नाइजीरिया ने की corona वैक्सीन की खोज, 18 महीने बाद होगी उपलब्ध

नाइजीरिया ने की corona वैक्सीन की खोज, 18 महीने बाद होगी उपलब्ध
नाइजीरिया ने की corona वैक्सीन की खोज (फाइल फोटो)

नाइजीरिया के वैज्ञानिकों ने कहा कि मार्केट में इस वैक्सीन (Vaccine) के उपलब्ध होने में अब भी 18 महीनों का समय लगेगा क्योंकि मरीजों पर प्रयोग से पहले इस वैक्सीन को कई स्तर के ट्रायल से गुजरना पड़ेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 22, 2020, 11:07 PM IST
  • Share this:
अबूजा. कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर पूरी दुनिया में लगातार जारी है. इस महामारी से निजात पाने के लिये दुनियाभर के वैज्ञानिक और डॉक्टर दवाई बनाने में जुटे हैं. कई देशों के वैज्ञानिकों ने दावा भी किया है कि उन्होंने कोरोना वायरस की वैक्सीन (Vaccine) बना ली है. लेकिन, विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, अभी तक कोई भी ऐसी वैक्सीन नहीं बनी है जिसे कोरोना वायरस वैक्सीन का नाम दिया जा सके. इसी बीच नाइजीरिया के वैज्ञानिकों ने भी दावा किया है कि उन्होंने कोरोना वायरस की वैक्सीन की खोज कर ली है. कोरोना वायरस को लेकर गठित नाइजीरियन यूनिवर्सिटीज के वैज्ञानिकों के दल ने यह जानकारी दी.

कई स्तर के ट्रायल से गुजरना होगा
द गार्जियन नाइजीरिया के अनुसार, मेडिकल वायरोलॉजी, इम्यूनोलॉजी एंड बायोइनफॉरमैटिक्स के विशेषज्ञ और रिसर्च टीम के प्रमुख डॉ ओलाडिपो कोलावोल ने कहा कि इस वैक्सीन को अफ्रीकी लोगों के लिए अफ्रीका में स्थानीय स्तर पर विकसित किया जा रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि मार्केट में इस वैक्सीन के उपलब्ध होने में अब भी 18 महीनों का समय लगेगा क्योंकि मरीजों पर प्रयोग से पहले इस वैक्सीन को कई स्तर के ट्रायल से गुजरना पड़ेगा.

लोगों पर असर का दावा
प्रीसियस कॉर्नरस्टोन विश्वविद्यालय के कुलपति और रिसर्च ग्रुप के कॉर्डिनेटिंग कमेटी के चीफ प्रो जूलियस ओलोके ने कहा कि यह वैक्सीन असली है. हमने कई बार इसकी जांच भी की है. यह वैक्सीन अफ्रीकी लोगों को कोरोना महामारी से बचाएगी, लेकिन हमें आशा है कि यह अन्य महाद्वीपों के लोगों पर भी काम करेगी.



ये भी पढ़ें: थाईलैंड में बंदरों पर किया गया corona वैक्सीन की दूसरी खुराक का परीक्षण
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज