लाइव टीवी

अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से 709 मौतें, संक्रमण के मामले बढ़कर हुए 53,200

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 4:38 PM IST
अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से 709 मौतें, संक्रमण के मामले बढ़कर हुए 53,200
अमेरिका में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं.

अमेरिका (America) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण के भयावह रूप लेने के बाद सभी 50 राज्यों में संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 4:38 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन: अमेरिका (America) में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. अमेरिका में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 53 हजार 200 हो गई है. संक्रमण की चपेट में आकर 709 लोगों की मौत हुई है. सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक संक्रमण के जो भी मामले सामने आए हैं, उसे यूएस की पब्लिक हेल्थ सिस्टम ने दर्ज किया है.

अमेरिका में संक्रमण के भयावह रूप लेने के बाद भी 12 राज्यों में संक्रमण की वजह से एक भी मौत नहीं हुई है. हालांकि वायरस संक्रमण के मामले सभी 50 राज्यों में दर्ज किए गए हैं. इसमें कोलंबिया जिला और अमेरिका के दूसरे क्षेत्र भी शामिल हैं.

संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखकर WHO ने जाहिर की चिंता
अमेरिका में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मामले को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चिंता जाहिर की है. विश्व स्वास्थ्य ने कहा है कि अमेरिका पूरी दुनिया के लिए कोरोना वायरस का नया केंद्र बन गया है. खासकर न्यूयॉर्क में संक्रमण ने तेजी से पांव पसारे हैं. मंगलवार को कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए न्यूयॉर्क ने अपने यहां हॉस्पिटपल बेडों की संख्या बढ़ाने जा रहा है.



न्यूयॉर्क की आबादी करीब 80 लाख है. पिछले दिनों यहां कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से 157 मौतें हुई हैं. यहां संक्रमण के करीब 15 हजार मामले दर्ज किए गए हैं. ये पूरे अमेरिका में हुए कोरोना वायरस के संक्रमण का एक तिहाई है. न्यूयॉर्क में ट्रैवल पर प्रतिबंध और सामाजिक तौर पर अलग थलग रहने के निर्देश के बाद भी संक्रमण के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं.

उधर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उस बयान की आलोचना भी हो रही है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था के लिए ज्यादा दिनों का लॉक डाउन ठीक नहीं है. मंगलवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि लॉक डाउन की वजह से अमेरिकी अर्थव्यवस्था और बिजनेस का काफी नुकसान हुआ है और इसे जल्दी खोले जाने की जरूरत है. उन्होंने कहा था कि अप्रैल के मध्य तक अमेरिकी इकोनॉमी को खोल दिया जाएगा.

रॉयटर के हवाले से न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्यू कुमो ने कहा है कि अगर आप किसी अमेरिकी से पूछेंगे कि पब्लिक हेल्थ और इकोनॉमी में आप किसे चुनेंगे तो कोई अमेरिकी ये नहीं कहेगा कि वो सेहत की कीमत पर अर्थव्यवस्था को गति देना चाहता है.

बढ़ते संक्रमण की वजह से कम पड़ गई न्यूयॉर्क में हॉस्पिटल बेड
बताया जा रहा है कि न्यूयॉर्क में कोरोना वायरस का कहर बढ़ने के बाद कम से कम 1 लाख 40 हजार हॉस्पिटल बेड की जरूरत पड़ेगी. पिछले दिनों एक लाख 10 हजार बेड की आवश्यकता बताई गई थी. मौजूदा वक्त में न्यूयॉर्क में हॉस्पिटल के सिर्फ 53 हजार बेड उपलब्ध हैं.

न्यूयॉर्क में हर तीसरे दिन संक्रमित मरीजों की संख्या दोगुनी हो जा रही है. ये कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने के बाद सबसे खराब दौर है. न्यूयॉर्क के गवर्नर की तरफ से कहा गया है कि 14 से 21 दिनों में हालात बेकाबू होने वाले हैं. हेल्थ सर्विस पर अत्यधिक दवाब होगा.

ये भी पढ़ें:

क्या आंखों का लाल होना भी हो सकता है करोना वायरस के संक्रमण का लक्षण
जहां से पूरी दुनिया में फैला कोरोना वायरस, वहां खत्म होने वाला है लॉक डाउन
अमेरिकी युवा मना रहे कोरोना वायरस पार्टी, प्रशासन ने कहा- ये पागलपन है
कोरोना वायरस के खौफ में खांसना भी हुआ जुर्म, एक शख्स पर दर्ज हुआ आतंकी खतरे का मामला
चीन ने हजारों लोगों की जान खतरे में डाला, कोरोना वायरस पर अब भी छिपा रहा जानकारी- अमेरिका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 4:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर