग्रीस (Greece) में बार और रेस्टोरेंट्स खोले गए हैं वहीं स्पेन (Spain) में भी कुछ शहरों मेें प्रतिबंधों में छूट दी गई है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में भारत (India) भी अब टॉप-10 में शामिल हो गया है, भारत ने केस संख्या में ईरान (Iran) को पीछे छोड़ दिया है. उधर दुनिया भर में लगातार चौथे दिन रविवार को संक्रमण (Covid-19) के करीब 1 लाख नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 54,94,400 से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटे में दुनिया भर में संक्रमण से 2800 से ज्यादा मौतें भी हुईं हैं और कुल मौतों की संख्या बढ़कर अब 3,46,400 से ज्यादा हो गयी है. करीब 45 दिन बाद ऐसा हुआ है कि अमेरिका (US) को किसी देश ने संक्रमण से हो रही दौनिक मौतों की संख्या में पीछे छोड़ दिया है. रविवार को ब्राजील (Brazil) में अमेरिका के मुकाबले ज्यादा मौतें दर्ज की गयी हैं.

#अगले हफ्ते से खुल जाएंगे ब्रिटेन के स्कूल, सुरक्षा के होंगे ये उपाय
अगले हफ्ते से ब्रिटेन के स्कूल खुल जाएंगे. ब्रिटेन में बड़ी संख्या में स्कूलों को खोलने की तैयारी चल रही है. स्कूलों में कोरोना के संक्रमण से सुरक्षा के लिए विशेष एहतियाती उपाय किए जाएंगे. स्कूल में टीचर और छात्र दोनों ही प्रोटेक्टिव बब्बल्स में होंगे. ब्रिटेन के शिक्षामंत्री ने ये जानकारी दी है. विपक्ष के विरोध के बावजूद गैविन विलियमसन ने कहा है कि अगले हफ्ते से बड़ी संख्या में छात्र अपने स्कूल जा पाएंगे. विलियमसन ने वादा किया है कि छात्रों की सुरक्षा का खास ख्याल रखा जाएगा.

#बोरिस जॉनसन के टॉप के सहयोगी ने तोड़ा लॉकडाउन, इस्तीफे की मांग को लेकर बवाल



ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के टॉप के सहयोगी डोमिनिक कमिंग्स पर लॉकडाउन के नियमों को तोड़कर अपने घर जाने के आरोप हैं. इसको लेकर खूब आलोचना हो रही है. उनसे इस्तीफे की मांग तक की जा रही है. डोमिनिक कमिंग्स पर आरोप हैं कि उन्होंने तीन बार लॉकडाउन के नियमों को तोड़कर 260 मील दूर अपने घर गए. इस तरह की रिपोर्ट सामने आई है कि कमिंग्स ने डरहम की यात्रा की है. जहां मार्च से उनका परिवार रह रहा है. इसके बाद आरोप लगे हैं कि कमिंग्स ने अप्रैल महीने में लंदन से डरहम की दो बार यात्रा की. हालांकि यात्रा के लिए सरकार ने उन्हें अनुमति नहीं दी थी.



#ग्रीस में खुले बार-रेस्टोरेंट, स्पेन में प्रतिबंधों में छूट
ग्रीस ने सामान्य जीवन बहाली की तरफ कदम बढ़ा दिया है. ग्रीस में रेस्टोरेंट्स, कैफे और बार को दोबारा से खोला गया है. ग्रीस में टूरिज्म इंडस्ट्री को फिर से पटरी पर लाने की तैयारी चल रही है. 15 जून से वहां के होटल भी खुल जाएंगे. कोरोना वायरस की वजह से वहां तीन महीने से प्रतिबंध लगे थे. इसी तरह से स्पेन ने अपने कुछ शहरों में प्रतिबंधों में छूट दी है. मैड्रिड में पार्क और टेरेस कैफे को खोला गया है. बार्सिलोना में भी इसी तरह की छूट मिली है.वहां 10 लोग एकजगह जा सकते हैं. लेकिन उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा. स्पेन में बाहर से आने वाले लोगों के लिए क्वारंटाइन के नियम भी 1 जुलाई से हटा लिए जाएंगे. फिलहाल विदेशों से आने वाले नागरिकों के लिए यहां 14 दिन क्वारंटाइन रहने का नियम है.

#अबू धाबी में कोरोना संक्रमण की चपेट में आकर भारतीय टीचर की मौत
यूएई में कोरोना वायरस की चपेट में आकर 50 साल के भारतीय टीचर की मौत हुई है. मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात की जानकारी दी गई है. अनिल कुमार नाम के हिंदी टीचर अबू धाबी के सनराइज स्कूल में पढ़ाते थे. गल्फ न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को उनकी कोरोना के संक्रमण की वजह से मौत हो गई. अनिल कुमार 7 मई को कोरोना की चपेट में आए थे.

#लॉकडाउन के दौरान भी शाही शौक पूरे कर रही हैं महारानी, 22 सेवादारों की फौज तैनात
कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से लगाए गए लॉकडाउन के चलते करोड़ों लोगों की जिंदगी बदल गई. लेकिन इस दौरान ब्रिटेन की महारानी की जिंदगी नहीं बदली. वो पहले की तरह अपने शौक पूरी करती रहीं. लॉकडाउन के दौरान ब्रिटेन की महारानी ने अपनी घुड़सवारी का शौक भी जारी रखा. और अपनी आलीशान गाड़ी से पार्क तक जाकर एक्सरसाइज करने की नियमित आदत भी बनाए रखी. इस दौरान 22 सेवादारों की फौज उनकी दिनरात सेवा करती रही है. महारानी ने विंडसर के महल में खुद और राजकुमार फिलीप को आइसोलेट कर रखा है. हालांकि इस दौरान उनकी नियमित दिनचर्या में कोई बदलाव नहीं आया.

#डायबिटीज के मरीजों को लॉकडाउन हटने के बाद भी रहना होगा घरों के अंदर
डायबिटीज के मरीजों को लॉकडाउन हटने के बाद भी घरों के अंदर रहना पड़ सकता है. डायबिटीज की वजह से वो कोरोना संक्रमण के हाई रिस्क वाले लोगों में आते हैं. रिसर्चर ने बताया है कि डायबिटीज के मरीजों को कोरोना का संक्रमण होने पर उनके मरने का खतरा ज्यादा है. साइंटिस्ट इस बात का पता लगा रहे हैं कि क्या डायबिटीज के रोगियों पर कोरोना वायरस की महामारी को लेकर और ज्यादा रिसर्च करने की जरूरत है. आधिकारिक आंकड़े बताते हैं कि डायबिटीज के टाइप 1 से ग्रसित मरीजों में कोरोना के संक्रमण की वजह से मौत का खतरा बाकी मरीजों की तुलना में साढ़े तीन गुना ज्यादा होता है. इसी तरह से टाइप 2 डायबिटीज वाले लोग ज्यादातर मोटे होते हैं. उनमें कोरोना की वजह से मौत का खतरा दोगुना होता है.

#जापान में हटाई गई कोरोना के चलते लगी इमरजेंसी, पीएम शिंजो आबे ने किया ऐलान
जापान में कोरोना वायरस के चलते लगाई गई इमरजेंसी हटा ली गई है. इस बारे में प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने ऐलान किया है. शिंजो आबे ने पूरे देश में लगी स्टेट ऑफ इमरजेंसी हटा ली है. इसके बाद उन इलाकों में लगे प्रतिबंध भी खत्म हो गए, जहां इमरजेंसी की वजह से कामकाज ठप पड़ा था. एक टेलीविजन इंटरव्यू में शिंजो आबे ने कहा है कि हमने इमरजेंसी हटाने के लिए काफी कड़े पैमाने तय कर रखे थे. अब जाकर हमने उन पैमानों को छुआ है. जिसके बाद इमरजेंसी हटाने का फैसला लिया गया है.

#जर्मनी में संक्रमण के 289 नए मामले
रॉबर्ट कोच इंस्टिट्यूट के अनुसार जर्मनी में कोरोना वायरस से संक्रमण के 289 नए मामले सामने आए हैं. इसके साथ ही जर्मनी में संक्रमितों की कुल संख्या 178,570 हो गई है. जर्मनी में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या भी 8,257 हो गई है.

#वुहान ने किए एक दिन में 10 लाख से ज़्यादा टेस्ट
चीन के वुहान में रविवार को एक दिन में 10 लाख से अधिक लोगों का कोरोना टेस्ट (न्युक्लिक ऐसिट टेस्ट) किया गया. बता दें कि वुहान से ही कोरोना वायरस शुरू हुआ और दुनियाभर में फैला. इसके ठीक एक दिन पहले यहां 14 लाख लोगों का टेस्ट हुआ था.

#अमेरिका
अमेरिका में रविवार को नए केस और संक्रमण से हो रही मौतों में कमी आई है. यहां 19,600 से ज्यादा नए केस सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 16,86,000 से भी ज्यादा हो गए हैं. यहां बीते 24 घंटे में 617 लोगों की संक्रमण से मौत भी हो गयी जिसके बाद कुल मौतों का आंकड़ा अब 1 लाख के करीब पहुंच गया है.

#ब्राजील
ब्राजील में रविवार को भी कोरोना का कहर जारी रहा और संक्रमण के 16,220 ने केस सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर अब 3,63,618 हो गए हैं. यहां बीते 24 घंटे में 703 लोगों की संक्रमण से मौत ही जिसके बाद कुल मौतों का आंकड़ा बढ़कर अब 22,700 से भी ज्यादा हो गया है.

#रूस में एक दिन में संक्रमण से सर्वाधिक मौत
रूस में एक दिन में कोरोना वायरस से सबसे अधिक लोगों की मौत हुई लेकिन तीन सप्ताह में संक्रमण के नये मामले सबसे कम सामने आये है. राष्ट्रीय कोरोना वायरस कार्यबल ने रविवार को बताया कि वायरस से 153 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 3,541 पर पहुंच गई है. देश में इससे पहले एक दिन में सबसे अधिक 150 लोगों की मौत हुई थी. संक्रमण के 8,599 नए मामले सामने आये हैं. मई में कई दिनों तक प्रतिदिन संक्रमण के मामलों की संख्या 11,000 से अधिक रही. रूस में कुल मिलाकर संक्रमण के 3,44,481 मामले सामने आये है. रूस में कम मृत्यु दर को लेकर पश्चिमी देश अपनी आशंका जता चुके हैं, कुछ का कहना है कि संभव है कि सरकार वायरस से हो रही मौतों की खबरों को दबा रही है और आंकड़ों में हेरफेर कर रही है. रूसी अधिकारियों ने इन आरोपों से इंकार किया है. उनका कहना है कि कम संख्या वायरस पर नियंत्रण को लेकर उठाए गए प्रभावी कदमों की वजह से है.

#पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण के कुल 54,601 मामले
पाकिस्तान में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण से 36 लोगों की मौत हो गई, जिससे देश में संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 1,133 हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी. इसके अलावा देश में संक्रमण के कुल मामलों का आंकड़ा 54,601 पहुंच गया है. अब तक सिंध में 21,645 मामले, पंजाब में 19,557, खैबर-पख्तूनख्वा में 7,685, बलूचिस्तान में 3,306, इस्लामाबाद में 1,592, गिलगित-बाल्तिस्तान में 619 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 197 मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कुल 17,198 मरीज अब तक स्वस्थ हो चुके हैं और अब तक कुल 4,73,607 लोगों की जांच की गई हैं. सरकार ने ईद की नमाज अदा करते समय सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने के लिए सख्त निर्देश भी दिए हैं और लोगों से रिश्तेदारों के यहां और समारोहों में जाने से बचने के लिए कहा.

#अमेरिका की पास्ता कंपनी में फैला कोरोना वायरस
अमेरिका में पास्ता बनाने वाली एक कंपनी ने स्पोकेन शहर में स्थित अपनी फैक्टरी में कोरोना वायरस फैलने की घोषणा की है. यह खबर ऐसे समय में सामने आयी है जब अमेरिकी सरकार अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने की तैयारी कर रही है. अखबार ‘द स्पोक्समैन-रिव्यू’ की खबर के मुताबिक फिलाडेल्फिया मैक्रोनी कंपनी ने शुक्रवार को एक बयान में बताया कि उसके 72 कर्मचारियों की कोविड-19 के लिए जांच की गई और 24 कर्मी संक्रमित पाए गए हैं. स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि स्पोकेन काउंटी में बृहस्पतिवार और शुक्रवार के बीच 31 नए मामले आने के साथ ही संक्रमण के मामलों की वृद्धि हुई है. कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि फैक्टरी के सभी कर्मचारियों की जांच की गई है और फैक्टरी को संक्रमण मुक्त किया गया है. कंपनी संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने के लिए स्पोकेन रिजनल हेल्थ डिस्ट्रिक्ट के साथ मिलकर काम कर रही है.

#दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस संक्रमण के 25 नए मामले
दक्षिण कोरिया में 24 घंटे में कोरोना वायरस के 25 नए मामले सामने आए हैं. कोरियाई रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र ने कहा कि रविवार को जारी नए आंकड़ों के साथ देश में रोगियों की कुल संख्या 11,190 हो गयी है जिनमें 266 की मृत्यु हो चुकी है. एजेंसी ने कहा कि इनमें से 10,213 लोग सही हो चुके हैं और उन्हें पृथक-वास केंद्रों से छुट्टी दे दी गयी है. उसने कहा कि नए 25 मामलों में से 17 लोग स्थानीय रूप से संक्रमित हुए और बाकी आठ मामले दूसरे देशों से आए लोगों के संक्रमण के हैं.

 

#नेपाल में कोरोना वायरस के 19 नए मामले, संक्रमितों की कुल संख्या 603 हुई
नेपाल में रविवार को कोरोना वायरस के 19 नए मामले सामने आए, जिससे देश में संक्रमितों की कुल संख्या 603 हो गयी. स्वास्थ्य और जनसंख्या मंत्रालय के एक बयान के अनुसार, संक्रमित सभी नए लोग पुरुष हैं। परसा जिले में तीन लोगों को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया. बारा, मोरंग और रौतहट जिलों से एक-एक मामला सामने आया है. इसी तरह, रूपनदेही में छह लोगों को संक्रमित पाया गया है, जबकि कपिलवस्तु में तीन व्यक्तियों और काठमांडू, नुवाकोट और गुलमी में एक-एक व्यक्ति को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया है. मंत्रालय ने बताया कि कोरोना वायरस के 17 और रोगियों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है, जिससे देश में अब ठीक हो चुके लोगों की कुल संख्या 87 हो गई है. कोरोना वायरस से अब तक नेपाल में तीन लोगों की जान जा चुकी है. वर्तमान में, नेपाल में अभी 513 मरीजों का इलाज चल रहा है.

#अमेरिका में कोविड-19 के मामलों में गिरावट आ रही है: ट्रंप
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को ट्वीट किया कि देश में कोविड-19 संक्रमण के मामले और इससे होने वाली मौतों की संख्या में गिरावट आ रही है. ट्रंप का ट्वीट ऐसे समय में आया है जब अमेरिका में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों का आंकड़ा एक लाख पहुंचने वाला है. ट्रंप ने ट्वीट किया, “देश भर में मामले, संख्या और मौतों में गिरावट आ रही है।” इससे कुछ दिन पहले व्हाइट हाउस की अधिकारी डॉ डेबोराह बर्क्स ने कहा था कि अस्पताल में कोविड-19 के मरीजों की संख्या में 50 प्रतिशत की गिरावट आई है.

#चीन ने अमेरिका पर 'नए शीत युद्ध' की ओर धकेलने का आरोप लगाया
चीन ने रविवार को अमेरिका पर आरोप लगाया कि वह कोरोना वायरस के बारे में 'झूठ' फैलाकर द्विपक्षीय संबंधों को 'नए शीत युद्ध' की कगार पर ले जा रहा है. चीन ने कहा कि वह घातक वायरस की उत्पत्ति के स्रोत का पता लगाने के वैश्विक प्रयासों के साथ रहेगा. चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने रविवार को कहा कि कोविड-19 को लेकर चीन के खिलाफ कोई भी मुकदमा कानून या अंतरराष्ट्रीय दृष्टांत में तथ्यहीन आधार वाला होगा. उन्होंने कहा कि अमेरिका में चीन के खिलाफ कोविड-19 के लिए मुआवजे की मांग करने वाला मुकदमा काल्पनिक सबूतों के साथ एक पीड़ित को धमकी देने की कोशिश करने जैसा है. कोरोना वायरस के बारे में समय पर जानकारी देने में विफल रहने और वायरस की उत्पत्ति के स्थान को लेकर लगातार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री माइक पोम्पियो चीन पर हमलावर हैं. ऐसे में वांग ने अपने वार्षिक संवाददाता सम्मेलन में चीन का पक्ष रखते हुए अमेरिका के खिलाफ जमकर निशाना साधा. उन्होंने अमेरिकी नेताओं पर चीन को बदनाम करने के लिए ' राजनीतिक वायरस' फैलाने का आरोप लगाया.

#चीन ने दुनिया में छोड़ा कोरोना वायरस
अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) रॉबर्ट ओ ब्रायन ने रविवार को कहा कि चीन ने विश्व भर में घातक कोरोना वायरस छोड़ा है और बीजिंग ने इसे छिपाने की कोशिश बड़े स्तर पर की है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने बार-बार संदेह व्यक्त किया है कि वुहान में पहली बार पाया गया कोरोना वायरस चीन की किसी प्रयोगशाला से निकला था. सीबीएस न्यूज के टॉकशो ‘फेस द नेशन’ में ओ ब्रायन ने कहा, ‘‘यह चीन द्वारा छोड़ा गया वायरस था. इसे छिपाया गया था और किसी दिन इसे एचबीओ पर उसी प्रकार दिखाया जाएगा जैसे चेर्नोबिल दिखाया गया था.” यह पूछे जाने पर कि वे चीन की सरकार पर आरोप लगा रहे हैं या स्थानीय अधिकारियों पर तो ओ ब्रायन ने कहा, “हमें नहीं पता क्योंकि उन्होंने सभी पत्रकारों को बाहर निकाल दिया और वे जांच कर्ताओं को भीतर नहीं आने देंगे.” उन्होंने कहा, “इससे फर्क नहीं पड़ता कि यह स्थानीय अधिकारियों का काम था या चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का. इसे छिपाया गया है और हम इसकी तह तक जाएंगे.”

#फ्रांस ने सीमा पर प्रतिबंधों में ढील की प्रक्रिया शुरू की
कोरोना वायरस संक्रमण में धीरे-धीरे कमी के मद्देनजर फ्रांस ने सीमा प्रतिबंधों में ढील की प्रक्रिया शुरू की है. इसके तहत यूरोप के अन्य देशों से आने वाले प्रवासी श्रमिकों और परिजनों से मिलने आने वाले लोगों को इजाजत दी जाएगी, लेकिन ब्रिटेन और स्पेन से आने वाले लोगों के लिए पृथक-वास जरूरी होगा. एक सरकारी बयान के अनुसार, फ्रांस मार्च में सीमा पर लगाई गई रोक को सोमवार से हटा रहा है. फ्रांस प्रवासी श्रमिकों और पारिवारिक कारणों से आने वाले लोगों को शामिल करने के लिए यूरोप के सीमा-मुक्त यात्रा क्षेत्र में अन्य देशों से अनुमति प्राप्त लोगों की श्रेणियों को भी व्यापक बना रहा है. हालांकि, ब्रिटेन और स्पेन से आने वालों को पृथक-वास में रहना होगा. यह 14 दिनों का स्वैच्छिक पृथक-वास होगा.

#कोरोना वायरस के कारण उजागर हुआ चीन का चरित्र: पोम्पिओ
कोविड-19 संकट पर अमेरिका और चीन के बीच चल रही जुबानी जंग के बीच विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी का अधिनायकवादी और दुनियाभर में आधिपत्य जमाने की आकांक्षा का चरित्र उजागर हो चुका है. पोम्पिओ ने स्काई न्यूज ऑस्ट्रेलिया से कहा, “इस कोरोना वायरस के कारण मुझे लगता है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का चरित्र उजागर हो चुका है. हममें से जो भी यह देख रहा है वह दुनिया में इसके खतरे के बारे में बात कर रहा है. हमें अधिनायकवादी सत्ता का चरित्र मालूम है. हम जानते हैं कि जब पत्रकारों को बोलने की स्वतंत्रता नहीं दी जाती तब क्या होता है.” उन्होंने कहा, “हमने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की दुनियाभर में आधिपत्य जमाने की आकांक्षा को भी देखा है. यह बेल्ट एन्ड रोड परियोजना के जरिये किया जा रहा हो या सरकार द्वारा प्रायोजित अन्य कामों के जरिये किया जा रहा हो.” पोम्पिओ ने कहा कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दिसंबर से लेकर इस साल फरवरी तक कोरोना वायरस के बारे में दुनिया से जानकारी छिपाने का काम किया है.

 

ये भी पढ़ें:

सीडीसी ने कहा, सतह पर मौजूद कोरोना वायरस आसानी से नहीं फैला सकता संक्रमण

कोरोना वायरस के मरीजों में बन रहे खून के थक्‍कों ने बढ़ाया मौत का खतरा

भगत सिंह 19 साल के इस क्रांतिकारी को मानते थे अपना गुरु, ताउम्र साथ रखी उनकी तस्‍वीर

आंखें कमजोर होने पर चश्‍मा लगाने की जरूरत खत्‍म, ऐसे बदले जा सकते हैं प्राकृतिक लेंस

जानें कौन-कौन से देश कोरोना वायरस की वैक्‍सीन बनाने के पहुंच गए हैं बहुत करीब
First published: May 25, 2020, 6:37 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading