कोराना वायरस: चीन के बाद ईरान का सबसे बुरा हाल, मेडिकल चीफ और सांसद तक हुए संक्रमित

कोराना वायरस: चीन के बाद ईरान का सबसे बुरा हाल, मेडिकल चीफ और सांसद तक हुए संक्रमित
चीन के बाद कोरोना वायरस से संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले ईरान में सामने आए हैं.

सीएनन की एक रिपोर्ट के मुताबिक ईरान (Iran) में संसद के 8 फीसदी सदस्य कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाए गए हैं.

  • Share this:
चीन (China) के बाद कोरोना वायरस (Coronavirus) ने सबसे ज्यादा कहर ईरान (Iran) पर बरपाया है. चीन के बाद कोरोना वायरस की वजह से सबसे ज्यादा मौतें ईरान में हुई हैं. वायरस के संक्रमण का हाल ईरान में इतना बुरा है कि कई सरकारी अधिकारियों को बीमारी ने अपनी चपेट में ले लिया है. यहां तक कि ईरान की इमरजेंसी मेडिकल सर्विस के चीफ भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि ईरान में कोरोना वायरस का संक्रमण कितनी तेजी से फैला है.

सीएनन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ईरानी संसद के 8 फीसदी सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. ईरान के एक टीवी चैनल के मुताबिक, ईरान के करीब 23 सांसद कोरोना वायरस से पीड़ित पाए गए हैं. इस बारे में ईरान के संसद के एक सदस्य अब्दुल रजा मिस्री ने जानकारी दी है. इतनी बड़ी संख्या में संसद के सदस्यों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने का मामला संवेदनशील बन गया है. इसकी जानकारी नहीं मिल पा रही है कि इतने सांसद वायरस की चपेट में कैसे आए.

ईरान में कोरोना वायरस को लेकर हाई अलर्ट
ईरान की संसद के सदस्य और डिप्टी स्पीकर अब्दुल रजा मिस्री ने बताया है कि 290 में से 23 संसद के सदस्य कोरोना वायरस के संक्रमण में पॉजिटिव पाए गए हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए और खासकर संसद के सदस्यों को इससे बचाने के लिए जनता के साथ सारी बैठकें रद्द कर दी गई हैं. कोरोना वायरस की वजह से ईरान की स्थिति खराब हो चली है.



ईरान के सर्वोच्च नेता आयतुल्ला अल खामनेई ने मंगलवार को कहा है कि ईरान इस बीमारी से बचने के हर संभव उपाय कर रहा है. ईरानी नागरिकों को प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देश का पालन करने को कहा गया है. ईरान के डिप्टी हेल्थ मिनिस्टर ने कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर चिंता जताई है. ईरान में संक्रमण के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं. वायरस से संक्रमित करीब 77 लोगों की मौत की खबर मिली है. वायरस के संक्रमण की वजह से सोमवार को एक बड़े सरकारी अधिकारी की मौत की खबर भी सामने आई है.



चीन के बाद ईरान में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले
अयातुल्ला अल खामनेई ने कहा है कि सरकार की संस्थाएं और आर्म्ड फोर्सेज को स्वास्थ्य मंत्रालय को पूरा सपोर्ट देना चाहिए. उन्होंने कहा कि ईरान का प्रशासन वायरस को लेकर पारदर्शी रुख अपनाए और इसके संक्रमण के फैलने की पूरी जानकारी मुहैया करवाए.

उन्होंने कहा कि वायरस के संक्रमण से बचने के लिए प्रशासन द्वारा बताए गए दिशा निर्देशों का जनता पालन करे और इसमें किसी तरह का उल्लंघन नहीं हो. हाथ और मुंह हमेशा साफ करते रहें. अपने आसपास के माहौल को साफ सुथरा रखें और संक्रमण से बचें.

खामनेई ने ये भी कहा है कि वायरस के संक्रमण को लेकर ज्यादा बढ़ा-चढ़ाकर नहीं पेश किया गया है. ईरान के डिप्टी हेल्थ मिनिस्टर अलीरेजा रायसी ने कहा है कि ईरान में कोरोना वायरस के संक्रमण के 2,336 मामले सामने आए हैं.

ये भी पढ़ें:

ट्रंप के कैसे-कैसे भक्त... कोरोना वायरस को बता रहे डेमोक्रेट्स की फैलाई अफवाह
क्या विटामिन C कोरोना वायरस से लड़ने में कारगर साबित हो सकता है, चीन में चल रहा प्रयोग
घोटाले और फर्जीवाड़े के आरोपों के बाद भी कैसे जीत रहे हैं बेंजामिन नेतन्याहू
इस दवा कंपनी ने किया कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ लेने का दावा
कोरोना वायरस: संक्रमण के डर से हैंडशेक से लेकर ‘किस’ तक को किया इन देशों ने बैन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading