खुलासा! ईरान की इस एयरलाइन ने मिडिल ईस्ट के देशों में फैला दिया कोरोना वायरस

खुलासा! ईरान की इस एयरलाइन ने मिडिल ईस्ट के देशों में फैला दिया कोरोना वायरस
ईरान की एक गलती से पूरे मिडिल ईस्ट में फ़ैल गया कोरोना संक्रमण

ईरान (Iran) की एक एयरलाइन पर आरोप लगा है कि देश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के हजारों मामले सामने आने के बावजूद इसने सतर्कता नहीं बरती और मिडिल ईस्ट के ज्यादातर देशों में इसी के जरिए संक्रमण पहुंच गया.

  • Share this:
तेहरान. मिडिल ईस्ट (Middle East) देशों में ईरान (Iran) सबसे पहले कोरोना संक्रमण (Coronavirus) का बुरी तरह शिकार हुआ. यहां अब तक एक लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमण (Covid-19) के मामले सामने आ चुके हैं जबकि 6300 से ज्यादा लोगों की इससे मौत हो चुकी है. ईरान की एक एयरलाइन पर आरोप लगा है कि देश में कोरोना संक्रमण के हजारों मामले सामने आने के बावजूद इसने सतर्कता नहीं बरती और मिडिल ईस्ट के ज्यादातर देशों में इसी के जरिए संक्रमण पहुंच गया.

बीबीसी अरबी ने एक रिपोर्ट में खुलासा किया है कि पूरे मध्य पूर्व में कोरोना वायरस को फैलाने में कैसे एक ईरानी एयरलाइन ने बड़ी भूमिका निभाई है. ईरान की महान एयरलाइंस पर ये आरोप लगा है कि सरकार की ओर से प्रतिबंध लगाने के बावजूद देश की इस सबसे बड़ी एयरलाइन ने अपनी उड़ानों को जारी रखा. इस एयरलाइन की फ्लाइट्स से यात्रा कर ईराक और लेबनान पहुंचे लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. बीबीसी ने फ्लाइट ट्रैकिंग डेटा और ओपेन सोर्स वीडियोज़ का विश्लेषण कर खुलासा किया है कि केबिन क्रू के दर्जनों सदस्यों में भी कोविड-19 के लक्षण दिख रहे थे. लेकिन स्टाफ़ के जिन सदस्यों ने भी सुरक्षा प्रावधानों को लेकर मैनेजमेंट से बात करने की कोशिश की उन्हें डरा-धमकाकर चुप करा दिया गया.





प्रतिबंध के बाद भी चालू रखीं सैंकड़ों उड़ानें
रिपोर्ट के मुताबिक प्रतिबंध लागू होने के बाद भी महान एयरलाइन ने इराक, संयुक्त अरब अमीरात, सीरिया में उड़ानों को जारी रखा था. सबसे डराने वाली बात ये है कि एयरलाइन ने कोरोना संक्रमण के संदर्भ में जारी एडवाइजरी का पालन नहीं किया और कई देशों तक संक्रमण पंहुचा दिया. मार्च के आखिर तक महान एयरलाइन मिडिल ईस्ट के देशों में हवाई सेवा देती रही जबकि जयादातर देशों में हवाई सेवा पर प्रतिबंध लागू थे. बता दें कि ईरान की महान एयरलाइन को अमेरिका ने इरानियन रिवोल्यूशनरी गार्ड के साथ संबंध होने के चलते पहले ही बैन किया हुआ है.

20 अप्रैल तक चीन के लिए चली हवाई सेवा
बीबीसी को मिले दस्तावेजों के मुताबिक चीन और ईरान में हवाई सेवा पर बैन लगने के बावजूद 20 अप्रैल तक महान एयरलाइन के जहाज चीन जाते रहे और हवाई सेवा भी देते रहे. ईरान में ही महान एयरलाइन कको लेकर सवाल उठे तो मैनेजमेंट ने बताया कि वे सहायता सामग्री लेने के लिए चीन जा रहे हैं. हालांकि अब पता चला है कि ईरान से चीन 157 फ्लाइट्स गयीं थीं जिनमें से सिर्फ 6 ही रहत सामग्री लाने से संबंधित थीं. लेबनान में पहला संक्रमण का केस 21 फरवरी को सामने आया था. संक्रमित एक महिला थी जो ईरान से लौटी थी. इराक में पहला केस 24 फरवरी को सामने आया, यहां भी शख्स ईरान से लौटा था. ये दोनों ही महान एयरलाइन से वापस आए थे.

 

ये भी पढ़ें

दिखे कोरोना वायरस के 30 नए प्रकार, सबसे घातक रूप 270 गुना तेजी से है बढ़ता
मिस्त्र में खुदाई में मिले 20 सीलबंद ताबूतों का क्या है रहस्य
Coronavirus: दिखे नए लक्षण, स्किन पर इन 5 तरह के रैशेज को न करें नजरअंदाज
क्यों कोरोना के मरीजों की हंसते-बोलते हुए अचानक हो रही है मौत, सामने आई वजह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading