लाइव टीवी

कोरोना: नीदरलैंड ने चीन से खरीदे थे 6 लाख मास्क, सभी निकले ख़राब और घटिया क्वालिटी के

News18Hindi
Updated: March 29, 2020, 3:29 PM IST
कोरोना: नीदरलैंड ने चीन से खरीदे थे 6 लाख मास्क, सभी निकले ख़राब और घटिया क्वालिटी के
यूरोप और अमेरिका में लगातार घट रहे हैं कोरोना संक्रमण के नए केस.

नीदरलैंड (Netherlands) की सरकार ने जानकारी दी है कि चीन (China) से आयात किए गए सभी 6 लाख मास्क काम के नहीं हैं और इन्हें वापस किया जाएगा. हालांकि चीन की इस गलती के चलते नीदरलैंड के अस्पतालों में मास्क की कमी हो गयी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 29, 2020, 3:29 PM IST
  • Share this:
एम्सटर्डम. नीदरलैंड (Netherlands) भी कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की चपेट में है और यहां अभी तक करीब 10000 मामले सामने आ चुके हैं जबकि 639 लोगों की मौत भी हो चुकी है. उधर चीन (China) ने काफी हद तक कोरोना संक्रमण पर काबू पा लिया है और अब इससे निपटने के लिए दूसरे देशों को मास्क, दस्ताने, सैनिटाइजर और दवाएं बेचना शुरू भी कर दिया है. हालांकि चीन ने नीदरलैंड को कोरोना के नाम पर पिछले दिनों जो 6 लाख मास्क बेचे थे वे सभी बेकार निकले हैं.

नीदरलैंड की सरकार ने जानकारी दी है कि चीन से आयात किए गए सभी 6 लाख मास्क काम के नहीं हैं और इन्हें वापस किया जाएगा. हालांकि चीन की इस गलती के चलते नीदरलैंड के अस्पतालों में मास्क की कमी हो गयी है. समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक नीदरलैंड सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर चीन से 13 लाख मास्क मंगवाए थे. इनमें से 6 लाख मास्क पिछले दिनों नीदरलैंड पहुंच तो गए लेकिन इनकी क्वालिटी ख़राब होने के चलते अब इन्हें लौटाया जा रहा है.

काम के नहीं हैं चीन से आए मास्क
बता दें कि नीदरलैंड के ज्यादातर अस्पतालों ने ये कहकर मास्क वापस कर दिए हैं कि ये कोरोना संक्रमण रोक पाने में सक्षम नहीं हैं, साथ ही इनकी गुणवत्ता भी ठीक नहीं है. फिलहाल नीदरलैंड सरकार ने बाकी बचे मास्‍क पर भी रोक लगा दी है. अस्पतालों ने शिकायत की है चीन से खरीदा गया FFP2 मास्‍क पूरी तरह से चेहरे को नहीं ढंकता है, इसके फ़िल्टर की क्वालिटी भी ख़राब है. ऐसे में इस तरह के मास्क से फिलहाल की परस्थितियों में जोखिम नहीं उठाया जा सकता.



नीदरलैंड के हेल्‍थ मिनिस्‍ट्री ने एक बयान जारी कर कहा है कि इन मास्क के इस्तेमाल का कोई फायदा नहीं है, इन्हें पहनने पर भी संक्रमण का खतरा बना रहेगा. नीदरलैंड की सरकार ने चीनी सरकार से इस बारे में बात भी की है और बाकी मास्क वापस किए जाएंगे. हॉस्पिटल के एक कर्मचारी ने एएफपी से कहा, 'जब ये मास्‍क हमारे हॉस्पिटल में दिए गए तो हमने तत्‍काल उसको खारिज कर दिया था.'



चीन की कोरोना टेस्टिंग किट भी आई थी सवालों में
यूरोपीय देश स्पेन भी कोरोना संक्रमण से बुरी तरह प्रभावित है. बीते दिनों उसने भी चीन से कोरोना टेस्टिंग किट खरीदी थीं. हालांकि बाद में इनमें से ज्यादातर टेस्टिंग किट ख़राब पायीं गईं, ये कोरोना वायरस की जांच करने में सक्षम ही नहीं थीं. इसके बाद स्पेन ने भी चीन से आई टेस्टिंग किट के इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी. बता दें कि मेडिकल इक्विपमेंट्स निर्यात के मामले में चीन दुनिया में नंबर वन देश है.

 

ये भी देखें:

Coronavirus: ये टेस्ट बताएगा भारत में कोरोना के मरीजों की असल संख्या

कोरोना वायरस: क्या है चीन के पड़ोसी मुल्कों का हाल

Coronavirus: पास बैठे तो 6 महीने की कैद या भरना पड़ सकता है लाखों का जुर्माना

Coronavirus: किसी सोसायटी या इलाके में पॉजिटिव केस मिलने पर ऐसे डील कर रहा है प्रशासन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 29, 2020, 3:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading