कोरोना: जिस दिन दुनिया में सामने आए संक्रमण के 94000 मामले, चीन में मिला सिर्फ एक केस

कोरोना: जिस दिन दुनिया में सामने आए संक्रमण के 94000 मामले, चीन में मिला सिर्फ एक केस
चीन में शुक्रवार को कोरना संक्रमण का सिर्फ एक नया केस सामने आया है.

शुक्रवार को जहां दुनिया भर में संक्रमण (Covid-19) के 94000 से ज्यादा नए केस दर्ज किए गए वहीं चीन में इस दिन सिर्फ एक नया मामला सामने आया है. दुनिया भर में शुक्रवार को संक्रमण से 5600 से ज्यादा मौतें हुईं लेकिन चीन अब मौतों का सिलसिला रुक चुका है.

  • Share this:
बीजिंग. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की शुरुआत जिस चीन (China) से हुई है वो अब संक्रमण मुक्त होने की कगार पर पहुंच गया है. शुक्रवार को जहां दुनिया भर में संक्रमण (Covid-19) के 94000 से ज्यादा नए केस दर्ज किए गए वहीं चीन में इस दिन सिर्फ एक नया मामला सामने आया है. दुनिया भर में शुक्रवार को संक्रमण से 5600 से ज्यादा मौतें हुईं लेकिन चीन में अब मौतों का सिलसिला रुक चुका है. ज्यादातर बाज़ार और टूरिस्ट प्लेस भी सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों और कुछ प्रतिबंधों के साथ खोल दिए गए हैं.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (NHC) ने शनिवार को बताया कि देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या अब भी 4633 ही बनी हुई है और कोविड-19 से किसी के मरने का नया मामला सामने नहीं आया है. आयोग ने बताया कि शुक्रवार तक चीनी मुख्यभूमि में कुल 82,875 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी थी. इनमें से करीब 77,685 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि 600 का इलाज अभी भी जारी है. शुक्रवार को कोरोना वायरस का एक नया मामला सामने आया जो विदेश से ही यह संक्रमण लेकर आया था. घरेलू स्तर पर संक्रमण का कोई नया मामला सामने नहीं आया है.

विदेश से आ रहे संक्रमण के मामले चिंता का विषय
चीन में विदेश से कोरोना वायरस से संक्रमित होकर आए लोगों की कुल संख्या 1,671 है जिसमें से सात की स्थिति नाजुक बनी हुई है. स्थानीय स्वास्थ्य आयोग ने शनिवार को कहा कि हुबेई प्रांत और वायरस से सर्वाधिक प्रभावित उसकी राजधानी वुहान में चार अप्रैल के बाद से लगातार 28 दिन तक कोरोना वायरस का कोई नया मामला सामने नहीं आया है. हुबेई ने अपनी कोविड-19 आपदा प्रतिक्रिया का स्तर भी शनिवार को उच्चतम से घटा कर दूसरे सबसे बड़े स्तर पर कर दिया. हुबेई के वायस-गवर्नर यांग युनयान ने मीडिया से कहा कि आपदा स्तर को घटाना कोरोना वायरस के खिलाफ हुबेई के बचाव एवं नियंत्रण में हासिल बड़ी कामयाबी को दिखाता है. इस बीच, शुक्रवार को 20 ऐसे मामले भी सामने आए जिनमें लक्षण नहीं थे.
अमेरिका ने फिर की चीन की आलोचना


अमेरिका ने शुक्रवार को कहा कि वुहान शहर में कोरोना वायरस महामारी फैलने के बाद चीन ने 'स्थिति को ठीक से नहीं संभाला.' व्हाइट हाउस ने हालांकि इस एशियाई देश के खिलाफ जवाबी कार्रवाई पर कोई निर्णायक उत्तर नहीं दिया. अब तक अमेरिका, जर्मनी, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने दुनियाभर में कोरोना वायरस के प्रसार को लेकर चीन को जिम्मेदार ठहराया है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने वायरस से ठीक ढंग से नहीं निपटने का आरोप लगाते हुए चीन को दंडित करने के औजार के रूप में आयात शुल्क वृद्धि के संकेत दिए थे. व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायले मैकनी से उनके पहले संवाददाता सम्मेलन में पूछा गया, 'राष्ट्रपति द्वारा कल यह सुझाव दिए जाने के बाद आज बाजारों में गिरावट आई है और क्या कोरोना वायरस को लेकर चीन को दंडित करने के लिए आयात शुल्क वृद्धि का इस्तेमाल किया जा सकता है. क्या चीन पर नए शुल्क लगाने के लिए कोई गंभीर विचार किया जा रहा है ?'

मैकनी ने पत्रकारों से कहा, 'मैं राष्ट्रपति की किसी भी घोषणा को लेकर ज्यादा जानकारी नहीं दूंगी, लेकिन मैं चीन को लेकर राष्ट्रपति की नाराजगी का समर्थन करूंगी. यह कोई रहस्य नहीं है कि चीन ने इस स्थिति को ठीक से नहीं संभाला.' उन्होंने कहा, 'केवल कुछ बातें आपके सामने रखती हूं, उन्होंने उस समय तक इस वायरस की उत्पत्ति के बारे में जानकारी साझा नहीं की जब तक शंघाई में एक प्रोफेसर ने ऐसा नहीं किया. अगले दिन चीन ने अपनी प्रयोगशाला बंद कर दी. उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ-साथ मानव से मानव में संक्रमण के बारे में धीरे-धीरे सूचना दी और एक महत्वपूर्ण समय में अमेरिकी जांचकर्ताओं को जाने नहीं दिया गया.'

ये भी पढ़ें:

क्‍या ठीक हो चुके कोरोना पेशेंट इन डेड पार्टिकल्‍स के कारण पाए जा रहे पॉजिटिव

जानें क्‍या 70 दिन बाद भी शरीर के अंदर छुपकर बैठ सकता है कोरोना वायरस?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading