Coronavirus Update: WHO ने कहा- 1 हफ्ते में मिले 20 लाख नए केस, फ्रांस में फिर लॉकडाउन

यूरोप में फिर फैला कोरोना, फ्रांस में लॉकडाउन
यूरोप में फिर फैला कोरोना, फ्रांस में लॉकडाउन

Coronavirus Update: WHO ने कहा है कि दुनियाभर में पिछले हफ्ते 20 लाख केस दर्ज किए गए हैं जो कि महामारी (Coronavirus) फैलने के बाद से इतने कम समय में पहली बार इतने ज्यादा केस सामने आए हैं. उधर फ्रांस ने बढ़ते मामलों के मद्देनज़र लॉकडाउन की घोषणा कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 2:48 PM IST
  • Share this:
पेरिस/ लंदन. फ़्रांस (France) के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने देश में दूसरे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की है जो कम से कम पूरे नवंबर महीने में लागू रहेगा. उधर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि दुनियाभर में पिछले हफ्ते 20 लाख केस दर्ज किए गए हैं. महामारी (Coronavirus) फैलने के बाद से इतने कम समय में पहली बार इतने ज्यादा केस सामने आए हैं. WHO ने कहा कि लगातार दूसरे हफ्ते में यूरोप में सबसे ज्यादा 13 लाख केस सामने आए हैं.

मैक्रों ने राष्ट्र के नाम संबोधन में शुक्रवार से शुरू हो रहे लॉकडाउन के नए प्रतिबंधों के बारे में जानकारी दी. इसमें लोगों को सिर्फ़ बेहद ज़रूरी कामों या स्वास्थ्य कारणों से ही घर छोड़ने की इजाज़त होगी. रेस्टॉरेंट्स और बार जैसे ग़ैर-ज़रूरी व्यवसाय बंद रहेंगे जबकि स्कूल और फ़ैक्ट्रियां खुली रहेंगी. कोविड-19 के कारण होने वाली मौतों का फ़्रांस में आंकड़ा अप्रैल के बाद से सबसे उच्च स्तर पर है. मंगलवार को 33,000 नए मामलों की पुष्टि हुई है. मैक्रों ने कहा कि देश में 'दूसरी लहर का ख़तरा पहुंच चुका है जिसमें कोई शक नहीं है कि यह पहले वाले से ज़्यादा गहरा होगा.' इससे पहले जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने कहा था कि उनके देश को 'अभी कार्रवाई' करने की ज़रूरत है और कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए 'बड़े राष्ट्रव्यापी प्रयासों' की ज़रूरत है.

यूरोप में फिर लौटा कोरोना
अमेरिका में पिछले हफ्ते हर दिन औसतन 70 हजार नए केस मिले हैं. फ्रांस के बाद जर्मनी में सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं. यहां सरकार ने आंशिक लॉकडाउन लगा दिया है लेकिन, मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि जल्द ही सख्त लॉकडाउन लगाया जा सकता है. वॉशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, मंगलवार के पहले एक हफ्ते तक अमेरिका में हर दिन औसतन 70 हजार नए संक्रमित मिले. अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है. इसके साथ ही मरने वालों का आंकड़ा भी पिछले हफ्ते 5600 बढ़ गया.
फ़्रांस में 4.6 करोड़ लोगों के साथ कई देशों के नागरिक रात्रि कर्फ़्यू का सामना कर रहे हैं. एक मंत्री ने शिकायत की है कि वे सामाजिक संपर्क को स्थगित करने में नाकाम रहे हैं. राष्ट्र को संबोधित करते हुए मैक्रों ने कहा कि फ़्रांस को 'महामारी के प्रसार में समा जाने से' बचने के लिए तुरंत 'ब्रेक लगाने जैसी निर्दयता' करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि फ़्रांस के अस्पतालों में सभी आईसीयू बेड कोविड मरीज़ों से भरे हैं. राष्ट्रपति ने कहा कि लोगों को अपने घर छोड़ने के लिए एक फ़ॉर्म भरना होगा जैसे मार्च में हुए शुरुआती लॉकडाउन के दौरान करना होता था. सामाजिक मिलने-जुलने पर प्रतिबंधित रहेगा.



एक्सरसाइज के लिए मिलेगा एक घंटा
मैक्रों ने कहा, "वसंतु ऋतु की तरह ही, आप सिर्फ़ काम पर जाने के लिए, मेडिकल अपाइंटमेंट के लिए, रिश्तेदारों की मदद के लिए, ज़रूरी चीज़ों की ख़रीदारी के लिए या फिर अपने घर के पास ताज़ी हवा लेने के लिए ही घर छोड़ पाएंगे." नागरिकों को व्यायाम के लिए एक घंटा दिया जाएगा और काम के लिए यात्रा करने की अनुमति तभी होगी जब एम्प्लॉयर का मानना होगा कि घर से काम करना असंभव है. मैक्रों ने यह भी कहा कि केयर होम्स जाने की इजाज़त होगी जिसकी मार्च में शुरू हुए दो महीने के लॉकडाउन के दौरान नहीं थी. यह प्रतिबंध 1 दिसंबर तक लागू रहेंगे और हर दो सप्ताह के बाद इनका मूल्यांकन किया जाएगा. राष्ट्रपति ने कहा कि उनकी 'उम्मीद बरक़रार है कि क्रिसमस पर सभी परिवार फिर से मिल पाने में समर्थ होंगे.'



ICU में भर्ती होने वालों की संख्या बढ़ी
WHO के मुताबिक सबसे ज्यादा मौतें भी यूरोप में देखी गईं हैं. संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़ रही है लेकिन पहले के मुकाबले जितने केस सामने आ रहे हैं, उनकी तुलना में मृतकों की संख्या कम है. एजेंसी ने यह भी कहा कि कोविड-19 की वजह से अस्पताल और ICU में भर्ती होने वालों की संख्या 21 देशों में बढ़ गई. पांच लाख नए कोरोना वायरस केस मंगलवार को दर्ज किए गए. अमेरिका में सात दिन में 5 लाख से ज्यादा केस हुए जो पिछले हफ्ते 3 लाख 70 हजार थे. मंगलवार को दर्ज किए गए 5 लाख मामलों में से आधे से ज्यादा अमेरिका, भारत, ब्राजील, रूस, फ्रांस, स्पेन, अर्जंटीना, कोलंबिया, ब्रिटेन और मेक्सिको में थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज