लाइव टीवी

Coronavirus: दुनिया में कोरोना के 50 लाख से ज्यादा केस, ब्राजील-रूस और भारत बन रहे नए हॉटस्पॉट

News18Hindi
Updated: May 21, 2020, 9:00 AM IST
Coronavirus: दुनिया में कोरोना के 50 लाख से ज्यादा केस, ब्राजील-रूस और भारत बन रहे नए हॉटस्पॉट
दुनिया भर में 55 लाख से ज्यादा हुए संक्रमण के केस

Worldometer के मुताबिक, कोरोना वायरस (Coronavirus) की घातकता और रिकवरी रेट के आंकड़ों से पता चलता है कि वैश्विक स्तर पर कोरोना का सबसे घातक चरण बीत चुका है. बुधवार को मृत्यु दर 14.23% और रिकवरी दर 85.77% थी. ऐसा 24 मार्च से पहले देखा गया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. चीन से मिले जानलेवा कोरोना वायरस (Coronavirus) से पूरी दुनिया लड़ रही है. ये वायरस अब तक विश्व के 140 से ज्यादा देशों में फैल चुका है. दुनियाभर के देशों का रियल टाइम डेटा देने वाली वेबसाइट Worldometer के मुताबिक, बुधवार को दुनिया में कोरोना के 50 लाख से ज्यादा मरीज हो गए हैं. 5 महीने से भी कम समय में संक्रमितों का आंकड़ा 50 लाख पार कर गया है.

वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, दुनिया में अब तक 50 लाख 39 हजार 429 लोग संक्रमित हैं. 19 लाख 94 हजार 012 ठीक हुए हैं. मौतों का आंकड़ा 3 लाख 26 हजार 501 हो गया है. संक्रमणों की कुल संख्या अब न्यूजीलैंड की जनसंख्या के बराबर है. वहीं, कोरोना के मामले में ब्राजील, रूस और भारत नए हॉटस्पॉट बनते दिख रहे हैं.

AFP न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक, कोरोना से दुनियाभर में मरने वालों में तीन-चौथाई लोग यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका के हैं. सिर्फ यूरोप में 169,671 लोगों की मौतें हुई हैं. वहीं, अमेरिका में 92,387 लोग मारे गए हैं. अमेरिका में अब तक दुनियाभर में सबसे ज्यादा मौत हुई है. वहीं, रूस में बुधवार को संक्रमितों का आंकड़ा तीन लाख से ज्यादा हो गया. सबसे ज्यादा संक्रमितों वाले देशों की सूची में रूस अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर बना हुआ है. बुधवार को यहां 8 हजार 764 मामले दर्ज किए गए. ये एक मई के बाद संक्रमितों का सबसे कम आंकड़ा है.



हालांकि, इस बीच अप्रैल में कोरोना की ज्यादा मार झेल चुके इटली, फ्रांस और स्पेन अब लॉकडाउन को धीरे-धीरे खोलने का प्लान बना रहे हैं, लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन के अधिकारियों ने इस देशों में कोरोना के सेकंड वेब की चेतावनी भी दी है. अधिकारियों ने सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने को कहा है.




इसके साथ ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गरीब देशों में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने को लेकर चिंता जाहिर की है. WHO के डायरेक्टर जनरल टैड्रोस ऐडरेनॉम ग़ैबरेयेसस कहते हैं, 'इस कोरोना महामारी के खिलाफ अभी हमें लंबी लड़ाई लड़नी है. गरीब देशों में भी ये वायरस तेजी से फैलने लगा है. इससे चिंता बढ़ गई है.' बता दें कि इथियोपिया के डॉक्टर टैड्रोस ऐडरेनॉम ग़ैबरेयेसस इस समय WHO के डायरेक्टर जनरल हैं.

Worldometer के मुताबिक, इस वायरस की घातकता और रिकवरी रेट के आंकड़ों से पता चलता है कि वैश्विक स्तर पर कोरोना का सबसे घातक चरण बीत चुका है. बुधवार को मृत्यु दर 14.23% और रिकवरी दर 85.77% थी. ऐसा 24 मार्च से पहले देखा गया था.


उधर, संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने विकसित देशों को कोरोना को लेकर अफ्रीकी देशों से सबक लेने की सलाह दी है. उन्होंने कहा, 'अफ्रीकी देशों ने महामारी पर अपने यहां कैसे लगाम लगाई है.' फ्रांस के रेडियो से उन्होंने कहा कि शुरुआत में जैसा अनुमान लगाया गया था, उसकी तुलना में अफ्रीकी देशों में संक्रमण काफी धीमी गति से फैला. इसकी एक बड़ी वजह सही समय पर रोकथाम के लिए कदम उठाया जाना है. यह विकसित देशों के लिए सबक है.

ये भी पढ़ें:-  कोरोना संकट के बीच खुलने लगी है दुनिया, इटली और ग्रीस में शुरू होंगी हवाई उड़ानें

चीन के साथ सीमा विवाद में अमेरिका ने किया भारत का समर्थन, कही ये बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2020, 7:42 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading